Hammer Candlestick Pattern in Hindi

बाकी चार्टिंग पैटर्न्स

प्राइस एक्शन, जो आपको प्राइस के आधार पर ट्रेड पोजीशन लेने में मदद करती है। इस स्ट्रेटेजी में ट्रेडर अलग-अलग कैंडलस्टिक पैटर्न के आधार पर मार्केट में आने वाले रेवेर्सल और पुलबेक की जानकारी प्राप्त करती है। इनमे से कुछ पैटर्न आम चीज़ो से मिलते जुलते आकर बनती है जैसे की हैमर कैंडलस्टिक। आज इसक लेख में हम इस hammer candlestick pattern in hindi को विस्तार में समझेंगे।

हैमर कैंडल क्या है?

शेयर मार्केट के विश्लेषण (share market analysis in hindi) में सबसे लोकप्रिय पैटर्न में से एक हैमर कैंडलस्टिक पैटर्न है। हैमर कैंडलस्टिक मार्केट में एक स्ट्रांग डाउनट्रेंड के बाद देखने को मिलता है और मार्केट में बुलिश रिवेर्स्ल का संकेत देता है।

अन्य टेक्निकल एनालिसिस टूल और शेयर मार्केट इंडिकेटर (share market indicator in hindi) के साथ ये ट्रेडर को शार्ट या लॉन्ग टर्म पोजीशन लेने में मदद करती है

हैमर पैटर्न की एक लाल या हरे रंग की एक छोटी बॉडी और नीचे की तरफ लम्बी विक्स होती है जिसकी वजह से ये एक हथौड़े के आकर की दिखती है जिसकी वजह से इसे हैमर कैंडलस्टिक कहा जाता है। 


हैमर चार्ट पैटर्न कैसे दिखता है?

यह सिंगल कैंडलस्टिक पैटर्न (Single Candlestick Pattern in Hindi) का एक प्रकार है और एक हैमर कैंडलस्टिक तब बनती है जब एक कैंडलस्टिक एक लंबी निचली विक्स के साथ एक छोटी बॉडी बनाती है। विक्स का आकार कैंडल की बॉडी से कम से कम दोगुना होती है जो इस पैटर्न को कन्फर्म करती है।

बुलिश हैमर कैंडल में नीचे की तरफ लम्बी विक्स ये इंगित करती है कि खरीदारों द्वारा स्टॉक प्राइस को ओपनिंग प्राइस ऊपर की ओर ले जाने से पहले सेलर ने प्राइस को काफी नीचे तक पंहुचा दिया। इसे ओपनिंग प्राइस से ऊपर धकेलने से पहले सेलर ने कीमत को नीचे धकेल दिया।

आसान भाषा में एक लम्बी विक्स इस बात का उल्लेख करती है कि उस शेयर में सेलर की वॉल्यूम ज़्यादा है, जिसकी वजह से शेयर प्राइस काफी नीचे तक गिर गया, लेकिन दूसरी तरफ बायर की बढ़ती गतिविधियों के कारण प्राइस ऊपर की ओर बंद हुआ

इस तरह से ये कैंडलस्टिक पैटर्न (candlestick patterns in hindi) मार्केट में आने वाले रेवेर्सल की जानकारी देता है। बुलिश ट्रेंड को कन्फर्म करने के लिए इस पैटर्न के साथ के साथ स्टॉक के मोमेंटम की जानकारी लेना आवश्यक होता है जिसके लिए आप अलग-अलग इंडिकेटर जैसे की RSI इंडिकेटर (RSI indicator in hindi) का उपयोग कर सकते है।


हैमर कैंडलस्टिक कैसे काम करता है?

हैमर कैंडलस्टिक (hammer candlestick pattern in hindi) के बनने के बाद अगली कैंडल के बनने का इंतज़ार करना चाहिए। अगर अगली कैंडल हैमर कैंडल से ऊपर क्लोज होती है तो ये रेवेर्सल को कन्फर्म करता है

ऐसे में नए ट्रेडर मार्केट में लॉन्ग पोजीशन ले सकते है और वही शार्ट ट्रेडर मार्केट से एग्जिट करते है। इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए इस कैंडल को 5-मिनट और 15-मिनट के चार्ट में देखना चाहिए वही ट्रेंड की जानकारी के लिए hourly चार्ट का उपयोग किया जा सकता है।

इस पैटर्न के अनुसार हैमर कैंडल के लॉ पर स्टॉप लॉस लगाया जाता है


हैमर कैंडलस्टिक पैटर्न का महत्व

हैमर कैंडलस्टिक पैटर्न एक बुलिश रेवेर्सल पैटर्न है जो मार्केट में आने वाले अपट्रेंड की जानकारी प्रदान करता है, इसके साथ इस कैंडलस्टिक के कुछ महत्व निम्नलिखित है:

  1. इंट्राडे ट्रेडिंग में ट्रेंड की पहचान के लिए एक लाभदायक और उपयोगी पैटर्न है
  2. विक्स की लम्बाई अगर कैंडल से दो या तीन गुना ज़्यादा हो तो वह मार्केट के संकेत को और मजबूत बना देती है
  3. अगर ये पैटर्न अन्य पैटर्न जैसे की डोजी या ट्वीज़र पैटर्न के बाद बने तो ये रेवेर्सल को और बेहतर तरह से कन्फर्म कर देता है
  4. अगर हैमर की अगली कैंडल नया हाई या लॉ बनाये तो ये कैंडल का संकेत गलत हो जाता है

Hanging Man Candlestick Pattern in Hindi 

बुलिश हैमर के विपरीत ये कैंडल मार्केट में एक स्ट्रांग अपट्रेंड के बाद देखने को मिलती है। आकार में ये भी हथौड़े की तरह ही दिखती है लेकिन इसकी बॉडी का रंग हरा या लाल होता है। इस पैटर्न को आम भाषा में हैंगिंग मेन भी कहा जाता है। 

hanging man pattern hindi

शेयर के ऊपर जाती हुई दिशा में ये सेलर के बढ़ते हुए सेल्लिंग प्रेशर को दर्शाती है जिससे ये अनुमान लगया जा सकता है की शेयर में पुलबैक आने की सम्भावना है। 

ऐसी स्थिति में ट्रेडर शार्ट पोजीशन ले सकते है। 


निष्कर्ष 

Hammer candlestick pattern in hindi  और Hanging man pattern मार्केट में आने वाले रेवेर्सल की जानकारी देते है।  रंग और रूप में सामान दिखनी वाली ये दो कैंडल अलग-अलग पोजीशन पर बनने की वजह से अपट्रेंड या डाउनट्रेंड की जानकारी दे ट्रेडर को लॉन्ग या शार्ट पोजीशन लेने में मदद करती है। 

यहाँ पर ज़रूरी है कि इस कैंडलस्टिक पैटर्न के साथ अन्य टेक्निकल विश्लेषण जैसे की मोमेंटम, वॉल्यूम आदि की जानकारी प्राप्त करके ही मार्केट में ट्रेड पोजीशन ली जाए। 


अगर आपने अभी तक स्टॉक मार्केट में निवेश नहीं किया है तो अभी शुरुआत करे और नीचे दिए गए फार्म में अपना विवरण भरे।

हम आपको एक सही स्टॉकब्रोकर चुनने में और डीमैट खाता निःशुल्क खोलने में मदद करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × two =