Shooting Star Candlestick Pattern in Hindi

बाकी चार्टिंग पैटर्न्स

आपने कभी न कभी आसमान से तारा गिरते हुए ज़रूर देखा होगा जिसमे गिरते हुए तारे की एक लम्बी पूँछ होती है।  इसी तरह से शेयर मार्केट में अगर एक गिरती हुयी कैंडलस्टिक की लम्बी पूँछ बन जाए तो वह आने वाली बेयरिश मार्केट का संकेत देती है और इस कैंडल को शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न (shooting star candlestick pattern in hindi) के नाम से जाना जाता है। 

ये सिंगल कैंडलस्टिक पैटर्न है और ये पैटर्न तब बनता है जब मार्केट डाउनट्रेंड के बाद कुछ समय के लिए बुलिश (तेजी) में जाती है। जहाँ से मार्केट अपने डाउनट्रेंड को कंटिन्यू करती है।

शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न स्केल्पिंग, इंट्राडे ट्रेडिंग, स्विंग ट्रेडिंग और पोजिसनल ट्रेडिंग में भी इस्तेमाल होता है।

What is Shooting Star Candlestick Pattern in Hindi?

शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न देखने में बिलकुल हैमर जैसा लगता है, इसे टूटते हुए तारे से परिभाषित किया जाता है। जब भी मार्केट में अपट्रेंड समाप्त होने वाला होता है तब ज्यादातर यही पैटर्न बनता है। इसकी पहचान बहुत ही आसान है, आइये हम निचे दिए चित्र की मदद समझते है।

 

इस कैंडलस्टिक पैटर्न (candlestick pattern in hindi) में शार्ट बॉडी होती है जो एक दर्शाती है कि मार्केट जहाँ ओपन हुई उसके आस पास ही क्लोज हो गयी और इसके साथ इसमें ऊपर की ओर एक लॉन्ग टेल होती है जो ये संकेत देती है कि बायर मार्केट प्राइस को काफी ऊपर लेकर गए लेकिन बढ़ते सेल्लिंग प्रेशर से वह प्राइस नीचे गिरता है और ओपनिंग प्राइस के पास क्लोज हो जाता है

इसमें हरे या लाल रंग से कोई ख़ास फर्क नहीं पड़ता। पर अगर कैंडल लाल रंग की हो तो ज्यादा पर्भावशाली मानी जाती है। पर सामान्यता ये दोनों की स्थितियों में एक जैसा ही काम करती है।

शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न मार्केट के गिरने की और संकेत करता है। मार्केट अपने बुलिश ट्रेंड यानी की तेजी में लगातार बढ़ रही होती है और एक पॉइंट पर आकर ट्रेडर्स को लगने लगता है की अब मार्केट बहुत बढ़ चुकी है तो वो अपना मुनाफा निकालने की कोशिश करते है।

इसलिए मार्केट अपने दिन के हाई से नीचे आने लगती है और अपनी ओपनिंग के आस-पास आकर बंद होती है, इस प्रोसेस में जो कैंडल बनती है उसे शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक कहा जाता है।


शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न को कैसे पहचाने?

शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न को पहचानने के लिए हम कुछ बातों का ध्यान रखंगे:

  1. शूटिंग स्टार एक सिंगल कैंडलस्टिक पैटर्न (Single Candlestick Pattern in Hindi) है।
  2. शूटिंग स्टार हरे या लाल किसी भी रंग में मिल सकता है।
  3. किसी भी परिस्थिति में शूटिंग स्टार से मार्केट हमेशां मंदी की तरफ ही जाएगी।
  4. शूटिंग स्टार की टेल उसकी बॉडी से लगभग डबल या उससे भी ज्यादा हो सकती है।
  5. शूटिंग स्टार की बॉडी नीचे की तरफ बनेगी और छोटी होगी।

शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न बुलिश होती है या बेयरिश 

शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न बियरिश कैंडलस्टिक पैटर्न है जो अपट्रेंड के टॉप पर बनता है, पर ये कभी-कभी डाउनट्रेंड के पुलबैक पर भी बन जाता है और डाउनट्रेंड को कंटिन्यू करने में मदद करता है।

हम इसे निचे दिए इस चित्र की मदद से समझते है।

यहाँ हम देख पा रहे है की पहले मार्केट में अपट्रेंड है और अपट्रेंड के बिलकुल टॉप पर शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न बना है उसके बाद मार्केट में तेजी से डाउनट्रेड आ गया है।

और दूसरी और हम देख पा रहे है की मार्केट में डाउनट्रेंड है और उसके बाद एक छोटा पुलबैक आया और मार्केट ने तेजी दिखाना शुरू किया पर वहां शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न बना और मार्केट ने अपना डाउनट्रेंड कंटिन्यू रखा।


How to Trade Shooting Star Candlestick Pattern in Hindi?

शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न की पहचान करने के बाद इसे ट्रेड करना काफी आसान होता है।

सबसे पहले हमें अपना सोदा बनाने के लिए कन्फर्मेशन का इन्तजार करना होता है जिसके लिए मार्केट के ट्रेंड को देखा जा सकता है या शेयर मार्केट इंडिकेटर (share market indicator in hindi) की मदद से मार्केट में आने वाले रेवेर्सल को पहचाना जा सकता है। जैसे ही कन्फर्मेशन मिलता है ट्रेडर इस कैंडल के लॉ प्राइस के ब्रेकआउट पर पोजीशन लेते है और इसके हाई पर स्टॉप लॉस (stop loss meaning in hindi) लगाकर अपने जोखिमों को नियंत्रित करते है।

हम नीचे दिए गए चार्ट से हम अपट्रेंड के रिवर्स होने पर ट्रेड कैसे लेते है ये समझने की कोशिश करते है।

यहाँ हम देख पा रहे है की एक बुलिश ट्रेंड चल रहा है और उसके बाद ट्रेंड के बिलकुल टॉप पर शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न बना है। और जैसे ही पैटर्न के नीचे मार्केट ट्रेड करना शुरू करती है मार्केट तेजी से डाउनट्रेंड की तरफ जाने लगती है। यहां हम सेल साइड में अपना ट्रेड ले सकते है और शूटिंग स्टार के बिलकुल ऊपर अपना स्टॉप लोस आर्डर रख सकते है।

अब हम देखेंगे की ट्रेंड के कंटिन्यू होने में शूटिंग स्टार कैसे मदद करता है।

यहाँ हम देख पा रहे है की एक बियरिश (मंदी) ट्रेंड चल रह है और उसमें कुछ समय के लिए मार्केट में तेजी आती है और उस तेजी के टॉप पर शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न बन रहा है उसके बाद मार्केट फिरसे डाउन साइड में अपना ट्रेंड कंटिन्यू करती है। इसमें भी आपको शूटिंग स्टार के टॉप पर अपना स्टॉप लोस आर्डर रखना है और कन्फर्मेशन के साथ एंट्री ले।

मार्केट चाहे अपट्रेंड से रिवर्स कर रही हो या डाउनट्रेंड से पुलबैक के साथ कंटिन्यू कर रही हो, शूटिंग स्टार को ट्रेड करने का तरीका एक जैसा ही है।

इसी तरह का पैटर्न अगर डाउनट्रेंड यानी की सपोर्ट के पास बने तो उसे इनवर्टेड हैमर पैटर्न कहा जाता है


निष्कर्ष

शूटिंग स्टार कैंडलस्टिक पैटर्न ट्रेडर्स के बीच काफी पसंद किया जाता है पर इसे हमेशां टेक्निकल अनालिसिस की किसी अन्य टूल के साथ इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। इसे ट्रेडर्स का मनोबल बढ़ता है और उनकी ट्रेड और मुनाफे में निरंतरता बनी रहती है।

आपको कैंडलस्टिक पैटर्न के साथ साथ पूरा टेक्निकल अनालिसिस सीखना चाहिए ताकि आप मार्केट में ट्रेड करने के सारे तरीकों को अच्छे से सीख सको और अच्छा मुनाफा कमा सको।

यदि आप शेयर मार्केट ट्रेडिंग के साथ शुरुआत करना चाहते हैं, तो बस नीचे दिए गए फॉर्म में कुछ बुनियादी विवरण भरें।

आपके लिए एक कॉलबैक की व्यवस्था की जाएगी:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five − five =