Angel Broking Charges Hindi

बाकी स्टॉक ब्रोकर्स का विश्लेषण देखें

हैलो दोस्तों आज के टॉपिक में हम आपको बताएंगे Angel Broking Charges Hindi के बारे में इसलिए यदि आप Angel Broking Trade Kaise Kare Hindi में ट्रेड करना जानते है तो ये आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

आपको बता दे कि इस विषय में हम एंजेल ब्रोकिंग से जुड़े सारे चार्जेज को कवर करेंगे ताकि आप अपने ट्रेडिंग निर्णय लेने के लिए स्पष्ट हो सकें।

इसलिए सबसे पहले हम बात करेंगे Angel Broking Me account kaise banaye के शुल्क के बारे में।

एंजेल ब्रोकिंग अकाउंट ओपनिंग के शुल्क

एंजेल ब्रोकिंग स्टॉक ट्रेडिंग अकाउंट और डीमैट अकाउंट सेवाएं प्रदान करता है। ग्राहक एंजेल ब्रोकिंग के साथ ट्रेड करते समय शुल्क, कमीशन और टैक्स का भुगतान करता है। एंजेल ब्रोकिंग फीस स्ट्रक्चर और ट्रेडिंग कमीशन रेट्स को नीचे बताया गया है।

एंजेल ब्रोकिंग खाता खोलने के लिए आपको खाता खोलने के शुल्क का भुगतान करना होगा।


एंजेल ब्रोकिंग ब्रोकरेज शुल्क 

एंजेल ब्रोकिंग के माध्यम से स्टॉक खरीदने या बेचने पर ग्राहक एक कमीशन (ब्रोकरेज) का भुगतान करता है। एंजेल ब्रोकिंग के लिए इक्विटी, कमोडिटीज और करेंसी डेरिवेटिव ट्रेडिंग के ब्रोकरेज चार्ज नीचे दिए गए हैं।

एंजेल ब्रोकिंग एंजेल iTrade PRIME


एंजेल ब्रोकिंग ब्रोकरेज कैलकुलेटर 

“एंजेल ब्रोकिंग ब्रोकरेज कैलकुलेटर” आपके ब्रोकरेज और करों की गणना करने के लिए एक नि:शुल्क उपकरण है, जिसमें स्टांप ड्यूटी भी शामिल है।

आप इस उपकरण का उपयोग कुल ब्रोकरेज शुल्क और कर, ब्रेक इवन पॉइंट (प्रति शेयर) और नेट प्रॉफिट या लॉस पर ट्रेड की आसान तरीके से गणना करने के लिए कर सकते हैं।

एंजेल ब्रोकिंग डीमैट अकाउंट शुल्क 

डीमैट खाते के लेनदेन को ट्रेडिंग कमीशन से अलग से चार्ज किया जाता है। यहां आप एंजेल ब्रोकिंग डीमैट खाते शुल्क को देखें।

एंजेल ब्रोकिंग डिपॉजिटरी सर्विस रेजिडेंट रिटेल ग्राहकों के लिए शुल्क कुछ इस प्रकार है।


एंजेल ब्रोकिंग एएमसी शुल्क

आपको अपना डीमैट अकाउंट सुचारु रूप से इस्तेमाल करने के लिए एंजेल ब्रोकिंग को वार्षिक तौर कुछ शुल्क अदा करना होता है जिसको आमतौर पर एएमसी शुल्क कहा जाता है। नीचे टेबल में एंजेल ब्रोकिंग एएमसी शुल्क के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी है।


एंजेल ब्रोकिंग ट्रांजेक्शन शुल्क

ट्रांजेक्शन शुल्क, वो शुल्क हैं जो अलग-अलग ट्रेडिंग सेग्मेंट्स पर अलग-अलग तरीके से लगाए जाते हैं। उदाहरण के तौर पर डिलीवरी ट्रेडिंग में यह शुल्क खरीदने व बेचने वाले दोनों ट्रेड पर लगाए जाते है जबकि इंट्राडे ट्रेडिंग में ये सिर्फ बेचने वाले ट्रेड पर लगाया है।


Angel Broking Charges Hindi
में हमने अभी तक इसमें डीमैट शुल्क एंजेल ब्रोकिंग खाता खोलने के शुल्क और ट्रांजेक्शन शुल्क को कवर किया है।

एंजेल ब्रोकिंग में कुछ ट्रेडिंग टैक्स भी शामिल है जिसका पूरा विवरण नीचे दिया गया है


एंजेल ब्रोकिंग ट्रेडिंग टैक्स 

एंजेल ब्रोकिंग ब्रोकरेज के अलावा सरकारी टैक्स और शुल्क वसूलता है। ये एंजेल ब्रोकिंग ट्रेडिंग टैक्स दिन के अंत में ग्राहक को भेजे गए अनुबंध नोट में दिखाए जाते हैं। नीचे दिए गए टेबल का उपयोग एंजेल ब्रोकिंग टैक्स कैलकुलेशन के लिए किया जा सकता है।

ट्रेडिंग पर एंजेल ब्रोकिंग टैक्स


निष्कर्ष

यदि अपने Angel Broking Charges Hindi के इस आर्टिकल को अच्छे से पढ़ा है तो आपको इससे जुड़े सारे शुल्कों की जानकारी हो गई होगी

आपको बता दें की 1987 में शामिल, एंजेल ब्रोकिंग भारत में सबसे बड़ी फुल-सर्विस रिटेल ब्रोकर्स में से एक है।

जैसे की ऊपर भी बताया गया है कि एंजेल ब्रोकिंग अपने ऑनलाइन ग्राहकों को एक फ्लैट दर ब्रोकरेज योजना (iTrade Prime) प्रदान करता है।

इस योजना में ब्रोकरेज फ्री इक्विटी डिलीवरी ट्रेडिंग की पेशकश की गई है और अन्य सभी सेगमेंट के लिए 20 प्रति निष्पादित ऑर्डर फ्लैट है।

एंजेल ब्रोकिंग एक पारंपरिक योजना भी प्रदान करता है जहां ट्रेडिंग वॉल्यूम के प्रतिशत में ब्रोकरेज का शुल्क लिया जाता है। यह योजना उन लोगों के लिए है जिन्हें ट्रेडिंग के साथ इन-पर्सन सहायता की आवश्यकता है।

पूरी जानकारी के बाद आपको फाइनेंशियल सेक्टर में बेस्ट सेवाएं प्राप्त करने के लिए आपको एंजेल ब्रोकिंग के साथ ट्रेडिंग करने की कोशिश करनी चाहिए!


यदि आप एंजेल ब्रोकिंग के साथ डीमैट खाता खोलना चाहते हैं तो कृपया नीचे दिए गए फॉर्म को देखें : 

यहां बुनियादी विवरण दर्ज करें और आपके लिए एक कॉलबैक की व्यवस्था की जाएगी !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − 9 =