एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस 

पीएमएस के अन्य लेख पढ़ें

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस प्रसिद्ध और स्थापित पीएमएस (पोर्टफोलियो मैनेजमेंट सर्विसेज) हाउस है। यह ग्राहकों को  उनके निवेश उद्देश्य को पूरा करने में पीएमएस सर्विस प्रदान करती है। 

यह एक फुल-सर्विस स्टॉकब्रोकर कंपनी है और यह एंजेल ब्रोकिंग के अलावा अन्य निवेश प्रोडक्ट्स जैसे कि इक्विटी, कमोडिटी ट्रेडिंग, करंसी ट्रेड, म्यूचुअल फंड आदि में भी निवेश के प्रस्ताव  प्रदान करता है। इसके अलावा, आप जिस सेगमेंट में निवेश करते है उसमे ब्रोकरेज की गणना करने के लिए एंजेल ब्रोकरेज कैलकुलेटर की भी सुविधा है। 

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस का विश्लेषण

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस की स्थापना वर्ष 1997 में श्री दिनेश ठक्कर के नेतृत्व में की गई थी। इस कंपनी का मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट में स्थित है। 

एंजेल ब्रोकिंग ने सब-ब्रोकर बिज़नेस शुरू किया था जिसमें कुल 30 सदस्य थे। लेकिन, अब यह 11,000+ शाखाओं के साथ पूरे भारत में मौजूद है और देश के सबसे बड़े ब्रोकिंग हाउस में से एक है।

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस का इंडस्ट्री में एक प्रतिष्ठित नाम है और पिछले कुछ वर्षों से अपने बेहतर प्रदर्शन के लिए ये अपने पोर्टफोलियो निवेशकों के बीच बहुत प्रसिद्ध है।

पीएमएस एक अनुकूलित सेवा है और यह विभिन्न प्रकार के निवेश विकल्प प्रदान करता है जो वर्तमान मार्केट स्थिति में ग्राहकों के लिए सबसे उपयुक्त है।

यह फर्म अपने पीएमएस ग्राहकों को पूरे देश में फैली हुई शाखाओं के एक बड़े नेटवर्क के माध्यम से सेवा प्रदान करती है। इसने निवेशकों के विभिन्न प्रश्नों को हल करने के लिए फंड को-ऑर्डिनेटर नियुक्त किए हुए हैं।

उनको अपने पोर्टफोलियो तक पहुंचने और काम को ट्रैक करने के लिए एक युनिक आईडी और पासवर्ड प्रदान किया जाता है।

एंजेल ब्रोकिंग के पास पोर्टफोलियो प्रबंधकों की एक पूरी टीम होती है जिनको अपने काम का पूरा अनुभव होता है जिससे वे अपने ग्राहकों के पोर्टफोलियो की अच्छे से देखरेख करते हैं। 

एंजेल ब्रोकिंग के विशेषज्ञ फंड मैनेजर ग्राहकों की विशेष आवश्यकता को पूरा करने के लिए इक्विटी, डेट, बॉन्ड, कैश और बनावटी प्रोडक्ट्स में ग्राहकों के लिए एक पोर्टफोलियो बनाते हैं।   

इसकी न्यूनतम निवेशक राशि 25 लाख है। यह फर्म उन कंपनियों में निवेश करती है जो अभी तक श्रेष्ठ हैं और अपने प्रतिसपर्धियों को लाभ प्रदान करती हैं।

फर्म के द्वारा ये निवेश दो अलग अलग रणनीतियों से मिलकर बना है जिसका काम निवेशकों के निवेश उद्देश्यों को पूरा करना है। 

कंपनी का नाम  एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस 
स्थापना वर्ष  1997 
फाउंडर का नाम दिनेश ठक्कर 
कंपनी के प्रकार प्राइवेट 
पीएमएस रणनीति एंजेल एवरग्रीन लार्ज-कैप पोर्टफोलियो एंजेल लोटस पोर्टफोलियो
कमीशन मॉडल प्रीपेड कमीशन, वॉल्यूम आधारित कमीशन, प्रॉफिट शेयरिंग कमीशन

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस के विश्लेषण में पीएमएस निवेशकों के लाभ के लिए कंपनी के प्रत्येक पहलू पर नज़र डालेंगे।

इसमें हम पीएमएस के प्रकार, प्रबंधक का विवरण, स्ट्रेट्जी, परफॉरमेंस/रिटर्न, निवेश योजना, कमीशन मॉडल, शुल्क, कस्टमर केयर सर्विस, निष्कर्ष और आखिर में पीएमएस हाउस के बारे में पूछे गए कुछ प्रश्नों के बारे में बात  करेंगे।

आइये,  पीएमएस रिटर्न के बारे में जानें-


एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस का रिटर्न 

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस निवेशकों को बहुत अच्छा रिटर्न देते हैं। ये अपने नए पोर्टफोलिओ निवेशकों को जो कि पोर्टफोलिओ के माध्यम से निवेश करना चाहते हैं उनको पूरा भरोसा दिलाते हैं।

इसके रिटर्न ने 10 साल के म्यूचुअल फंड रिटर्न को भी पीछे छोड़ दिया है। 

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस निवेशकों को प्रत्येक वर्ष में कितना रिटर्न देता है इसका ब्यौरा नीचे दिया गया है। जो की इस प्रकार है-

  • ये तीन सालों के लिए निवेशकों को 11% रिटर्न प्रदान करता है।
  • 5 वर्षों निवेश पर 9% रिटर्न देता है और
  • 7 सालों के लिए 7% रिटर्न प्रदान करता है।
  • 10 वर्षों पर ये रिटर्न बढ़ाकर 12% कर दिया गया है और
  • 11 साल से अधिक वर्षों के लिए ये 13%CAGR है।

कुल मिलकर हम कह सकतें हैं कि, एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस का रेट ऑफ़ रिटर्न निवेशकों को कंपनी के प्रति आकर्षित करने के लिए थोड़ा आकर्षक है। 


एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस के प्रकार 

एंजेल ब्रोकिंग निवेशकों को दोनों प्रकार की पीएमएस सेवाएं प्रदान करता है। जिनमें एक डिस्क्रिशनरी पीएमएस है और दूसरी नॉन-डिस्क्रिशनरी पीएमएस। 

आइये जानते हैं कि एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस में ये सेवाएं किस तरह से काम करती है-

डिस्क्रिशनरी सेवाएं

इस सर्विस में आपके पोर्टफोलियो से संबंधित निर्णय केवल पोर्टफोलियो प्रबंधक के पास ही रहता है। उनके पास आपके पोर्टफोलियो से किसी भी प्रोडक्ट को जोड़ने या निकालने का अधिकार होता है।

पोर्टफोलियो प्रबंधक द्वारा किये जा रहे काम को देखने के लिए आप अपने पोर्टफोलियो पर जा सकते हैं।

इस पीएमएस के अंतर्गत, ग्राहक के पोर्टफोलियो को विशेषज्ञों के द्वारा उनके विशेषज्ञ ज्ञान और अनुभव के द्वारा मैनेज किया जाता है। इसीलिए, इस पीएमएस प्रकार के साथ अच्छे रिटर्न की संभावना थोड़ी बढ़ जाती है।

नॉन-डिस्क्रिशनरी सेवाएं

इस नॉन-डिस्क्रिशनरी सर्विस के अंतर्गत, ग्राहक को फंड मैनेजर से निवेश करने का सुझाव और किस प्रकार से निवेश करना है इससे सम्बंधित सुझाव मिलेगा। लेकिन इसमें निवेश करने का निर्णय पूरी तरह से ग्राहक के हाथों में होता है।

अपने पोर्टफोलियो से सम्बंधित फैसला लेने का अधिकार सिर्फ ग्राहक के पास होता है।

हालांकि, ग्राहक के निवेश पोर्टफोलियो का ट्रेड पोर्टफोलियो प्रबंधक द्वारा किया जाता है।


एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस फंड प्रबंधक 

एंजेल ब्रोकिंग के पास विशेषज्ञों की एक टीम है जो ग्राहकों को बेहतर पोर्टफोलियो सेवा प्रदान करने के लिए बेहद कुशल हैं। वे निवेशकों के निवेश उद्देश्य और जोखिम उठाने की क्षमता के अनुसार उन्हें पोर्टफोलियो सेवा प्रदान करते हैं।

अब हम एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस के पोर्टफोलियो प्रबंधकों में से एक प्रबंधक पर चर्चा करेगें:

मयूरेश जोशी (फंड मैनेजर) 

मयूरेश जोशी एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस में फंड मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं। इनका कार्य कंपनी द्वारा बनाई गई विभिन्न रणनीतियों के साथ ट्रेडर्स के निवेश पोर्टफोलियो और फंड प्रबंधन को सफल बनाना हैं। ये ग्राहकों के पोर्टफोलियो के लिए उनके साथ अपने अनुभव साझा करते हैं 

उनके ग्राहक पोर्टफोलियो में एचएनआई, एसऍमई और ऍमएनई शामिल हैं। श्री जोशी, फंड प्रबंधन, पोर्टफोलियो निर्माण, प्रदर्शन मापन तकनीक और एसेट एलोकेशन में अपनी विशेषज्ञता के लिए जाने जाते हैं।

वह कंपनियों के कठिन वित्तीय विवरणों को बहुत अच्छी तरह से समझा सकते हैं ताकि निवेशकों को वित्तीय सिफारिशें प्रदान कर सकें।

वित्तीय जोखिम मॉडलिंग और मूल्यांकन के लिए एक विशेषज्ञ है जो सभी नियमों और नियामक आवश्यकताओं का पालन करते हैं।

श्री जोशी ने लगातार विभिन्न वर्गों के एसेट्स में अपने पोर्टफोलियो निवेश से ग्राहकों को बेहतर रिटर्न प्रदान किया है। उनके पास बुल के साथ-साथ बेयर मार्केट्स में कार्यकर्ताओं की पहचान करने की एक मजबूत क्षमता है।

श्री मयूरेश जोशी के पास कंपनी सेक्रेटरी की डिग्री है और वो कॉर्पोरेट लॉ में विशेषज्ञ हैं।


एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस सर्विस 

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस तीन अलग-अलग रणनीति  या दो रणनीतियों के कॉम्बिनेशन पर काम करता है जैसे ट्रेड की अधिकांश फर्में करती है।

ये लार्ज कैप, मिडकैप, स्मॉल कैप रणनीतियाँ पर काम करता है। या फिर ग्राहक के निवेश करने के लक्ष्यों और जोखिम उठाने की क्षमता के अनुसार दो रणनीति के मिश्रण पर काम करता है।

हालांकि ये तीनों इंडस्ट्री में सबसे आम हैं, इसलिए फर्म निवेशकों को न्यूनतम जोखिम के साथ अच्छे रिटर्न देने के लिए विभिन्न रणनीतियों का निर्माण करता है। 

यहां कंपनी आपको दो अलग-अलग रणनीतियों का विकल्प प्रदान करती है। हर रणनीति अलग-अलग प्रकार के निवेशक के लिए है। ये ग्राहक के निवेश करने के उद्देश्य और जोखिम उठाने की क्षमता के अनुसार काम करती है।

यहाँ पर 2 रणनीतियां दी गई  है जो  एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस के द्वारा प्रयोग किया जाता है। ये निम्नलिखित प्रकार हैं।

एंजेल एवरग्रीन लार्ज-कैप पोर्टफोलियो

एंजेल एवरग्रीन लार्ज-कैप रणनीति उन कंपनियों में निवेश करने के लिए है, जिन कंपनियों की लार्ज मार्केट कैप है। इस रणनीति के अंतर्गत, उन शेयरों के लिए निवेश किया जाता है जो शेयर मार्केट में लम्बे समय से और अच्छी तरह से स्थापित हैं।   

ये कंपनियां मौलिक रूप से मजबूत हैं जो उन्हें मार्केट में अपनी ताकत और शेयर धारकों के भरोसे को बनाए रखने में मदद करती हैं। 

अंततः यह पोर्टफोलियो कंपनी को निरंतर गति के साथ बढ़ने और निवेशकों को अच्छा रिटर्न देने में मदद करता है। इस रणनीति के तहत निवेश 18-24 महीने की समय अवधि के लिए किया जाता है जिसमें में जोखिम और रिटर्न दोनों मध्यम हैं।

एंजेल लोटस पोर्टफोलियो 

पोर्टफोलियो निवेश का मकसद मध्यम से लॉन्ग टर्म के लिए फंड कमाना है। फंड का निवेश इक्विटी मार्केट में केवल एक कंपनी के मूल सिद्धांतों पर ध्यान केंद्रित करके किया जाता है, जिसमें एक ही कंपनी के विकास और मूल्य पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।

इस निवेश की समय अवधि 18-24 महीने की है। इस रणनीति के अंतर्गत जोखिम और रिटर्न दोनों मध्यम है।


एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस एप्रोच

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस हाउस वैल्यू इन्वेस्टमेंट करने के साथ-साथ विकास निवेश के सिद्धांतों का पालन करता है। 

  • इसका काम निवेशकों की पूंजी को सुरक्षित करना है।
  • निवेश पोर्टफोलियो के लिए शेयरों का चयन सही चरण पर करें जहां जोखिम कम हो और रिटर्न अधिक है।
  • यह फर्म मार्केट में नए बिज़नेस की पहचान करतोई है, जो भविष्य में आगे बढ़ने की क्षमता रखते हैं।
  • स्टॉक चुनने के लिए पूरी मार्केट के कैपिटल पर किसी शेयर के छिपे हुए मूल्यांकन को प्राथमिकता दी जाती है।
  • कंपनी द्वारा प्रदान की गई रणनीतियां लॉन्ग टर्म निवेशकों के लिए उपयुक्त हैं जो मध्यम से लॉन्ग टर्म रिटर्न के लिए निवेश कर रहे हैं।
  • यह फर्म किसी शेयर के शुरुआती चरण के दौरान निवेश करके वैल्यू इन्वेस्टमेंट करने की कोशिश करती है।

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस द्वारा प्रदान किए गए निवेश प्रोडक्ट जैसे इक्विटी, डेट, फिक्स्ड कैपिटल, ये सभी किसी विशेष निवेशक की व्यक्तिगत, वित्तीय आवश्यकता और जोखिम उठने की क्षमता के अनुसार कार्य करती है।


एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस सर्विस 

जिन पर निवेश उद्देश्य के लिए किसी शेयर की निवेश वैल्यू का विश्लेषण किया जाता है वे मुख्य पैरामीटर निम्नलिखित हैं:

  • सबसे पहले, पोर्टफोलियो में स्टॉक को जोड़ने से पहले उनकी गुणवत्ता के साथ प्रबंधन टीम की ताकत की जाँच की जाती है। 
  • जैसा कि किसी कंपनी का बिज़नेस  मॉडल उसके विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। फर्म बिज़नेस  मॉडल की जांच करता है जो बेहतर क्वालिटी/गुणवत्ता का होना चाहिए।
  • किसी कंपनी के लिए भविष्य में विकास की संभावना भी होनी चाहिए।

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस निवेशक योजनाएं 

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस, कंपनी की पोर्टफोलियो सेवा लेने और कपंनी में आने के लिए हर श्रेणी के निवेशकों को समान अवसर प्रदान करता है।

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस ई-फर्म को समान अवसर प्रदान करता है जिनका काम निवेशकों को अलग-अलग निवेश योजनाएं प्रदान करके आकर्षित करना है जो निवेशकों की एक अलग श्रेणी के लिए उपयुक्त हैं। फिर चाहे वे उच्च प्रोफ़ाइल ग्राहक हों या मध्यम या फिर निम्न श्रेणी के निवेशक हों।

एंजेल ब्रोकिंग, निवेशकों के लिए चार प्रकार की निवेश योजनाएं प्रदान करता है जो निम्लिखित हैं:

  • ब्रॉन्ज (25लाख से 50लाख) 
  • सिल्वर (50लाख से 1करोड़)
  • गोल्ड (1करोड़ से 5 करोड़)
  • प्लैटिनम (5 करोड़ से अधिक)

ब्रॉन्ज निवेशक योजना में न्यूनतम निवेशक राशि 25 लाख से शुरू होकर 50 लाख तक जाती है यह योजना उन निवेशकों के लिए है जो निवेशक कम राशि के साथ और कम जोखिम के साथ निेवेश करना चाहते हैं।

दूसरी  योजना सिल्वर है जिसकी लिमिट 50 लाख से 1 करोड़ तक है। गोल्ड उन निवेशकों के लिए है जो निवेशक1 करोड़ से 5 करोड़ तक निवेश करना चाहते हैं। और आखिर में प्लेैटिनम योजना उन लोगों के लिए है जो निवेशक हाई प्रोफाइल हों और जो उच्च जोखिम उठाने को तैयार हो।


एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस कमीशन माॅडल 

एंजेल ब्रोकिंग निवेशकों को कंपनी में राशि भुगतान करने के लिए कमीशन ली जाती है। जो निवेशकों की क्षमता के अनुसार होती है और जिसे देने में निवेशक सक्षम होते हैं।

ये निवेशक को उसकी सुविधा के अनुसार मॉडल चुनने में सहयता करता है। अन्य ब्रोकिंग फर्मों की तरह, एंजेल ब्रोकिंग भी निवेशकों को तीन प्रकार के कमीशन मॉडल प्रदान करता है।  

आप अपनी सुविधा के अनुसार कोई भी मॉडल चुन सकते हैं :

  • प्रीपेड कमीशन
  • वॉल्यूम-आधारित कमीशन
  • लाभ आधारित कमीशन

आइये, एक एक करके इनके बारे में बात करते हैं-

प्रीपेड कमीशन 

इस मॉडल के अंतर्गत, पोर्टफोलियो प्रबंधन सेवा शुरू करने से पहले ही फंड मैनेजर को अग्रिम भुगतान किया जाता है।

वास्तव में, यदि पोर्टफोलियो अधिक लाभ देता है तो यह मॉडल निवेशकों के पक्ष में है क्योंकि पोर्टफोलियो निवेश की वैल्यू का एक नियत प्रतिशत पहले ही फर्म को कमीशन के रूप में भुगतान किया जाता है।

कमीशन का प्रतिशत, पोर्टफोलियो की कुल वैल्यू के आधार पर निवेशक और फंड मैनेजर दोनों के द्वारा तय किया जाता है।

वॉल्यूम आधारित कमीशन 

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस का दूसरा मॉडल वॉल्यूम आधारित कमीशन है।  इस मॉडल के तहत, पोर्टफोलियो को पूरा करने के लिए किए गए लेनदेन की कुल मात्रा के आधार पर कमीशन ली जाती है। 

एक पोर्टफोलियो को पूरा करने के लिए किए गए ट्रांसेक्शन वैल्यू के आधार पर कमीशन तय किया जाता है।

पीएमएस सेवा शुरू करने से पहले एक प्रतिशत राशि तय की जाती है और एक वर्ष होने के बाद वे कमीशन की मात्रा के आधार पर ली जाती है।

इस मॉडल में एक फंड मैनेजर की प्रामाणिकता बहुत महत्वपूर्ण है। यह केवल एक फंड मैनेजर ही होता है जो बिना अधिक लाभ के लेन-देन की मात्रा बढ़ा भी सकता है या फिर कम से कम लेनदेन के साथ उच्च लाभ भी प्राप्त कर सकता है।

प्रॉफिट- शेयरिंग आधारित कमीशन मॉडल  

कमीशन का यह मॉडल सभी ग्राहकों के लिए बहुत ही आकर्षक और पसंदीदा कमीशन मॉडल है। 

इस मॉडल के तहत, निवेश पोर्टफोलियो से आने वाले लाभ का एक पूर्व-निश्चित प्रतिशत फंड मैनेजर के साथ कमीशन के रूप में शेयर किया जाता है। जितना ज्यादा लाभ होगा उतने ज्यादा कमीशन का भुगतान करना होगा।

लेकिन, इस मॉडल में सबसे अच्छी बात यह है कि फंड मैनेजर के द्वारा पूरा प्रयास करने का आश्वासन दिया जाता है क्योंकि उसे पोर्टफोलियो के प्रदर्शन के बाद ही कमीशन मिलता है।

और पोर्टफोलियो से अधिक लाभ का मतलब है एक फंड मैनेजर के लिए उच्च कमीशन। 

नीचे एक टेबल दिया गया है जिसमें  तीनों मॉडलों के  कमीशन का प्रतिशत दिया गया है:


एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस शुल्क

पोर्टफोलियो निवेश सेवा लेने के लिए ग्राहक को एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस को भुगतान करने के लिए आवश्यक निम्नलिखित शुल्क हैं जैसे- 

प्रबंधन फीस– यह शुल्क निवेशकों को पीएमएस सेवा देने के लिए एंजेल ब्रोकिंग के प्रबंधन द्वारा लगाया जाता है। यह निवेशक द्वारा चुनी गई निवेश योजना पर निर्भर करता है।और कंपनी का एसेट प्रबंधन शुल्क 2% पी.ए है। 

ब्रोकिंग शुल्क- यह शुल्क, फंड मैनेजर द्वारा एक वर्ष के अंदर पूरा किए गए प्रत्येक लेनदेन का 0.5% है।

अपफ्रंट फीस- यह शुल्क फर्म द्वारा चार्ज किए गए प्रीपेड शुल्क से अधिक के समान है। अपफ्रंट शुल्क की लिमिट कुल एसेट वैल्यू के 0.5% से 0.8% के बीच है।  

कस्टडियन शुल्क – यह संरक्षक शुल्क है जो फर्म द्वारा आपके एसेट को अपने पास सुरक्षित रखने के लिए लिया जाता है। यह शुल्क, निवेशक की कुल एसेट वैल्यू के 0.1% से 0.3% की लिमिट में लिया जाता है।

डिपॉजिटरी शुल्क- डिपॉजिटरी शुल्क की लिमिट एसेट वैल्यू के 0.1% से 0.5% के बीच होती है।

एग्जिट लोड फीस- एग्जिट लोड शुल्क, उस निकाली हुई राशि पर लिया जाता है जो पोर्टफोलियो निर्माण करने के एक वर्ष के भीतर वापस ले ली जाती है। 

यह शुल्क, निकाली गयी राशि पर 0.7% से 1.2% की लिमिट में लगाया जाता है। पोर्टफोलियो निर्माण करने के एक साल बाद निकाली गई राशि पर कोई एक्जिट लोड शुल्क नहीं है।

ये भी पढ़े: एंजेल ब्रोकरेज कैलकुलेटर


एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस के लाभ 

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस के द्वारा प्रदान पोर्टफोलियो प्रबंधन सेवाओं के लाभ निम्नलिखित हैं:

  • एंजेल ब्रोकिंग, निवेशक के फंड का निवेश उन कंपनियों में करता है, जो कंपनियां मौलिक रूप से मजबूत हैं और अपने प्रतिस्पर्धियों के मुकाबले ज़्यादा लाभ कमाती हैं। इसलिए पोर्टफोलियो में सर्वश्रेष्ठ रिटर्न की संभावना बढ़ जाती है।
  • फर्म एक अच्छे निवेश दर्शन के माध्यम से चलती है। यह उन्हें आगे कदम उठाने के लिए निवेश करने में मदद करता है।
  • कंपनी निवेशक को एक अनुभवी रिलेशनशिप मैनेजर प्रदान करती है, जिसे ग्राहक अपने निवेश पोर्टफोलियो से संबंधित प्रश्नों को हल करने के लिए कॉल कर सकते हैं।
  • एंजेल ब्रोकिंग, अपने हर ग्राहक के लिए व्यक्तिगत सेवा प्रदान करता है। जहाँ कोई भी अपने वित्तीय उद्देश्य और जोखिम उठाने की क्षमता के अनुसार आसानी से पीएमएस सेवा प्राप्त कर सकता है।
  • यह ग्राहक को एक पासवर्ड और आईडी प्रदान करता है जिसके माध्यम से ग्राहक अपने पोर्टफोलियो को ऑनलाइन एक्सेस कर सकता है। 

अन्य सम्बंधित लाभ 

  • सक्रिय रिस्क मैनेजमेंट टीम।
  • सक्रिय पुन: री-बैलेंसिंग और समीक्षा के लाभ
  • अनुभवी फंड प्रबंधन टीम।
  • व्यक्तिगत पोर्टफोलियो प्रबंधन सेवा।
  • आवश्यकता के अनुसार निवेश रणनीति बदलना।
  • अपने फंड संबंधी प्रश्नों को हल करने के लिए अलग टीम।
  • निवेशकों की सेवा के लिए पूरे देश में बड़ा नेटवर्क। 

एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस कस्टमर केयर सेवा 

एंजेल ब्रोकिंग के ग्राहक के रूप में, आपको कंपनी से अपने पोर्टफोलियो से सम्बंधित कई प्रकार की सहायता मिलती है जिनमें से कुछ मुख्य इस प्रकार है –

ग्राहक को कॉलिंग सुविधा मिलती है, जिसमें आप अपने पोर्टफोलियो से संबंधित समस्याओं को हल करने के लिए एक रिलेशनशिप मैनेजर को कॉल कर सकते हैं।

कंपनी के ग्राहक होने के नाते आपको कंपनी से व्हट्सएप्प और एसएमएस की सुविधा दी जाती है।

आप पोर्टफोलियो के सम्बन्ध में किसी भी प्रश्न को हल करने के लिए लिए सीधे फंड मैनेजर को कॉल कर सकते है। ग्राहक एक महीने में 5-10 बार फंड मैनेजर को कॉल कर सकता है।

एंजेल ब्रोकिंग, ग्राहकों की समस्या को हल करने के लिए टी.ए.टी (टर्नअराउंड समय) 10 दिन कार्य करता है।


एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस डिस्क्लोज़र डॉक्यूमेंट 

यदि आप एंजेल ब्रोकिंग पीएमएस डिस्क्लोज़र डॉक्यूमेंट की तलाश कर रहे हैं, तो ब्रोकर ने संदर्भ के लिए हाल ही में  कुछ लोगों को नियुक्त किया गया है।

यहाँ उनमें से एक फॉर्म हैं जिनकी आप जाँच कर सकते हो।


निष्कर्ष 

एंजेल ब्रोकिंग, हाई नेट वर्थ(HNI ) ग्राहकों को विशेषज्ञ निधि प्रबंधन और अनुसंधान टीम की सहायता से बेहतर पोर्टफोलियो प्रबंधन सेवा प्रदान करता है।

यह निवेश योजनाओं और कमीशन मॉडल में अनेक विकल्प प्रदान करता है ताकि ग्राहक को किसी परेशानी का सामना न करना पड़े।

फर्म, निवेश प्रोडक्ट्स की लिमिट के अंदर ग्राहकों के अनुकूल पोर्टफोलियो निवेश समाधान प्रदान करता है जो ग्राहकों को उनकी व्यक्तिगत आवश्यकता और जोखिम क्षमता के अनुसार सबसे सही लगता है।

ग्राहक अपने प्रश्नों को हल करने के लिए कंपनी से सर्वश्रेष्ठ कस्टमर केयर सर्विस भी प्राप्त कर सकते हैं।

इसलिए, यदि आप भारत में सबसे अच्छी पीएमएस सेवाओं को प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप बिना कुछ सोचे इस पीएमएस हाउस के साथ जुड़ सकते हैं।


यदि आप पोर्टफोलियो प्रबंधन सेवाओं का उपयोग करना चाहते हैं, तो हम आपकी सहायता करेंगे।

यहां अपनी जानकारी दर्ज करें और आपके लिए एक कॉलबैक की व्यवस्था की जाएगी!

इस लेख में पाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 + 10 =