स्टोव क्राफ्ट आईपीओ जीएमपी

अन्य IPO का विश्लेषण

अपकमिंग आईपीओ की लिस्ट बहुत लम्बी है, और हम उन सभी आईपीओ की जानकारी के माध्यम से आपको गाइड करेंगें। आज हम यहां स्टोव क्राफ्ट आईपीओ जीएमपी (Stove Kraft IPO GMP in Hindi) के बारे में जानकारी प्रदान करेंगें।

मार्केट में आईपीओ के अच्छे प्रदर्शन के साथ ग्रे मार्केट प्रीमियम की शुरुआत अच्छी रही।

चलिए, स्टोव क्राफ्ट आईपीओ के बारे में बात करते हैं।

स्टोव क्राफ्ट आईपीओ 25 जनवरी को मार्केट में आएगा और 28 जनवरी 2021 को बंद हो जाएगा। 

जैसा कि कंपनी का मार्केट बहुत नाम है लेकिन अगर इसके फाइनेंशियल रिजल्ट को देखा जाए तो यह चिंता का विषय हो सकता है। 

स्टोव क्राफ्ट आईपीओ का प्राइस बैंड ₹384-₹385 पर तय किया गया है। कंपनी इस आईपीओ के ज़रिए ₹412 करोड़ जुटाएगी। 

इससे पहले कि हम स्टोव क्राफ्ट लिमिटेड आईपीओ के बारे में अधिक गहराई से जानकारी दें, आइए पहले समझते हैं कि आईपीओ क्या है? 

इनिशियल पब्लिक ऑफर को आईपीओ के रूप में जाना जाता है। यह शेयर मार्केट के रिटेल निवेशकों और ट्रेडर्स से कैपिटल जुटाने का एक तरीका है। भारत के शेयर बाजारों में लिस्टेड होने के लिए कंपनियाँ अपना आईपीओ निकलती है 

आईपीओ के साथ, एक प्राइवेट कंपनी पब्लिक हो जाती है और रोजमर्रा के खर्चों को बढ़ाने, कंपनी के विस्तार, डेब्ट को कम करने, टेक्नोलॉजी को बढ़ाने आदि के उद्देश्यों से आईपीओ लॉन्च किया जाता है।

चलिए, अब हम आगे बढ़ते हैं ओर जीएमपी के बारे में विस्तार से जानते हैं।  


स्टोव क्राफ्ट लिमिटेड आईपीओ ग्रे मार्केट प्रीमियम 

ग्रे मार्केट प्रीमियम (GMP) के बारे में डिटेल्स में जानने से पहले, आइए पहले समझ लें कि ग्रे मार्केट क्या है?

स्टोव क्राफ्ट लिमिटेड आईपीओ का ग्रे मार्केट प्रीमियम या जीएमपी वर्तमान में ₹100 से ₹110 रुपये है।  

ग्रे मार्केट प्रीमियम (GMP) वह राशि है जिस पर किसी कंपनी के इक्विटी शेयर का ग्रे मार्केट में कारोबार होता है, यानी शेयर मार्केट के बाहर ट्रेड होता है। 

जीएमपी से यह अनुमान लगाया जा सकता है कि आईपीओ कितना अच्छा या खराब होगा। यह पूरी तरह से आईपीओ शेयर की डिमांड और सप्लाई से तय होता है।

सामान्य मार्केट की तुलना में ग्रे मार्केट अत्यधिक अस्थिर है। जिस दर पर कीमतें बदलती हैं, और मार्केट में उतार-चढ़ाव अस्थिर और अत्यधिक अनुमानित होता है। इस प्रकार, यहां ट्रेडिंग करना बहुत चुनौतीपूर्ण हो जाता है।

आईपीओ खुलने की तारीख: 25 जनवरी 2021
आईपीओ बंद होने की तारीख 28 जनवरी 2021
आईपीओ का आकार : लगभग ₹412 करोड़
फेस वैल्यू: ₹10 प्रति इक्विटी शेयर
प्राइस बैंड: ₹384 से ₹385 प्रति शेयर
लिस्टेड हैं: बीएसई और एनएसई 
रिटेल पोर्शन: 35%
इक्विटी : 8,250,000 शेयर 

स्टोव क्राफ्ट आईपीओ अलॉटमेंट और लिस्टिंग

ट्रेडर्स और निवेशकों ने स्टोव क्राफ्ट लिमिटेड आईपीओ के लिए आवेदन करने के बाद, कंपनी को निवेशकों को शेयर अलॉटमेंट करने में कुछ समय लगेगा। आईपीओ के रजिस्ट्रार इस प्रक्रिया को पूरा करते हैं।

इसके अलावा, रजिस्ट्रार आईपीओ अलॉटमेंट के आधार की भी घोषणा करता है। स्टोव क्राफ्ट लिमिटेड IPO के लिए रजिस्ट्रार KFin Technologies Private Limited है। 

अलॉटमेंट स्टेटस के बारे में जानकारी पब्लिक के द्वारा आईपीओ कि डिमांड, रिफन्ड के आधार पर होती है। 

अलॉटमेंट स्टेटस के बारे में विस्तृत जानकारी नीचे दी गई है:

स्टोव क्राफ्ट आईपीओ अलॉटमेंट और लिस्टिंग

अलॉटमेंट की तिथि 2 फरवरी , 2021
रिफंड  3 फरवरी , 2021
डीमैट अकाउंट में क्रेडिट करने की तारीख 4 फरवरी , 2021
लिस्टिंग की तारीख 5 फरवरी , 2021

स्टोव क्राफ्ट आईपीओ में निवेश क्यों करें?

हम आशा करते हैं कि स्टोव क्राफ्ट लिमिटेड आईपीओ के बारे में जानकारी के साथ आपने इस कंपनी में निवेश करने या न करने का निर्णय ले लिया होगा।

यदि नहीं, तो हम आपको बता दें कि इस आईपीओ को जारी करने का प्राथमिक उद्देश्य कंपनी के डेब्ट का भुगतान करना है। इस उद्देश्य के साथ एक आईपीओ में बहुत सारे जोखिम शामिल हैं। निवेश आपके पक्ष में हो सकता है या नहीं भी हो सकता है।

लेकिन, क्योंकि यह कंपनी में कई सालों से मार्केट में है, इसलिए आप इस पर विश्वास कर सकते हैं।

स्टोव क्राफ्ट किचन अप्लायंस सेगमेंट में मार्केट ब्रांड में से एक है। कंपनी के पास फ्यूचर में बहुत ग्रोथ की सम्भावना है। इसे देखते हुए, निवेशक लाभ और लॉन्ग टर्म प्लान के लिए निवेश करने के बारे में सोच सकते हैं। आपको निश्चिन्त होकर इस आईपीओ में निवेश करना चाहिए।


यदि आईपीओ के माध्यम से निवेश करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए फॉर्म को देखें:

यहाँ अपना बुनियादी विवरण दर्ज करें और उसके बाद आपके लिए कॉलबैक की व्यवस्था की जाएगी:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twelve − 8 =