Angel Broking Sub Broker Kaise Bane

एंजेल ब्रोकिंग के साथ बिज़नेस करने के कई अलग-अलग विकल्प हैं, लेकिन इसका “सब ब्रोकर मॉडल” एक अच्छा बिज़नेस मॉडल है जिससे आप अच्छा पैसा कमा सकते हैं। लेकिन आपको पता होना चाहिए कि एंजेल ब्रोकिंग के साथ सब ब्रोकर कैसे बनें (Angel Broking Sub Broker Kaise Bane)?

इस पोस्ट में, आपको Angel Broking Sub Broker Kaise Bane के बारे में आसान शब्दों में समझाने का प्रयास करेंगे।

आइये सबसे पहले यह समझें कि एंजेल ब्रोकिंग सब ब्रोकर क्यों सबसे अच्छा विकल्प है?


एंजेल ब्रोकिंग सब ब्रोकर क्यों बनें?

एंजेल ब्रोकिंग, ब्रोकिंग इंडस्ट्री (Broking Industry) में एक जाना माना ब्रांड है और यह सेबी द्वारा रजिस्टर्ड ब्रोकर लिस्ट में एक प्रमुख और विश्वसनीय ब्रोकर है।

इस फर्म की स्थापना साल 1987 में हुई थी, जिसका मतलब है कि यह सालों से ग्राहकों को अपनी ट्रेडिंग सेवाएं प्रदान कर रहा है तो स्वाभाविक सी बात है कि इसने ग्राहकों के बीच अपनी विश्वसनीयता को बनाए रखा है। 

अगर ब्रोकर के टाइप की बात करें तो यह एक फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर है और सीडीएसएल डिपॉजिटरी के साथ रजिस्टर्ड है। भारत में सीडीएसएल और एनएसडीएल दो डिपॉजिटरी है जिसके साथ स्टॉक ब्रोकर या डिपॉजिटरी प्रतिभागी (Depository Participant) रजिस्टर होते हैं।    

यह फर्म एनएसई, बीएसई, एनसीडीएक्स,और एमसीएक्स इत्यादि सभी स्टॉक एक्सचेंज के साथ सूचीबद्ध है। इस प्रकार, एक निवेशक इक्विटी, करेंसी, डेरिवेटिव के साथ-साथ कमोडिटी इत्यादि में भी ट्रेडिंग कर सकता है। 

यदि ग्राहक आधार (Client base) की तरफ देखें तो, वर्तमान समय में लगभग 14,54,167 एक्टिव क्लाइंट (Active Clients) हैं।

लेटेस्ट डाटा के अनुसार, इस स्टॉक ब्रोकर के साथ लगभग 11,500 सब ब्रोकर फ्रैंचाइज़ (Franchise) हैं, जबकि भारत में कुल 110 शाखाएं हैं। 

अगर आप भी इन आकड़ों को देखकर Angel Broking Sub Broker Kaise Bane के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारे साथ बने रहिए।

अगले सेगमेंट में, हम एंजेल ब्रोकिंग सब ब्रोकर बनने की प्रक्रिया (How to become Angel broking Sub Broker Process) के बारे में बात करेंगे।


एंजेल ब्रोकिंग सब ब्रोकर बनने की प्रक्रिया 

आप ऊपर दिए आकड़ों के आधार पर एंजेल ब्रोकिंग के साथ सब ब्रोकर बनने का विकल्प चुन सकते हैं। इसलिए यहाँ बताया गया है कि एंजेल सब ब्रोकर बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए:

एंजेल ब्रोकिंग सब ब्रोकर बनने के लिए बुनियादी योग्यता:

  • आपको न्यूनतम योग्यता यानि 10+2 या HSC (Higher Secondary Certificate) की आवश्यकता होगी। हालांकि, कुछ ब्रोकर न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता के लिए ग्रेजुएशन डिग्री को तवज्जो देते हैं। 
  • फाइनेंशियल मार्केट में उत्कृष्ट ज्ञान होना चाहिए।
  • आपको इकॉनमी और पॉलिटिक्स के बारे में भी पता होना चाहिए, क्योंकि यह स्टॉक मार्केट को बहुत ज्यादा प्रभावित करते हैं।
  • इसके अलावा, एक सब ब्रोकर के पास शानदार बातचीत कौशल होना चाहिए। यह एक USP की तरह काम करेगा क्योंकि आपका काम अपने साथ एक ग्राहक को अपने साथ जोड़ना है।

अगर आप इन सभी बुनियादी पात्रता को पूरा कर लेते है तो आगे की प्रक्रिया निम्नलिखित हैं:

  • आपको नीचे दिए फॉर्म में अपनी बुनियादी विवरण जैसे नाम और मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा।

  • जानकारी दर्ज करने के बाद, आपको एंजेल ब्रोकिंग प्रतिनिधि के साथ एक कॉल की व्यवस्था की जाएगी ।
  • आप एग्जीक्यूटिव के साथ अपने बिज़नेस गोल और बैकग्राउंड की जानकारी शेयर कर सकते हैं।
  • फिर, एंजेल ब्रोकिंग एग्जीक्यूटिव एक अपॉइंटमेंट तय कर सकता है, जहाँ आपको बिज़नेस मॉडल और कमीशन रेट के बारे में बताया जाएगा।
  • इसके अलावा, इनिशियल इन्वेस्टमेंट/ शुरुआती खर्चे के बारे में बताया जाएगा। 
  • एग्रीमेंट पूरा होने के बाद डॉक्यूमेंट वेरीफाई किये जाएंगे। एंजेल ब्रोकिंग में सब ब्रोकर बनने  के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स की सूची निम्नलिखित हैं: 
    • पहचान प्रमाण – आधार कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड।
    • योग्यता मापदंड – ग्रेजुएशन सर्टिफिकेट 
    • सेबी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट 
    • पासपोर्ट साइज फोटो 
    • इनिशियल पेमेंट डिपॉजिट स्लिप 
    • सीए (चार्टर्ड अकाउंटेंट) से रेफरेंस लेटर  
  • इन सभी प्रक्रिया को पूरा करने के बाद एंजेल ब्रोकिंग सब ब्रोकर लॉगिन आईडी और पासवर्ड दिया जाएगा। 

अभी तक आपने Angel broking sub broker kaise bane की पूरी प्रक्रिया समझ गए होंगे। इसके साथ ही आपको इस चीज के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए कि Angel Broking Trade Kaise Kare Hindi

तो चलिए अब बढ़ते हैं और जानते हैं कि कौन सा एंजेल ब्रोकिंग सब ब्रोकर मॉडल उपयुक्त है। 


एंजेल ब्रोकिंग सब ब्रोकर मॉडल 

इस कंपनी के साथ कुल 3 प्रकार के मॉडल हैं। आप अपनी पसंद के अनुसार किसी भी मॉडल का चयन कर सकते हैं। 

निम्नलिखित 3 मॉडल की जानकारी हैं:

1. एंजेल ब्रोकिंग ऑथोराइज़्ड पर्सन

  • इस मॉडल की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया बहुत तेज है। 
  • एंजेल ब्रोकिंग का व्यापक ब्रोकर नेटवर्क फायदेमंद साबित हो सकता है। वर्तमान समय में, ब्रोकर के पास 1100 से अधिक फ्रैंचाइज़ नेटवर्क है। 
  • इस मॉडल में न्यूनतम शुरुआती निवेश लगभग ₹50,000 रुपये का भुगतान करना होगा। यह एक रिफंडेबल अमाउंट है जो आपको फ्रैंचाइज़ खत्म करने के बाद वापस कर दिया जाता है। 
  • ब्रोकर को ग्राहकों के साथ मार्केटिंग करने के लिए रेगुलर ट्रेनिंग करने दिया जाता है। 

2. एंजेल ब्रोकिंग मास्टर फ्रैंचाइज़ 

  • इस मॉडल के अंतर्गत, एक व्यक्ति किसी एक सेक्टर से कभी फ्रैंचाइज़ का फायदा उठा सकता है। 
  • इस मॉडल के तहत आपको सब ब्रोकर मॉडल की तुलना में अधिक निवेश करना होगा। 
  • अगर खर्चे की बात करें तो इनिशियल इन्वेस्टमेंट 1 लाख से 3 लाख के बीच होती है। 
  • इस मॉडल में कमीशन रेट 80% तक होता है। 

3. एंजेल ब्रोकिंग रिमाइज़र मॉडल 

  • इस मॉडल में एक व्यक्ति एंजेल ब्रोकिंग के एजेंट के रूप में काम करता है। 
  • एजेंट का मुख्य कार्य लोगों को एंजेल ब्रोकिंग के साथ डीमैट खाता खुलवाने के लिए रेफरेंस देना होता है।
  • इसमें शुरुआती खर्च अन्य मॉडल की तुलना में कम है। इसकी सब्सक्रिप्शन लेने के लिए ₹30 हजार की इनिशियल अमाउंट जमा करना होता है।       

निष्कर्ष 

एंजेल ब्रोकिंग एक विश्वसनीय ब्रांड है, जो वर्तमान समय में तेजी से विकास कर रहा है। इसलिए इस कंपनी के साथ बिजनेस पार्टनरशिप एक अच्छा विकल्प है।

इस ब्रोकर की व्यापक ऑफलाइन उपस्थिति आपको मुनाफा दे सकती है। एंजेल ब्रोकिंग के पास 3 अलग-अलग मॉडल हैं जहाँ आपको सभी मॉडल में अच्छा कमीशन रेट मिलता है। 

अगर आप Angel Broking Sub Broker Kaise Bane की प्रक्रिया समझ चुके हैं तो अभी एंजेल ब्रोकिंग के साथ बिजनेस पार्टनरशिप शुरू करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × two =