IndiaNivesh Partner in Hindi

अन्य सब-ब्रोकर के विश्लेषण

0.7

ऑफलाइन उपस्थिति

0.7/10

बाजार प्रतिष्ठा

0.7/10

ब्रांड इक्विटी

0.7/10

रेवेन्यू शेयरिंग

0.8/10

विश्वसनीयता

0.7/10

Pros

  • एक प्लेटफॉर्म पर सभी ट्रेडिंग और निवेश प्रोडक्ट
  • सस्ती सिक्योरिटी डिपॉजिट
  • आकर्षक रेवेन्यू शेयरिंग रेश्यो

Cons

  • औसत ग्राहक सेवा
  • मोबाइल ऐप को सुधार की आवश्यकता है

इंडिया निवेश सिक्योरिटीज वर्ष 2006 में स्थापित एक फुल सर्विस स्टॉकब्रोकर है। इंडिया निवेश पार्टनर (IndiaNivesh Partner in Hindi) फुल-फाइनेंशियल सर्विस वाली कंपनी है, जो उचित संख्या में ग्राहकों को सेवाएं देता है।

इस कंपनी की शाखाएँ पूरे देश में फैली हुई हैं।

फाइनेंशियल मार्केट में कंपनी को 11 वर्षों के अनुभव है। इस कंपनी को ब्रोकिंग सेक्टर की पूरी तरह से समझ है। यह बिज़नेस पार्टनर और ग्राहक कंपनी विशेष रूप से स्टॉकब्रोकिंग स्पेस में प्राप्त अनुभव का लाभ उठा सकते हैं।

चलिए, अब इंडिया निवेश पार्टनर के बारे में विस्तार से जानते हैं।


इंडिया निवेश पार्टनर की समीक्षा

अपने ग्राहकों को एक प्रभावी समाधान प्रदान करने के लिए इंडिया निवेश पार्टनर (IndiaNivesh Partner in Hindi) की अनुभवी टीम ने टेक्निकल टूल्स विकसित किए हैं। इनके द्वारा स्टॉक मार्केट को दिशा देने के लिए अनुकूलित विश्लेषण का उपयोग किया जा सकता है।

                                          सब ब्रोकर /फ्रैंचाइज़ की समीक्षा 

ब्रोकर का नाम इंडिया निवेश सिक्योरिटीज
स्थापना का वर्ष 2006 
ऑफिस का साइज 250 स्क्वायर फ़ीट 
पूंजी चाहिए  ₹50,000 and ₹10,000(बिज़नेस मॉडल पर आधारित )
बिज़नेस मॉडल  सब ब्रोकर/फ्रैंचाइज़
कमीशन का शेयर  50%-80% और 10%-30%

यह ब्रोकर ग्राहकों को प्रोडक्ट और सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है। इस ब्रोकर की विशेष सेवाओं में ब्रोकिंग, संस्थागत इक्विटी की बिक्री और ट्रेड और फाइनेंशियल प्रोडक्ट का वितरण शामिल है।

यहां उन प्रोडक्ट की सूची दी गई है जो एक बिज़नेस पार्टनर अपने ग्राहकों को दे सकता है:

इन उपलब्ध प्रोडक्ट को ग्राहकों की आवश्यकताओं के अनुसार अनुकूलित किया जा सकता है। ब्रोकर एनएसई , बीएसई ,एमसीएक्स  , एमसीएक्स -एसएक्स  और एनसीडीईएक्स का एक पंजीकृत सदस्य है।

यह ब्रोकर पोर्टफोलियो प्रबंधन सेवाएं , रणनीतिक निवेश, निजी इक्विटी निवेश, धन प्रबंधन, निवेश बैंकिंग और कॉर्पोरेट सलाहकार में सेवाएं प्रदान करता है।

इस लेख में, हम इंडिया निवेश पार्टनर प्रोग्राम से संबंधित सभी महत्वपूर्ण बिंदुओ, जैसे कि उनके द्वारा पेश किए जाने वाले बिज़नेस मॉडल, रेवेन्यू शेयरिंग रेश्यो, प्रारंभिक निवेश, ऑफ़र, सपोर्ट और कई अन्य चीज़ों के बारे में चर्चा करेंगे ।


इंडिया निवेश पार्टनर के विशेषताएं

इंडिया निवेश पार्टनर (IndiaNivesh Partner in Hindi) पार्टनर के साथ बिज़नेस करने के निम्नलिखित लाभ हैं:

  • आप अपने ग्राहकों को मुफ्त रिसर्च के सुविधा प्रदान करने में सक्षम होंगे। इससे वह आसानी से लाभदायक ट्रेडिंग कर सकेंगे। इसके इलावा वह लंबी अवधि के साथ-साथ अल्पकालिक निवेश निर्णय भी ले सकेंगे।
  • इंडिया निवेश ग्राहकों को प्रोडक्ट और सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है।  इससे वह एक ही स्थान पर  सभी प्रोडक्ट प्राप्त कर सकते है। इससे ग्राहकों को सुविधा होती है और वह किसी भी ट्रेडिंग और निवेश प्रोडक्ट को चुन सकते हैं।
  • आप अपने ग्राहक को वित्तीय विश्लेषण, कंपनियों के प्रबंधन के साथ बैठक आदि के आधार पर अनुकूलित रिसर्च रिपोर्ट प्रदान कर सकते हैं।  वह तिमाही, अर्ध-वार्षिक और वार्षिक रिपोर्ट के साथ निवेश की सिफारिशें भी देते हैं।
  • ब्रोकर आपको दो बिज़नेस मॉडल प्रदान करता है, एक सब-ब्रोकर मॉडल है और दूसरा फ्रैंचाइज़ मॉडल है। कोई भी अपनी पसंद और वित्तीय ताकत के अनुसार किसी भी मॉडल को चुन सकता है।
  • यह फुल सर्विस स्टॉकब्रोकर है  जो  एक आकर्षक रेवेन्यू शेयरिंग रेश्यो  प्रदान करता है।
  • ब्रोकर का ब्रोकरेज चार्ज उद्योग में अन्य ब्रोकरों की तुलना में बहुत कम है।
  • ग्राहकों को अच्छी ग्राहक सेवा प्रदान करता है जिसके माध्यम से वहअपने प्रश्नों के बारे में पूछ सकते हैं।
  • वह ग्राहक को पूर्ण मार्केटिंग और प्रशिक्षण में सहायता प्रदान करते हैं। ट्रेनिंग  के माध्यम से, वे आपके ग्राहकों को उनके द्वारा उपयोग किए जाने वाले ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म और अन्य टेक्नोलॉजी  को समझाने  का प्रयास करते हैं।
  • आपको अपने बिज़नेस के आधार को मजबूत बनाने और आपके  बिज़नेस को अच्छा तरह से चलाकर लाभ कमाने के लिए ग्राहक अधिग्रहण का सपोर्ट  भी मिलेगा।

इंडिया निवेश पार्टनर मॉडल 

इंडिया निवेश पार्टनर (IndiaNivesh Partner in Hindi) दो प्रकार के बिज़नेस मॉडल प्रदान करता है:

  • सब ब्रोकर मॉडल 
  • फ्रैंचाइज़ मॉडल 

सब ब्रोकर मॉडल

इस मॉडल के तहत, आपको सभी आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ एक ऑफिस सेट-अप करना होगा। आपको अपना बिज़नेस शुरू करने और क्लाइंट बनाने के लिए ब्रोकर का ब्रांड नाम मिलेगा।

आपको अपना बिज़नेस करने के लिए अपना ग्राहक आधार बनाना होगा। यदि आप अपना बिज़नेस कम प्रारंभिक निवेश के साथ शुरू करना चाहते हैं तो यह मॉडल आपको सपोर्ट करता है।

आपको एक आकर्षक रेवेन्यू शेयरिंग रेश्यो मिलेगा।

यदि आप कम निवेश के साथ एक बिजनेसमैन बनना चाहते हैं और अधिक से अधिक ग्राहक बना सकते हैं, तो यह मॉडल आपके लिए एकदम सही है।

लाभ:

  • ब्रोकर द्वारा उपयोग किए जाने वाले सभी ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म, उपकरण और टेक्नोलॉजी के उपयोग करने का अधिकार।
  • आप अपने ग्राहकों के लिए ब्रोकरेज शुल्क तय कर सकते हैं।
  • एक आकर्षक रेवेन्यू शेयरिंग रेश्यो।
  • सस्ती इनिशियल इन्वेस्टमेंट।

फ्रैंचाइज़ मॉडल

यदि आप अतिरिक्त कमाई करना चाहते हैं तो यह मॉडल आपको सूट करता है।

आपको बिज़नेस शुरू करने के लिए इन्वेस्टमेंट  करने की आवश्यकता नहीं है। जैसा कि यह मॉडल आपको अपने कार्यालय या घर से कहीं भी काम करने की अनुमति देता है। आपको बस कंपनी के लिए क्लाइंट बनाने  है, और बाकी सारा काम कंपनी द्वारा किया जाएगा।

आपको अपने अर्जित ग्राहकों द्वारा उत्पन्न रेवेन्यू  का एक हिस्सा मिलेगा।

चूंकि काम का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा ब्रोकर द्वारा किया जाता है, इसलिए उन्हें रेवेन्यू  का अधिकतम प्रतिशत प्राप्त होगा। आपको सिक्योरिटी डिपॉजिट  के रूप में एक न्यूनतम राशि जमा करने के लिए कहा जाएगा।

लाभ:

  • किसी प्रारंभिक निवेश की आवश्यकता नहीं है।
  • आप पार्ट टाइम या फुल टाइम जॉब के रूप में काम करें।
  • आपको ग्राहकों द्वारा उत्पन्न रेवेन्यू का एक आकर्षक हिस्सा मिलेगा।
  • कार्य-भार बहुत कम है।
  • आप कहीं से भी काम कर सकते हैं।

इंडिया निवेश पार्टनर का रेवेन्यू शेयरिंग 

इंडिया निवेश पार्टनर (IndiaNivesh Partner in Hindi) के रेवेन्यू शेयरिंग रेश्यो नीचे दिए गए हैं:

सब ब्रोकर मॉडल

यदि आप सब ब्रोकर मॉडल के तहत एक पार्टनरशिप बिज़नेस शुरू करते हैं, तो आपको हिस्सा रेवेन्यू शेयर 50% -80% की लिमिट में मिलेगा।

यह लिमिट तय नहीं है, इसे रेवेन्यू जेनरेशन, अनुभव, सिक्योरिटी डिपॉजिट आदि के आधार पर बढ़ाया जा सकता है।

सबसे अच्छी बात यह है कि आपको रेवेन्यू का 50% न्यूनतम मिलेगा और अधिकतम सीमा बढ़ाई जा सकती है।

मुख्य ब्रोकर आपके बिज़नेस द्वारा जेनरेट रेवेन्यू का शेष 20% -50% हिस्सा रखेगा।

फ्रैंचाइज़ मॉडल:

इंडिया निवेश के फ्रैंचाइज़ के रूप में आप अपने अधिग्रहीत ग्राहकों द्वारा जेनरेट रेवेन्यू का 10% -30% प्राप्त कर सकते हैं। रेवेन्यू शेयरिंग  की लिमिट इंडस्ट्री के अनुसार है।

यह एग्रीमेंट के समय कंपनी के आधार पर भी भिन्न हो सकता है।

चूंकि इस मॉडल के तहत वर्कलोड सीमित है, इसलिए रेवेन्यू प्रतिशत भी उचित है।

                                           इंडिया निवेश रेवेन्यू शेयरिंग                                                    
सब ब्रोकर मॉडल 50%-80%  
फ्रैंचाइज़ मॉडल 10%-30% 

इंडिया निवेश पार्टनर सिक्योरिटी डिपॉजिट 

इंडिया निवेश पार्टनर (IndiaNivesh Partner in Hindi) के साथ बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको सिक्योरिटी डिपॉजिट जमा करना होता है जिसकी जानकारी नीचे दी गयी है:

सब ब्रोकर मॉडल :

सब ब्रोकर मॉडल के तहत बिज़नेस शुरू करने के लिए, आपको ब्रोकर के पास सिक्योरिटी अमाउंट जमा करना होगा। आपको सिक्योरिटी अमाउंट के रूप में न्यूनतम 50,000 जमा करने की आवश्यकता होती है, यदि आप चाहें तो यह धन बढ़ाया जा सकता है।

आपका रेवेन्यू शेयरिंग रेश्यो अधिकतम सीमा तक सिक्योरिटी डिपॉजिट पर निर्भर करता है। सिक्योरिटी डिपॉजिट ब्रोकर की साथ एग्रीमेंट के खत्म होने पर कुछ नॉन रिफंडेबल धन में कटौती करने के बाद वापस किया जाएगा।

फ्रैंचाइज़ मॉडल:

यदि आप इंडिया निवेश के साथ फ्रैंचाइज़ के रूप में शुरुआत करना चाहते हैं, तो आपको 10,000 सिक्योरिटी मनी देनी होगी।

यह एक न्यूनतम राशि है जिसे कोई भी आसानी से वहन कर सकता है। फ्रैंचाइज़ के रूप में एक कार्यालय या अन्य बुनियादी ढाँचे को स्थापित करने की आवश्यकता नहीं है, यह राशि उचित है।

इंडिया निवेश अपफ्रंट कॉस्टिंग

बिज़नेस मॉडल का प्रकार सिक्योरिटी डिपॉजिट/इनिशियल इन्वेस्टमेंट
सब ब्रोकर मॉडल 50,000 या अधिक 
फ्रैंचाइज़ मॉडल 10,000

इंडिया निवेश पार्टनर रजिस्ट्रेशन 

यदि आप इंडिया निवेश पार्टनर (IndiaNivesh Partner in Hindi) का सब-ब्रोकर बनना चाहते हैं, तो निम्नलिखित चरणों का पालन करना आवश्यक है

आप अपने मूल विवरण के साथ वेबसाइट पर उपलब्ध पंजीकरण फॉर्म भरें। आप निम्नलिखित फॉर्म का उपयोग कर सकते हैं:

  • आपकी रुचि को वेरीफाई करने के लिए कॉल सेंटर कार्यकारी आपको कॉल करेगा ।
  • फिर, आपको ब्रोकर की टीम के साथ मीटिंग के लिए ब्रोकर की बिक्री के कार्यकारी द्वारा कॉल की जाएगी।
  • मीटिंग में, आप ब्रोकर के साथ पार्टनरशिप बिज़नेस से संबंधित हर चीज पूछ सकते हैं, जैसे कि आप जिस मॉडल में रुचि रखते हैं, उनके लाभ, रेवेन्यू शेयरिंग रेश्यो , सिक्योरिटी डिपॉजिट, लाभ आदि।
  • आपको सिक्योरिटी डिपॉजिट चेक के साथ वेरीफाई उद्देश्य के लिए सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के लिए कहा जाएगा।
  • सारी वेरिफिकेशन के बाद, दोनों पक्षों के बीच एक एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर किए जाएंगे।
  • अब, वह आपको एक अकाउंट आईडी प्रदान करेंगे।
  • अब आप इंडिया निवेश के साथ अपना पार्टनरशिप बिज़नेस शुरू करने और एक सफल बिज़नेस के साथ एक अच्छा रेवेन्यू प्राप्त करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

इस पूरी प्रक्रिया को पूरा होने में लगभग 8-12 दिन लगेंगे।


इंडिया निवेश पार्टनर का निष्कर्ष

ब्रोकिंग स्पेस में इंडिया निवेश बहुत पुराना नहीं है। यह आपको एक ही जगह पर सभी ट्रेडिंग और निवेश प्रोडक्ट उपलब्ध कराने का अवसर प्रदान करता है।

इंडिया निवेश पार्टनर (IndiaNivesh Partner in Hindi)बिज़नेस शुरू करने के लिए आपको दो विकल्प प्रदान करता है। इंडिया निवेश की रेवेन्यू शेयरिंग रेश्यो आकर्षक और इंडस्ट्री में अन्य ब्रोकर के अनुसार है।

ब्रोकर द्वारा मांग की गई सिक्योरिटी डिपॉजिट बहुत कम है। यदि आप इंडिया निवेश के साथ पार्टनरशिप बिज़नेस शुरू करने की सोच रहे हैं, तो यह चीज़ें आपके लिए बिलकुल अनुकूल है।

कुल मिलाकर, हम कह सकते हैं कि इंडिया निवेश औसत श्रेणी के ब्रोकिंग हाउस में से एक है और कंपनी अपने सब ब्रोकर और फ्रैंचाइज़ के माध्यम से अपने बिज़नेस का विस्तार करने की कोशिश कर रही है।

इसलिए, आपके लिए एक सफल बिज़नेसमैन बनने का यह एक शानदार मौका है।


यदि आप सब ब्रोकर के रूप में बिज़नेस करना चाहते हैं, तो आपको निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा:

आप नीचे प्रदर्शित फार्म में भरकर भी शुरुआत कर सकते हैं और आपको शीघ्र ही एक कॉलबैक प्राप्त होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine − five =