शेयर मार्केट कैसे सीखे

शेयर मार्केट के अन्य लेख

क्या आपके मन भी यह विचार आता है कि शेयर मार्केट कैसे सीखे? किसी भी शुरूआती स्तर के ट्रेडर के दिमाग यह सवाल आता होगा की शेयर मार्केट को कैसे समझें, तो यह स्वाभाविक है क्योंकि निवेश करने से पहले शेयर मार्केट के बारे में पूरी जानकारी के साथ पूरी समझ होना ज़रूरी है।

इसलिए एक ट्रेडर के लिए जरुरी है कि वह Share Market in Hindi में बुनियादी पहलुओं के बारे में सपष्ट जानकारी रखता हो।   

शेयर मार्केट में वही निवेशक ट्रेडिंग कर सकता है जो जोखिम उठाने की क्षमता रखता हो, क्योंकि स्टॉक मार्केट में लाभ के साथ-साथ नुकसान भी होता है। इसलिए कई निवेशक ट्रेडिंग शुरू करने के लिए एक्सपर्ट से शेयर मार्केट टिप्स भी लेते हैं।

यदि आपको शेयर मार्केट के बारे में कुछ विशेषज्ञों के द्वारा टिप्स चाहिए तो आप हमारे आर्टिकल Share Market Expert Advice in Hindi और Share Market Investment in Hindi को पढ़कर शेयर मार्केट में सुरक्षित निवेश के बारे में जानकारी ले सकते हैं ।

इस विस्तृत समीक्षा में हम शेयर मार्केट कैसे सीखे और इसके सभी जरूरी और महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करेंगे। 

फाइनेंशियल सिक्योरिटी की दुनिया में आज अधिक लाभ कमाना हर किसी के लिए सबसे ज़रूरी आवश्यकताओं में से एक है। इसके दो पहलू हैं, पहला– कि आप जितना अधिक से अधिक कमा सकते हैं और दूसरा -उस फंड या एसेट्स को आगे बढ़ाना जो आपको किसी दूसरे ने कमा कर दिया है। 

पैसे कमाने और बचाने के प्रचलित तरीके बहुत पुराने हो चुके हैं।

महंगाई के दबाव के कारण आपको सेविंग और फिक्स डिपॉजिट या रिकरिंग डिपॉजिट (आवर्ती जमा) पर मिलने वाला ब्याज दर बहुत ही कम है। 

इसलिए, अपने पैसों पर अच्छा रिटर्न पाने के लिए निवेश के अन्य तरीकों के बारे में जानना बहुत महत्वपूर्ण है। निवेश करना और स्टॉक मार्केट के बारे में जानना इसका सबसे अच्छा तरीका है।

अगर निवेश स्टॉक मार्केट में करना है तो सबसे जरुरी शेयर बाजार के नियम को समझना होगा।

इसलिए, आइए अब हम यह जानने की कोशिश करते हैं कि शेयर मार्केट कैसे सीखे, यह वास्तव में क्यों महत्वपूर्ण है?

यह भी पढ़ें: सेंसेक्स,


शेयर मार्केट कैसे सीखे हिंदी में

शेयर मार्केट में निवेश और ट्रेड करना थोड़ा जोखिम भरा होता है। शेयर ट्रेडिंग और फॉरेक्स ट्रेडिंग से मिलने वाला रिटर्न भी जोखिम भरा होता है। यदि कोई व्यक्ति शेयर मार्केट में निवेश या ट्रेड ध्यान से नहीं करता है तो वह निवेशक अपनी पूरी पूँजी खो सकता है।  

लेकिन शेयर मार्केट में निवेश करते समय सावधानी बरतने और इसके बारे में अधिक जानकारी को प्राप्त करके इस प्रकार के जोखिम (रिस्क) से बचना बहुत ही आसान है।

इसलिए, शेयर मार्केट के बारे में जानकारी प्राप्त करना और इसमें आने वाली कठिनाइयों के बारे में जानना बहुत ही महत्वपूर्ण है। 

शेयर मार्केट में काम करने के तरीके, इसकी रणनीतियों की जानकारी प्राप्त करके और इसके बारे में मूलभूत बातें जानकर ट्रेड में आने वाले जोखिम और नुकसान को कम किया जा सकता है।

इसलिए आज अपने पाठकों को शेयर मार्केट कैसे सीखे जैसे महत्वपूर्ण विषय पर समीक्षा किया है। 

नीचे दी गई बातों को समझने के लिए आपको पहले शेयर मार्केट के बेसिक शब्द यानी बेयर मार्केट और Bull Market Meaning in Hindi को भी समझना चाहिए।


शेयर मार्केट कैसे सीखे: इन 8 महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखें 

शेयर मार्केट कैसे सीखे-  यह जानने के लिए 8 सबसे महत्वपूर्ण बातों को समझने की कोशिश करते हैं। ध्यान रखिए, आपको इन सभी बातों को ध्यान में रखकर ही शेयर मार्केट में निवेश करना चाहिए साथ ही उन्ही कंपनी में निवेश करे जो सेंसेक्स कंपनी लिस्ट में हो । 

अपने सुविधा के आधार पर ही इन कारकों का उपयोग या चयन करना चाहिए।

1. अपने वित्तीय उद्देश्यों को दिमाग में रखे (Financial Goal)

शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए वित्तीय साधनों का चुनाव करने से पहले आपको नीचे दिए गए रोड मैप के बारे में अवश्य जानना चाहिए। यह रोड मैप कई कारकों पर निर्भर करता है जैसे:

    • करंट इनकम या भविष्य होने वाली इनकम
    • आपकी उम्र
    • एजुकेशन लोन या किसी अन्य तरह के लोन का भुगतान; जैसे किसी भी लोन्स का भुगतान खत्म किया जाना जरूरी है।
    • भविष्य की जरूरतें और उनकी अनुमानित राशि या लागत की जानकारी होनी चाहिए।
  • आपके पास आकस्मिक जरूरत के लिए संचित धन राशि का होना जरूरी है ताकि जरूरत पड़ने पर आप उसका इस्तेमाल कर सकें ।

स्टॉक मार्केट में निवेश करने से पहले, आपको ऊपर दिए गए सभी महत्वपूर्ण बातों के बारे में जानना और इनके  अनुसार अपने वित्तीय योजनाओं को तैयार करना जरूरी है। 

इन सभी बातों का ध्यान रखते हुए आपको शेयर मार्केट के बारे में जानने और इसकी योजनाओं को सीखने का प्रयास करना चाहिए।

यह जानकारी आपको आपकी वित्तीय स्थिति और भविष्य की संभावित आवश्यकताओं को समझने और जानने में आपकी मदद करेगी। इसके साथ ही यह जानकारी आपको, निवेश करने और निवेश के विशिष्ट सेगमेंट को चुनने’ में आपकी मदद करेगी।

इस प्रकार, यदि आप शेयर मार्केट कैसे सीखे को पढ़ रहे है तो उपरोक्त बताई बाते आपकी पहली प्राथमिकता होना चाहिए।

2. निवेश और स्टॉक मार्केट में अलग-अलग तरीकों के बारे में जानकारी 

स्टॉक मार्केट में निवेश करने वाले सभी लोग इन दो प्रमुख श्रेणियों में से एक में निवेश कर सकते हैं या समान रूप से इन दोनों श्रेणियों से भी हो सकते हैं।

क. ट्रेडर  

एक ट्रेडर वह व्यक्ति होता है, जो शॉर्ट -टर्म के शेयरों में ट्रेड करता है। उसे हर घंटे/रोजाना या सप्ताह में कभी-कभी शेयरों के मूल्यों को जानने की ज़रूरत होती है।

ऐसे ट्रेडर्स को शेयरों का तकनीकी रूप से विश्लेषण करने वाले मुख्य बातों को जानने की जरूरत है। साथ ही, उन्हें डेरिवेटिव ट्रेडिंग में ट्रेड करने के लिए बेहतर रणनीति और उनसे जुड़ी समस्याओं को हल करने के लिए कुछ मुख्य बातों को जानने की जरूरत है।

‘शेयर मार्केट को समझना’ इसमें से दिमाग में रखने वाली सबसे मुख्य जरूरत है।

फ्यूचर्स, ऑप्शन्स और इससे जुड़े अन्य सभी रणनीतियों के बारे में जानकारी आपको अतिरिक्त लाभ प्रदान करता है।

ख. निवेशक 

वह व्यक्ति जो मीडियम से लॉन्ग टर्म  के लिए शेयर मार्केट में निवेश करता है उसे निवेशक (इन्वेस्टर) कहते हैं।

एक निवेशक (इन्वेस्टर) को शेयरों के दिन-प्रतिदिन की कीमतों के साथ अपडेट रहने की जरूरत नहीं पड़ती है, क्योंकि वह शेयर मार्केट में बहुत ज्यादा समय तक काम नहीं करता है। और उसे करने के लिए उसके खुद के; अन्य बहुत सारे काम होते हैं। ट्रेड करने के लिए वह पूरे दिन कंप्यूटर स्क्रीन पर नहीं बैठ सकता है।

इन निवेशकों को शेयरों के फंडामेंटल एनालिसिस की मूल बातें पता होनी चाहिए। साथ ही बैलेंस शीट, प्रॉफिट और लॉस स्टेटमेंट, कैश फ्लो स्टेटमेंट, रेश्यो एनालिसिस आदि सहित कंपनियों के फाइनेंसियल स्टेटमेंट पढ़ने के लिए खुद को शिक्षित करना चाहिए।

ट्रेड करने वाले इन निवेशकों या इन्वेस्टर्स को शेयरों के बारे में कुछ मुख्य जरूरी चीजों के बारे में विस्तृत जानकारी होनी चाहिए।

उन्हें खुद को कंपनी के ‘फाइनेंशियल स्टेटमेंट्स के साथ-साथ बैलेंस शीट, लाभ और हानि की जानकारी, कंपनी में होने वाले लेन-देन के बारे में जानकारी और इनके रेश्यो का विश्लेषण इत्यादि के बारे में जानने के लिए खुद को तैयार करना चाहिए।

यह भी पढ़ें : Stock Exchange Meaning In Hindi

इनकी मदद से, कोई व्यक्ति मीडियम से लॉन्ग टर्म में कंपनी के शेयर की कीमत की दिशा का अनुमान लगा सकता है। इसलिए, निवेशक के निवेश करने के बाद, वह हफ्तों या महीनों या शायद तिमाहियों के बारे में सोचना शुरू कर देता है।

जिस श्रेणी में ट्रेडर ट्रेड करता है, निवेशक को उस कैटेगरी के बारे में जानकारी होना बहुत महत्वपूर्ण है। यह इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि, यह एक सही दिशा में ट्रेड या निवेश करने में निवेशक की मदद करता है।

शेयर मार्केट कैसे सीखे का जवाब तब आसान हो जाता है जब आपको पता हो के आप ट्रेडर हैं या निवेशक.


3. जोखिम उठाने की क्षमता 

अब, निवेश करते समय आर्थिक रूप से सुरक्षित रहने के लिए निवेशक को जोखिम उठाने की क्षमता के बारे में जानकारी होनी ज़रूरी है। एक व्यक्ति किस तरह का रिस्क या जोखिम ले सकता है यह उसको मिलने वाली प्राथमिकताओं और लेन-देन पर निर्भर करता है।

लेकिन व्यक्ति, वह राशि तय करता है जिसको शेयर मार्केट में इन्वेस्ट या निवेश करके उस राशि पर जोखिम उठा सकता है, और दूसरा वह राशि तय करता है जिसके द्वारा वहां शेयर मार्केट और निवेश को सीख सकता है।

आपको निवेश से जुड़े जोखिम को समझने की ज़रूरत है।

ट्रेड में होने वाले जोखिम और इसमें होने वाले नुकसान की जानकारी आपको शेयर मार्केट में ट्रेड करने के लिए सही शेयर को चुनने में मदद करता है। उदाहरण के लिए- बायो टेक्नोलॉजी कंपनी के शेयर बहुत अधिक जोखिम भरे माने जाते हैं।

इसके बारे में लगाए गए अनुमान 80% से 90% तक असफल रहते हैं। बायो-टेक्नोलॉजी स्टॉक का अनुमान लगाने में कंपनियां भी असफल रहती हैं। इसलिए ऐसे स्टॉक्स या शेयरों में निवेश करना बहुत ही ज्यादा जोखिम भरा माना जाता है।

लेकिन ऐसी कंपनियों के स्टॉक्स पर कम समय में अपेक्षाकृत अधिक रिटर्न प्राप्त करने की संभावना भी बहुत ज्यादा है।


4. विभिन्न प्रकार के फ़ाइनेंशियल प्रोडक्ट के बारे में जानकारी 

यदि कोई ट्रेडर अपना वार्षिक लक्ष्य और जोखिम उठाने की क्षमता को स्पष्ट करता है तब, उसे अलग-अलग शेयर मार्केट में प्रयोग होने वाले अलग अलग वित्तीय साधनों के बारे में जानना शुरु कर देना चाहिए।

यह फ़ाइनेंशियल मार्केट का एक महत्वपूर्ण अंग है। जोखिम उठाने की क्षमता आपके होने वाले लाभ या नुकसान को निर्धारित करता हैं। कोई भी व्यक्ति अपने जीवन की स्थिति और जोखिम उठाने की क्षमता के आधार पर अलग – अलग या किसी एक सेगमेंट में निवेश करने का निर्णय ले सकता है।

इसके कुछ विकल्प इस प्रकार हैं- म्यूच्यूअल फंड, सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (एसआईपी), बीमा डाक विभाग की कुछ योजनाएं इत्यादि। आपको अपने पैसे को सही अनुपात में अलग-अलग सेगमेंट में निवेश करने की सलाह दी जाती है।

किसी निवेशक के जोखिम उठाने की क्षमता यह निर्धारित करती है कि वह किस प्रकार के वित्तीय साधनों में निवेश करना चाहता है।

कई  ऐसे अनुभवी हैं जो आपके फंड को अलग-अलग साधनों में निवेश करने में आपकी मदद कर सकते हैं इससे जोखिम कम हो जाता है।

यदि आपके पास कुछ निश्चित राशि मौजूद है जिसका आप स्टॉक मार्केट में निवेश करना चाहते हैं, तो आपको स्टॉक मार्केट के बारे में जानना और सीखना बहुत महत्वपूर्ण है।


5. एडवाइजरी से सलाह लेना

अब एक तरफ आप ये जानना चाहते हैं के शेयर मार्केट कैसे सीखे और दूसरी तरफ दुनिया भर से पूछेंगे के कहाँ पैसा लगाया जाए. इसमें ज़्यादा फायदा नहीं है.

जो व्यक्ति स्टॉक मार्केट में निवेश करना चाहते हैं, भारतीय शेयर मार्केट में उन व्यक्तियों के लिए ऐसे बहुत सारे सलाहकार उपलब्ध है, जो कि शेयर मार्केट में निवेश और ट्रेड करने के लिए सबसे सटीक सुझाव प्रदान करने की दावा करते हैं।

इन विकल्पों में टेलीविजन पर समाचार चैनलों में दिखाई देने वाले स्टॉक सलाहकार और विश्लेषक भी शामिल है। आप स्टॉक से संबंधित टिप्स और सुझाव को ईमेल और मैसेज द्वारा भी प्राप्त कर सकते हैं।

लेकिन इस तरह की सलाह के साथ सबसे बड़ी समस्या यह है कि उनके द्वारा दी जाने वाली टिप्स अच्छी नहीं होती हैं, और कभी-कभी यह वर्तमान समय से काफी पहले की होती हैं।

इसके अलावा इस सेवा के लिए ‘उनके द्वारा’ लिया गया शुल्क ग्राहकों को दोहरा नुकसान देता है। टेलीविजन शो पर बैठे सलाहकारों तथा शेयर विश्लेषकों द्वारा दिए गए किसी भी सुझाव पर आंख बंद करके भरोसा नहीं करना चाहिए।

किसी को खुद के अनुभव और समझ के आधार पर शेयर मार्केट को सीखने की जरूरत है और निवेश करने से पहले इसके बारे में एक अच्छी रणनीति बनाने और गहन शोध की जरूरत है।


6. Share Market Books in Hindi

कुछ दशक पहले अगर कोई पूछता था के शेयर मार्केट कैसे सीखे तो सीधे – सीधे कुछ किताबों का नाम ले लिया जाता था. आज भी किताबें पढ़ी जातीं है, चाहे कम ही सही.

यदि आप किताबों के माध्यम से सीखना पसंद करते हैं, तो शेयर मार्केट की बहुत सी किताबें है जिन्हें आप अपने स्टॉक मार्केट की जानकारी प्राप्त करने के लिए देख सकते हैं।

यह आपके वर्तमान समय में शेयर मार्केट की समझ के निवेश सेग्मेंट्स पर भी निर्भर करता है।

शेयर मार्केट को सीखने के लिए आमतौर पर संदर्भित किताबों में से कुछ निम्नलिखित हैं:

  • समझदार निवेशक
  • शेयर मार्केट के बारे में आप जो कुछ जानना चाहते थे।
  • नुकसान से कैसे बचें और शेयर मार्केट में लगातार कमाई करें।
  • शेयरों में पैसा कैसे लगाएं।
  • मनी ट्रेडिंग डेरिवेटिव कैसे बनाएं।

ऐसी कई पुस्तकें हैं जिन्हें आप चुन सकते हैं, लेकिन यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आप प्रैक्टिकल रूप से सीखी गई प्रत्येक अवधारणा को प्रैक्टिकल रूप से लागू भी  करें। 

यहां तक कि अगर आप एक नुकसान का सामना करते हैं, तो यह ठीक है लेकिन आपको गलती को याद रखना चाहिए और उस पर ध्यान देना चाहिए।

और, पुस्तकों से सीखने का कोई अतिरिक्त मूल्य भी नहीं होगा।


7. शेयर मार्केट की एप्लीकेशन 

निश्चित रूप से ऐसे ऐप हैं जो शेयर मार्केट की मूल बातें और बुनियादी बातों को सीखने में आपकी मदद कर सकते हैं।

आजकल लोगों के पास अनेक विकल्प होते हैं और ये विकल्प उस तरह के कंटेंट पर भी लागू होते हैं जो वे पढ़ना चाहते हैं।

कुछ शेयर मार्केट के बारे में पढ़ना पसंद करते हैं, जबकि अन्य वीडियो देखना और सीखना पसंद करते हैं। फिर, कुछ लोग हैं जो अलग-अलग पॉडकास्ट के माध्यम से सुनना पसंद करते हैं।

हालाँकि, वहाँ कुछ अच्छे ऐप हैं जो आपको शेयर मार्केट के बारे में सिखाते हैं,

जैसे ‘स्टॉक पाठशाला’ नामक एक ऐप उपलब्ध है, जो खुद को शिक्षित करने और निवेश से संबंधित अपनी राय बनाने के उद्देश्य से सही दिखाई देता है। इसके बारे में पूरी समीक्षा और इस का पूरा विवरण दूसरे लेख में शामिल किया गया है। 

फ़िलहाल, यह ऐप विभिन्न प्रकार के कोर्स, आर्टिकल, वीडियो, ऑडियो लेसन आदि साथ आता है। ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करें और अपने संदर्भ के लिए इसकी जाँच करें।


8. शेयर मार्केट सीखने का कोर्स

शेयर मार्केट की अवधारणाओं की पूरी समझ के लिए कई कोर्स उपलब्ध है। एक बार जब आप इस तरह के प्रोफेशनल डेमो को पूरा करते हैं, तो आप अपने ट्रेडों और निवेश से जुड़े निर्णय सरलता से ले सकते हैं।

जहाँ तक इन कोर्स को प्राप्त करने की बात है, तो यहाँ विभिन्न प्रकार के विकल्प हैं जिनसे आप इनको प्राप्त कर सकते हैं। 

आप हर रोज़ क्लास के साथ इस फुल-टाइम कोर्स में प्रवेश कर सकते हैं या आप मोबाइल ऐप सर्विस की सदस्यता भी ले सकते हैं। 

जबकि पहले आपको दिए गए विषय पर क्लासेज की एक संख्या प्रदान की जाएगी सकते हैं इसके शुल्क ज्यादा भी हो सकते हैं। लेकिन बाद में इसके शुल्क कम होंगें और आपके स्मार्टफोन के माध्यम से भी इसका लाभ उठाया जा सकता है।

स्टॉकपाठशाला एक ऐसा ऐप है जो फ्री और पेड स्टॉक मार्केट कोर्स उपलब्ध कराता है और आप अपनी पसंद के आधार पर इसे सब्सक्राइब कर सकते हैं।


निष्कर्ष:

किसी की मेहनत से की गई बचत को बढ़ाने के लिए भारतीय मार्केट में उपलब्ध वित्तीय साधन के बारे में जानना चाहिए। किसी को भी निवेश को लेकर अपने वित्तीय उद्देश्य और जोखिम के बारे में पूर्ण स्पष्टता रखनी चाहिए।

शेयर एक प्रकार का तलवार है जो आपके जीवन में गरीब से अमीर बनने की कहानी साबित हो सकता है, और साथ ही साथ यह अमीर से गरीब भी बना सकता है।

इसलिए, यदि कोई समझने और उसमें निवेश करने का फैसला करता है, तो उस व्यक्ति को शेयर मार्केट के बारे में अधिक से अधिक जानकारी होनी चाहिए और निवेश करते समय सतर्क रहना चाहिए।

शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए, शेयरों के संबंध में अच्छे सुझाव देने वाले स्टॉक एडवाइजरी और टीवी समाचार चैनलों की भरमार है।

लेकिन किसी और की सलाह पर निर्भर होकर ‘अपने पैसों का निवेश’ करते समय सावधान रहना चाहिए। इसके लिए सबसे जरूरी चीज यह है, कि आप शेयर मार्केट को लेकर अपनी जानकारी को बढ़ाएं और ये जानें के शेयर मार्केट कैसे सीखे।

हमें निवेश और ट्रेड के सभी सिद्धांतों का उपयोग करने के लिए शिक्षा के ‘विश्वसनीय और व्यावहारिक’ स्रोत की आवश्यकता है। 

जैसे कि ऊपर बताया गया है, उसके अनुसार ‘शेयर मार्केट में’ निवेश सिखाने का एक मात्र साधन ‘स्टॉक पाठशाला’ है। यह एक मोबाइल ऐप है और इस ऐप का अधिक लाभ लेने के लिए, ऐप के द्वारा प्रदान की जाने वाली अलग-अलग सेवाओं पर आपको देना चाहिए।

जागरूक रहे, समृद्ध रहे!

यदि आप शेयर मार्केट में ट्रेडिंग चाहते हैं, तो एक कदम आगे ले जाने में हम आपकी सहायता करेंगे:

यहां अपना बुनियादी विवरण दर्ज करें और आपके लिए एक कॉल बैक की व्यवस्था की जाएगी।शेयर बाजार कैसे सीखे

Summary
Review Date
Reviewed Item
शेयर बाजार सीखें
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen + 18 =