ऑप्शन ट्रेडिंग टिप्स

डेरीवेटिव के बारे में और जानें

ऑप्शन के बारे में यह एक व्यापक मिथक है कि वे जटिल और जोखिम भरे होते हैं। हालांकि, वास्तविकता यह है कि विभिन्न तरीकों से शेयरों में ट्रेड करने के लिए ऑप्शन एक साधन से ज्यादा कुछ नहीं हैं। अगर आप ऑप्शन ट्रेडिंग सीखने की शुरुआत कर रहे है तो ये 5 ऑप्शन ट्रेडिंग टिप्स आपके लिए बहुत उपयोगी होने वाली है। 

Option Trading Tips in Hindi

ऑप्शन ट्रेडिंग में सफलता प्राप्त करने के लिए चाहिए एक सही शुरुआत, सही स्ट्रेटेजी का चयन और ऑप्शन ट्रेडिंग के नियमों (option trading rules in hindi) का पालन करना

अब बहुत से ट्रेडर्स इस असमंजस में रहते है कि ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करते हैं और इसकी जटिलताओं को देखते हुए शुरुआत में ही डर जाते है, लेकिन अगर ऑप्शन ट्रेडिंग करते हुए सही टिप्स का इस्तेमाल किया जाए तो ये आपके मुनाफे को कई गुना तक बढ़ा सकता है

इसके साथ ही यहाँ पर है कुछ ऑप्शन ट्रेडिंग टिप्स जो आपको ऑप्शन ट्रेडिंग करने में और उसमे सफलता प्राप्त करने में मदद करते है

टिप 1: ऑप्शन वास्तव में स्टॉक ट्रेडिंग के अलावा अतिरिक्त विकल्प है

एक ट्रेडर के रूप में, क्या आप कभी ऐसी स्थिति में रहे हैं जहाँ आप सुनिश्चित नहीं थे कि आपको स्टॉक रखना चाहिए या उसे बेच देना चाहिए? जिस किसी ने भी पहले ट्रेड किया है, उसे निश्चित रूप से इस प्रश्न का सामना करना पड़ा है और कई बार, ये सभी विचार तब आते है जब ऑप्शन के बारे में नही जानते हो, क्योकि अगर आप जानते है तो आपको पता होगा कि ऑप्शन की मदद से आप अपनी पोजीशन को हेज (hedging) कर सकते है।

अकेले स्टॉक ट्रेडिंग के साथ, आप शेयरों को खरीदकर और कुछ समय बाद उसे बेचने तक ही सीमित है फिर चाहे आपका मुनाफा हुआ हो या नुकसान। और स्टॉक ट्रेडिंग में आप तभी मुनाफा कमा सकते है जब स्टॉक का प्राइस आपके ख़रीदे हुए दाम से ऊपर हो, लेकिन ऑप्शन ट्रेडिंग में मार्केट ऊपर की भी दिशा में जाए या नीचे या घूम कर एक ही जगह रहे तब भी आप सही स्ट्रेजी का उपयोग कर मुनाफा कमा सकते है। 

स्टॉक ट्रेडिंग (trading meaning in hindi) की बात करे तो इसमें स्टॉक की दिशा का सही अनुमान लगाने की आपकी क्षमता में निहित है, जबकि ऑप्शन के साथ, आप कम जोखिम और कम पूंजी के साथ लंबी या छोटी अवधि के लिए ट्रेड कर सकते हैं। ये अतिरिक्त लाभ आपको स्टॉक ट्रेडिंग में नही मिलता हैं।

लेकिन यहां मुख्य बात यह है कि ऑप्शन अतिरिक्त विकल्प से ज्यादा कुछ नहीं हैं। जो ट्रेडर्स कम जोखिम और कम पूंजी के साथ ट्रेड करना चाहते है वह उनके लिए एक अतिरिक्त विकल्प है।  


टिप 2: ऑप्शन आपके पक्ष में स्टॉक ट्रेडिंग से ज्यादा लाभ दे सकते हैं

मानो या न मानो, ऑप्शन ट्रेडिंग आपको कम जोखिम के साथ ज्यादा मुनाफा करने की अनुमति देता है, जिसका अर्थ है कि आप ऐसे ट्रेड कर सकते हैं जहां स्टॉक ट्रेडिंग करने पर आपके लाभदायक होने की संभावना 50% हो वही ऑप्शन में आपके जोखिम को कम कर स्टॉक की तुलना में ऑप्शन को अधिक लाभप्रद बना सकते हैं। 

जब आप कोई स्टॉक खरीदते हैं, तो आपको लाभ के लिए स्टॉक को बढ़ने की आवश्यकता होती है बल्कि जब आप किसी ऑप्शन को बेचते हैं, आपको लाभ के लिए स्टॉक को गिरने की आवश्यकता होती है। तो कल्पना कीजिए, आप एक स्टॉक पर बुलिश हैं और अब आपके पास पैसा बनाने की क्षमता है यदि स्टॉक बढ़ता है। लेकिन अगर स्टॉक स्थिर रहता है, या थोड़ी मात्रा में गिरता है, तो आप मुनाफा नही बना सकते है।

लेकिन आप ऑप्शन ट्रेडिग में अगर सही स्ट्रेंजी और रिस्क को मैंनेज कर ट्रेड करते है तो बुलिश, बेयरिश या स्थिर मार्केट में भी आप मुनाफा कमा सकते है।

अधिकांश इस बात से सहमत होंगे कि वॉरेन बफेट निवेश का निर्णय लेने पर सफलता की संभावना अपने पक्ष में रखते हैं। आप जो नहीं जानते होंगे वह यह है कि वह दुनिया में ऑप्शन के सबसे बड़े उपयोगकर्ताओं में से एक है। यदि सही तरीके से उपयोग किया जाता है, तो ऑप्शन आपको कई अवसर प्रदान करते हैं जो आपको ट्रेडिग करियर में बढ़त प्रदान करते हैं।


टिप 3: डर (Fear) और लालच (Greed) भी ऑप्शन ट्रेडर्स के लिए बड़ा मुनाफा हो सकता है

वॉरेन बफेट का मानना है कि “जब लोग डरे हो तब आप लालची बन जाओ, और जब लोग लालची हो तब आप डर कर रहे।” सबसे लाभदायक ट्रेड ढूंढने की लिए इस कहावत का उपयोग किया जा सकता है। ऐसे समय होते हैं जब स्टॉक के लिए दृष्टिकोण बेहद निराशाजनक होता है और ऑप्शन ट्रेडर्स के लिए बड़ा मुनाफा करने का अवसर होता है। 

आपने कोविड के समय देखा होगा कि जब मार्केट बहुत बुरी तरह क्रैश हुआ था और सभी लोग डरे हुए थे, तब दूसरी तरफ कुछ ऐसे ऑप्शन ट्रेडर्स भी थे जिन्होने उसी दौरान इतना पैसा कमा लिया जितना कि उन्होने पूरे साल में मुनाफा नही किया होगा। और जब मार्केट अपने बॉटम पर था सभी लोग अपने होल्डिग्स डर की वजह से बेच रहे है और दूसरी तरफ कुछ लोग भारी खरीददारी कर रहे थे। और फिर अभी आप देख ही सकते है मार्केट अभी कहा है।

इसलिए जब लोग डरे हो वही मौका है कुछ बड़ा करने का।  

हम सभी ने देखा है कि समाचार रिपोर्टों, बाजार के शोर आदि पर शेयरों में उछाल और गिरावट आता है – इस तरह की घटनाओं के दौरान ऑप्शन का उपयोग करने में सक्षम होने से आकर्षक लाभ की अपेक्षा की जा सकती हैं जहां लालच और भय जानकार ट्रेडर्स को अवसर को पहचानने की जरुरत हैं। बाजार की अस्थिरता का लाभ उठाने के लिए तैयार रहना एक ऐसी संपत्ति है जिसका उपयोग एक अनुभवी ट्रेडर जानता है।

आप हमेशा लाभ के पक्ष में नहीं होंगे, लेकिन यदि आप लगातार सहीअवसरों की तलाश करते हैं तो आपको सफल ऑप्शन ट्रेडर बनने से कोई नही रोक सकता है। और ट्रेडिंग एक लंबा गेम है इसलिए अपना ध्यान “गेमलिंग” से हटाकर एक सफल ट्रेडर बनने पर लगाए। 


टिप 4: ऑप्शन पोर्टफोलियो को बढ़ा सकते हैं इसके जैसा अन्य कोई टूल उपलब्ध नहीं है

पोर्टफोलियो को बढ़ाने का मतलब यह नहीं है कि बहुत अधिक जोखिम जोड़ा जाए। इसके बजाय, इसका मतलब केवल जोखिम को कम करने और पोर्टफोलियो में आय जोड़ने के लिए ऑप्शन का उपयोग करना हो सकता है, जो अकेले ट्रेडिंग स्टॉक के साथ संभव नहीं है। कभी–कभी ऐसा होता है कि स्टॉक मार्केट क्रैश होने लगता है और आपने अपने पोर्टफोलियो में कुछ अच्छे स्टॉक्स रखे जो आप लॉन्ग टर्म के लिए रखने वाले है ऐसे में आपके पोर्टफोलियो में भी भारी गिरावट आने लगती है।

क्योंकि जैसे–जैसे मार्केट गिरेगा आपके पोर्टफोलियो में नुकसान बढ़ता चला जायेगा। आप इस तरह के मार्केट क्रैश को नही रोक सकते है लेकिन आपने अपने पोर्टफोलियो में जो भी स्टॉक्स रखे है उनके ऑप्शन खरीदकर आप उस नुकसान को रोक सकते।

जिस तरह एक कार मैकेनिक केवल उतना ही अच्छा होता है जितना कि उनके उपकरण उन्हें होने देते हैं, ठीक उसी तरह ऑप्शन ट्रेडर्स को पोर्टफोलियो को बढ़ाने के लिए सही समय पर सही टूल का उपयोग करना होता है। किसी भी स्तर के ऑप्शन ट्रेडर के लिए प्रभावी स्ट्रैटेजी उपलब्ध हैं, पोर्टफोलियो को नुकसान से बचाने के लिए ऑप्शन ट्रेडर्स को शायद ही कभी जटिल होना पड़ता है।


टिप 5: धैर्य ऑप्शन ट्रेडर्स का लाभ का मार्ग है

 

अच्छे ट्रेड होते हैं, खराब ट्रेड होते हैं, ट्रेड जीतते हैं और ट्रेड हारते हैं। ऐसे अच्छे ट्रेड होंगे जो नुकसान बदल जाते है (और यह ठीक है), और ऐसे बुरे ट्रेड होंगे जो लाभ में बदल जाते है। महत्वपूर्ण यह महसूस करना है कि कितना धैर्य रखते है।

एक ऐसा क्षेत्र जहां स्टॉक ट्रेडर और ऑप्शंस ट्रेडर संघर्ष कर सकते हैं, वह है धैर्य—वे हमेशा सक्रिय रूप से ट्रेडिंग करने की आवश्यकता महसूस करते हैं क्योंकि सही समय पर सही ट्रेड में  होना जरुरी है उतना ही ज्यादा लाभ के लिए धैर्य रखना भी सफलता की संभावना को बढ़ा देता है।

ऑप्शन ट्रेडिंग में धैर्य अलग नहीं है। यदि आपके पास कोई प्लान नहीं है और लापरवाही से ट्रेड करते हैं, तो आपके नुकसान होने की ज्यादा संभावना है। लेकिन अगर आप सही स्टॉक में सही सेटअप के साथ आने की प्रतीक्षा करते हैं, तो यह आपकी ट्रेड को लाभ में बदल सकती है।

अच्छे ट्रेडों और बुरे ट्रेडों के बीच अंतर की पहचान करना सबसे बड़ी मुस्किल है। एक बार जब आप स्मार्ट ट्रेडिंग पर ध्यान केंद्रित करना शुरू कर देंगे, तो आपको ये सारे अंतर समझ आने लगते है। 

कहते है न “Time is Money” ये वाक्य ऑप्शन बेचने बालो के लिए सही है और ऊपर जो भी बताया कि धैर्य आपके लाभ को बढ़ा सकता है, ये सिर्फ बेचने बालो के लिए है क्योंकि जैसे –जैसे theta decay होता है ऑप्शन सैलर को मुनाफा होता है।

तो अगर आप ऑप्शन खरीदार है तो इस बात का हमेशा ध्यान रखे कि समय आपका सबसे बड़ा दुश्मन है क्योंकि जितने देर आप अपने ऑप्शन को होल्ड रखेगे उतनी ही ऑप्शन की कीमत कम होती जायेगी। एक ऑप्शन खरीददार के लाभ कमाने की प्रवृति बहुत कम होती है इसलिए तभी किसी ट्रेड में प्रेवेश करे जिसमें आपको कोई अच्छा सेटअप मिल रहा हो।


निष्कर्ष 

ऊपर दी गई सभी टिप्स एक ही तरह इशारा करती है कि एक ऑप्शन खरीददार सिर्फ़ तभी पैसा बना सकता है जब मार्केट में तेज मोमेंटम हो, चाहे वह ऊपर की तरफ हो या नीचे की तरफ्। वही ऑप्शन बैचने बाला तब भी पैसा कमायेगा जब मार्केट कही नही जा रहा होगा।

तो अगर आप ऑप्शन सैलर है तभी टिप -5 को फोलो करे और अगर आप ऑप्शन खरीददार है तो आप अब तक समझ ही गए होंगे कि समय आपका सबसे बड़ा दुश्मन है। तो कैसे लगे आपको 5 ऑप्शन ट्रेडिंग टिप्स हमें जरुर बताएं।


ऑप्शन ट्रेडिंग या शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए यदि आप एक सही स्टॉकब्रोकर ढूंढ रहे है तो हमे संपर्क करे और हम आपको एक सही ब्रोकर और उसके साथ अकाउंट खोलने में मदद करेंगे:

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + fourteen =