शेयर खरीदने का तरीका

शेयर मार्केट बाजार में काफी प्रचलित शब्द है शेयर मार्केट के जानकार निवेश के जरिए काफी ज्यादा मुनाफा कमाते हैं, लेकिन नए लोग अक्सर सोचते हैं की शेयर मार्किट में मुनाफा कैसे कमाएं।

शेयर बाजार में निवेश करना मुनाफे का काम है लेकिन शेयर में निवेश करने से पहले आपको शेयर खरीदने का तरीका की जानकारी होना आवश्यक है क्योंकि आप शेयर खरीद तो लेते हैं पर उससे मुनाफा नहीं कमा पाएंगें।

शेयर मार्केट को अगर सरल शब्दों में कहा जाए तो शेयर मार्केट में हम NSE, BSE पर पंजीकृत कंपनी के शेयर खरीद लेते हैं और फिर उसे ऊँचे दामों में शेयर की बिक्री कर मुनाफा कमा सकते हैं। साथ ही आप एक्सचेंज के इंडेक्स जैसे की निफ़्टी 50 में भी निवेश कर सकते है। आज इस लेख में जानेंगें की शेयर के साथ निफ़्टी 50 में निवेश करे करें।

आइए, इस सन्दर्भ में हम शेयर खरीदने का तरीका, ऑनलाइन शेयर कैसे खरीदें, शेयर मार्केट में निवेश कैसे करें, शेयर खरीदने के नियम इत्यादि के बारे में विस्तृत रूप से चर्चा करेंगे।

How to Invest in Share Market in Hindi?

शेयर खरीदने से पहले आपको शेयर मार्केट‘से जुड़े महत्वपूर्ण जानकारी रखना आवश्यक है आपको सही शेयर में निवेश करने से पहले आपको उस विशेष शेयर के बारे में उचित अनुसन्धान करना जरुरी है।

  • सही स्टॉक ब्रोकर का चुनाव करें- शेयर खरीदने के लिए आपको सही ब्रोकर चुनने की जरुरत है. स्टॉक एक्सचेंज में बिना मध्यवर्ती संस्थाओं के सपोर्ट के लेन-देन करने की अनुमति नहीं है बाजार में बहुत सारे फर्म्स शेयर या स्टॉक्स खरीदने की सेवा प्रदान करते हैं, एक ब्रोकर को भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड अधिनियम (सेबी) (सेबी स्टॉक एक्सचेंज में शेयर खरीदने और बेचने का अधिकार की अनुमति रखता है) द्वारा पंजीकृत और लाइसेंसड होना अनिवार्य है।
  • पैन कार्ड अनिवार्य है- शेयर खरीदने के लिए आपके पास पैन कार्ड होना अनिवार्य है, एक स्थायी खाता संख्या आवश्यक शर्त है। यह एक यूनिक 10 अंक वाली संख्या होती है जिन्हें किसी व्यक्ति उनके कर देनदारियों (Tax Liabilities)का आकलन करने के लिए टैक्स अथॉरिटीज द्वारा सौंपा जाता है।
  • डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाएं– तीसरे स्टेप्स में आपको शेयर खरीदने के लिए डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट की जरुरत है ब्रोकर को चुनने के बाद आपको डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट की जरुरत होगी। आप फिजिकल रूप में शेयर रख नहीं सकते। उन्हें डीमैटरियलिज़्ड स्टेट में रखने की आवश्यकता होती है, इसके लिए आपको डीमैट अकाउंट की जरुरत है शेयर्स खरीदने और बेचने के लिए आपको एक ट्रेडिंग अकाउंट की भी आवश्यकता होती है यह शेयर खरीदने और बेचने के लिए मध्यस्थ की सुविधा देता है।
  • UIN- यदि आप ज्यादा निवेश करना चाहते हैं- यदि आप बड़ी रकम निवेश करना चाहते है, आपको शेयर्स खरीदने के लिए UIN नम्बर की आश्यकता होती है। यदि आप एक समय में 1,00,000 या उससे ज्यादा निवेश करना चाहते है आपको UIN या यूनिक आइडेंटिफिकेशन नम्बर की जरुरत होगी।

सही शेयर चुनें और खरीदें

शेयर्स खरीदने और बेचने के लिए आपको सही शेयर्स खरीदने और बेचने की जरुरत है, शेयर खरीदने और बेचने के लिए आपको अपने ब्रोकर को सूचित करने की जरुरत है की कौन सा शेयर, शेयर्स की संख्या, शेयर्स किस कीमत पर खरीदना चाह रहें हैं।

उदाहरण के तौर पर, यदि आप टाटा के शेयर खरीदना (Tata ke share kaise kharide) चाहते हैं तो आपको कुछ जानकारी ब्रोकर को देनी होगी |

जैसे अगर आप टाटा के 20 शेयर्स खरीदना चाह रहें प्रत्येक शेयर के दाम 2425 रुपए हैं, आपको ब्रोकर को सूचना देने की जरुरत है शेयर: टाटा संस प्राइवेट लिमिटेड : शेयर की संख्या 20 कीमत: 895।

ऑनलाइन ब्रोकर्स अक्सर ग्राहक सेवा की सुविधा प्रदान करते है जहाँ आप आसानी से आर्डर प्लेस कर सकते है यदि आप इंटरनेट से नहीं आर्डर कर पा रहे हैं।

शेयर्स की बिक्री और खरीद केवल दो स्टॉक ऐक्सचैंजेस में होती है: बी एस इ ( बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज) और एन एस इ (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज)  आपको अपने ब्रोकर को दर्शाने की जरुरत होती है, जैसाकि आमतौर पर दोनों स्टॉक एक्सचेंजेस शेयर्स की कीमत में अंतर होता है।

आपको शेयर्स खरीदने के लिए, आपको सेबी के अनिवार्य नियम के अनुसरण करने की जरुरत है आपको स्टॉक मार्केट में ट्रेडिंग के लिए हमेशा ट्रस्टेड ब्रोकर का चुनाव करना चाहिए।


Nifty 50 me Invest Kaise Kare

निफ़्टी 50 (Nifty 50 kya hai) शेयर मार्केट का इंडेक्स है जो टॉप 50 कंपनी के आधार पर ट्रेंड करता है। अब इसमें लिस्टेड कम्पनीज के साथ आप निफ़्टी ५० में भी ट्रेड कर सकते है।

जानना चाहते है कैसे?

उसके लिए आपको स्टॉक मार्केट में डेरिवेटिव्स ट्रेडिंग (derivatives meaning in hindi) का विकल्प प्रदान किया जाता है, जिसमे ट्रेंड के अनुसार आप फ्यूचर और ऑप्शन में ट्रेड पोजीशन ले सकते है। निफ़्टी 50 इंडेक्स की एक्सपायरी हर हफ्ते होती है जिससे आपको मुनाफा कमाने के कई विकल्प मिलते है।

इसके अलावा अगर आप म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने की सोच रहे है तो उसके लिए निफ़्टी इंडेक्स फंड्स का विकल्प होता है जो आपको टॉप इंडेक्स फण्ड में निवेश करने का और रिटर्न कमाने का विकल्प प्रदान करता है

शेयर में ट्रेड या निवेश करने की तरह ही निफ़्टी ५० में निवेश के लिए भी आपको स्टॉक ब्रोकर के साथ डीमैट खाता खोलना होता है और साथ ही फ्यूचर और ऑप्शन सेगमेंट को एक्टिवेट करने के लिए ज़रूरी दस्तावेज़ जैसे; इनकम स्टेटमेंट, सैलरी स्लिप आदि देनी होती है

इसके बाद आप ट्रेड करने के लिए फ्यूचर या ऑप्शन में से एक विकल्प और एक्सपायरी डेट को चुने। ऑप्शन ट्रेड (option trading in hindi) करने के लिए आपको अलग-अलग स्ट्राइक प्राइस और कॉल और पुट का विकल्प मिलता है।

तो अगर आप निफ़्टी के बुलिश ट्रेंड में में ऑप्शन ट्रेडिंग करना चाहते है तो आपको कॉल ऑप्शन खरीदने और पुट ऑप्शन बेचने का विकल्प मिलता है। इसके विपरीत बेयरिश ट्रेंड में आप पुट ऑप्शन खरीद और कॉल ऑप्शन बेच सकते है।


ऑनलाइन शेयर कैसे खरीदें?

आप आवश्यक डीमैट अकाउंट का इस्तेमाल करके किसी भी NSE या BSE में पंजीकृत कंपनी के शेयर खरीद सकते हैं और बहुत सारे फर्म ऑनलाइन शेयर खरीदने की आसान और सुलभ प्लेटफार्म प्रदान करते हैं।

इसके लिए आप किसी भी प्रचलित ब्रोकर फर्म से डीमैट अकाउंट खोलकर ऑनलाइन शेयर खरीद सकते हैं और आप अपने बैंक अकाउंट से भी शेयर खरीद सकते हैं, जैसेकि कई बैंक आम लोगों के लिए शेयर खरीदने की सुविधा देते हैं जैसे ICICI direct, SBI direct इत्यादि।

आजकल अधिकतर लोग ऑनलाइन शेयर को खरीदने की सेवा को ज्यादा प्रेफर करते हैं और इसके लिए ज़रूरी है share market ke liye best app का चुनाव करना।

ऑनलाइन शेयर खरीदने की प्रक्रिया इस प्रकार है 

  • जिस शेयर को आप खरीदना चाहते हैं, उसका चुनाव करें।
  • “BUY” के ऑप्शन पर जाएँ और क्लिक करें।
  • शेयर्स की संख्या डालें।
  • NORMAL या CNC के विकल्प को चुनें।
  • MARKET या LIMIT सेट करें।
  • शेयर की कीमत डालें और ENTER दबाएं।

आप शेयर बेचने के लिए भी इस प्रक्रिया का अनुसरण कर सकते हैं,  इसके लिए आपको BUY के स्थान पर SELL का विकल्प डालना होगा।


Share Market Tips in Hindi

ऊपर दिए गए तरीके के आधार पर आपको शेयर खरीदने के तरीके के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिल गयी होगी 

लेकिन आपको शेयर बाजार में लाभ कमाने के लिए कुछ नियमों को भी ध्यान में रखने की जरुरत है।

ये नियम इस प्रकार हैं:

  • अपने वित्तीय उद्देश्यों को ध्यान में रखें- अपने वित्तीय उद्देश्यों को ध्यान में रखना, शेयर खरीदने का पहला नियम है। आपको लॉन्ग-टर्म या शार्ट-टर्म इन्वेस्टमेंट प्लान चुनने की जरुरत है।

शार्ट टर्म इन्वेस्टमेंट के लिए आप इंट्राडे ट्रेडिंग या स्विंग ट्रेडिंग का विकल्प चुनना चाहिए और लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट के लिए आप डिलीवरी ट्रेडिंग या पोसिशनल ट्रेडिंग का चुनाव करना चाहिए।

लॉन्ग-टर्म में आप सस्ते दाम में शेयर्स खरीद सकते हैं और जब शेयर्स के दाम में बढ़ोतरी होती है आप शेयर्स ज्यादा 

दाम पर बेचकर मुनाफा कमा सकते हैं इस प्रकार लॉन्ग-टर्म निवेश में नुकसान की आशंका काफी कम रहती है।

शार्ट-टर्म ट्रेडिंग में इंट्राडे ट्रेडिंग करने की जरुरत होती है। इसके लिए आपको उचित शेयर खरीदकर उसी दिन बेचना होता है और आप इसमें कम समय में आसानी से ज्यादा रिटर्न पा सकते हैं इसमें नुकसान की आशंका काफी ज्यादा होती है।

  • मौलिक और तकनीकी विश्लेषण करें – शेयर खरीदने से पहले तकनिकी और मौलिक विश्लेषण करना महत्वपूर्ण नियमों में से एक है, आपको शेयर बाजार के काम करने के तरीके को जानना भी आवश्यक है।

आपको शेयर खरीदने से पहले कंपनी के बारे में अच्छे तरीके से अनुसन्धान करना आवश्यक है।

कंपनी के स्टॉक का मौलिक विश्लेषण करने के लिए आपको कंपनी के वित्तीय स्थिति की जांच करनी चाहिए जैसेकि बैलेंस शीट, प्रॉफिट और लॉस स्टेटमेंट, प्रति शेयर इनकम की जानकारी से आप आसानी से कंपनी की हालत और विकास के बारे में जानकारी मिलेगी।

तकनीकी विश्लेषण का मूल उद्देश्य शेयर्स के भविष्य की कीमत की सम्भावना को बताता है।

  • सही कीमत पर शेयर खरीदें – आपको अपने वित्तीय पूंजी के आधार पर शेयर मार्केट में निवेश करना चाहिए इसका अर्थ आप वैसे शेयर में निवेश करें जिसमे आप निवेश करने में सक्षम हों।

उस विशेष शेयर का चुनाव करें जो आपके बजट में हो और आपको ज्यादा मुनाफा दे वैसे शेयर का त्याग करें जो आपके बजट में न हो।

शेयर बाजार में शेयर्स के कीमत में उतार-चढाव होती रहती है आप शेयर्स के दाम में बढ़ोतरी होने पर बेच देने चाहिए जिससे आपको अच्छा रिटर्न मिलेगा।

  • समय-समय पर करें निवेश – आम तौर पर शेयर बाजार में शेयर्स की कीमत में उतार-चढाव होती रहती है अगर आपने कुल राशि एक दिन के अंदर ही निवेश कर दी तो रिटर्न्स में नुकसान आशंका रहती है।

अगर आप समय-समय पर निवेश करेंगे तो आप अलग-अलग दाम पर अलग-अलग कंपनी के शेयर खरीद सकते हैं इसमें आपको ज्यादा मुनाफा मिलेगा।

  • सेबी के नियमों का पालन करें- शेयर बाजार में हो रहे धोखाधड़ी को रोकने के लिए सेबी का गठन किया गया था 

सेबी ने 1 सितम्बर 2020 से शेयर खरीद और बिक्री के लिए नियम में बड़े बदलाव किए हैं इस नियम की बदलाव की वजह से निवेशकों की सुरक्षा में बढ़ोतरी हुई।

कर्तव्य ऑनलाइन ने निवेशकों के साथ धोखा-धड़ी की थी उसके बाद से सेबी ने कैपिटल मार्केट में कई नियम बनाए इसलिए अगर आप शेयर बाजार में निवेश करना चाहते है तो आपको नियम पता होने चाहिए।


निष्कर्ष 

अगर आप शेयर मार्केट में निवेश शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको शेयर खरीदने की पूरी प्रक्रिया के बारे में जानकारी होना चाहिए।

और अपने वित्तीय उद्देश्यों को ध्यान में रखना चाहिए, आप लॉन्ग टर्म या शार्ट टर्म निवेश का जरिया चुन सकते है।

आपको किसी विशेष कंपनी के शेयर खरीदने से पहले आपको कंपनी के व्यापर, कंपनी क्या प्रोडक्ट बनाती है।

उस कंपनी की वित्तीय स्थिति क्या है के बारे में जांच करनी चाहिए।

आप शेयर मार्केट की यात्रा शुरू करना चाहते है, आज ही अपना डीमैट अकाउंट खोलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

six + 12 =