Zerodha Intraday Charges in Hindi

अन्य स्टॉक ब्रोकर्स के ब्रोकरेज शुल्क

ज़ेरोधा इंट्राडे शुल्क (Zerodha intraday charges in hindi) की जानकारी से पहले आपको बता दे की Zerodha kya hai.

ज़ेरोधा भारत का सबसे महत्वपूर्ण डिस्काउंट ब्रोकर है, जो अपने सभी प्रकार के निवेशकों के लिए सबसे सुरक्षित और विश्वसनीय ब्रोकर है।

यह एक ऐसा ब्रोकर है, जो न केवल डिस्काउंट रेट पर ट्रेड की पेशकश करता है, बल्कि उनके लिए एडवांस ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म भी विकसित करता है।

आइए,  इस लेख में हम केवल जेरोधा इंट्राडे शुल्क पर चर्चा करेंगे।

इसमें ब्रोकर इक्विटी डिलीवरी ट्रेड पर कोई शुल्क नहीं लेता है। और जहाँ तक जेरोधा इंट्राडे ट्रेडिंग का सवाल है, तो इसमें आपको अपने प्रत्येक ट्रेड ऑर्डर को पूरा करने के लिए केवल फ्लैट ₹20 या 0.03% की ब्रोकरेज का भुगतान करने की आवश्यकता होती है।

इसलिए जब आप जेरोधा का फ़्री डीमैट अकाउंट लेंगे, तो आपको जेरोधा इंट्राडे शुल्क के बारे में भी पता होना चाहिए।

अगर हम सरल शब्दों में बोले तो, जेरोधा में ट्रेडिंग करने के लिए अधिकतम ब्रोकरेज फ़ीस ₹20 है।

अगर आप जेरोधा के साथ जुड़कर ही ट्रेड करना चाहते हैं। तो  इंट्राडे के जरिये ट्रेड करने के लिए आपके पास एक ट्रेडिंग अकाउंट होना चाहिए अगर नहीं है तो आप Zerodha Mein Account Kaise Khole लेख को पढ़कर जीरोधा अकाउंट खोलने से सम्बंधित सभी प्रकार की जानकरी पा सकते हैं।

तो चलिये अब आगे हम, जेरोधा इंट्राडे लेनदेन शुल्क के बारे में भी विस्तार से चर्चा करते हैं।

इसलिए हमारे साथ बने रहें।


जेरोधा इंट्राडे ब्रोकरेज शुल्क

इसमें (जेरोधा प्लेटफ़ॉर्म पर) आप डिलीवरी-आधारित इक्विटी लेनदेन के लिये बिल्कुल मुफ्त इंट्राडे ट्रेडिंग कर सकते हैं।

जी हां, आपने ये सही सुना है!

जेरोधा अपने डिलीवरी इंट्राडे ट्रेड पर किसी भी तरह की ब्रोकरेज चार्ज नहीं करता है, इसका मतलब है, कि यह उन निवेशको के लिए है, जो इसके साथ लम्बे समय के लिए निवेश करते है। 

लेकिन वही दूसरी ओर, यह फर्म इंट्राडे इक्विटी और इक्विटी फ्यूचर्स सेगमेंट के तहत प्रत्येक निष्पादित ऑर्डर पर 0.03% या फ्लैट रु. 20/-  (दोनो में से जो भी कम हो) का चार्ज वसूल करती है।

इसलिये जहां तक ​​इक्विटी ऑप्शन का संबंध है, जेरोधा आपसे आपके प्रत्येक निष्पादित ऑर्डर पर फ्लैट ₹20 का ब्रोकरेज चार्ज लेता है।

जेरोधा इंट्राडे शुल्क कल्कुलैटर

जेरोधा इंट्राडे ट्रेडिंग द्वारा ऊपर बताये गये  शुल्क/फ़ीस ब्रोकरेज का एक समग्र विचार है, जो  किसी भी फर्म द्वारा अपने डे-ट्रेड पर लगाये जाते है। 

हालांकि, ट्रेडिंग करते समय (फिर चाहे वह इंट्राडे हो या उसका कोई अन्य रूप ), एक निवेशक को ट्रेडिंग के विभिन्न सेगमेंट में लगने वाले ब्रोकरेज शुल्क के बारे में पता होना चाहिए, जिससे वह अपने लिये  ट्रेडिंग का सही  निर्णय ले सके और यह भी अनुमान लगा सके कि उसे किस तरह से मुनाफा कमाना होगा।

नीचे दी गयी तालिका में जेरोधा द्वारा लगाये जाने वाले इंट्राडे शुल्क की संक्षिप्त जानकारी दी गई है:

जेरोधा इंट्राडे शुल्क

सेगमेंट

ब्रोकरेज फ़ीस 

लेन देन शुल्क 

जीएसटी  एसटीटी / सी.टी.टी 
इक्विटी इंट्राडे 0.03% या 20 (जो भी कम हो) एनएसई: 0.00325% 18% 0.025%

“सेल ” ऑर्डर  पर

बीएसई: 0.003%
इक्विटी फ्यूचर्स (इंट्राडे) 0.03% या 20 (जो भी कम हो) एनएसई: एक्सचेंज लेनदेन चार्ज: 0.0019% 18% 0.01% 

“सेल” ऑर्डर पर 

इक्विटी ऑप्शन (इंट्राडे) फ़्लैट  20 एनएसई: एक्सचेंज लेनदेन चार्ज: 0.05% ( प्रीमियम अकाउंट  पर) 18% 0.05% 

“सेल” ऑर्डर पर (प्रीमियम अकाउंट पर)

कमोडिटी फ्यूचर्स (इंट्राडे) 0.03% या 20 (जो भी कम हो) नॉन-एगरी:0.0036%  18% 0.01% “सेल” ऑर्डर पर (नॉन-एगरी)
एगरी: 0.00275%
कमोडिटी ऑप्शन (इंट्राडे) 0.03% या 20 (जो भी कम हो) 0.002% ख़रीदने 

+ बेचने पर 

18% 0.05% “सेल” ऑर्डर पर

नीचे जेरोधा इंट्राडे शुल्क 2020 को विस्तार से समझाया गया हैं। इसलिये इन्हें अच्छे से समझे।


जेरोधा इंट्राडे MIS शुल्क  

जब हम किसी भी मामले में जेरोधा या किसी अन्य स्टॉक-ब्रोकर एमआईएस का उल्लेख करते हैं, तो इसका सीधा मतलब इंट्राडे ट्रेडिंग होता है। 

यहाँ पर एमआईएस (MIS) का मतलब मार्जिन इंट्राडे स्क्वायर ऑफ़ है और यह एक प्रोडक्ट कोड है,  जो आपके जेरोधा ऑर्डर पर लागू होता है।

यदि आप जेरोधा पर ऑर्डर करते समय एमआईएस को अपने  प्रोडक्ट कोड के रूप में लागू करते है, तो आपका ऑर्डर इंट्राडे ऑर्डर के रूप में माना जाता है।

इसमें आप MIS को अपने लिमिट ऑर्डर, स्टॉप-लॉस ऑर्डर, स्टॉप-लॉस मार्केट ऑर्डर, मार्केट ऑर्डर, ब्रैकेट ऑर्डर, कवर ऑर्डर और आफ़्टर मार्केट ऑर्डर में भी लागू कर सकते हैं।

इसके अलावा, आप ट्रिगर मूल्य और स्टॉप-लॉस ट्रेलिंग मूल्य जिसकी आवश्यकता हो उसको को भी अपने ऑर्डर के लिये  चुन सकते हैं।

चूँकि, MIS एक इंट्राडे ऑर्डर को दर्शाता है, इसलिए आपको सभी खुली पोजीशन को स्क्वायर -ऑफ़ (मतलब, अगर आपने खरीद ली है बेच दे और अगर बेच दी है तो ख़रीद ले) लेकिन यह सब स्क्वायर -ऑफ़ के समय से पहले ही कर ले।

जेरोधा स्क्वायर ऑफ इंट्राडे ट्रेडों के लिए दोपहर 3:20 का समय है, इसलिए इससे पहले कि आप अपनी सभी खुली पज़िशनस को स्क्वायर-ऑफ कर ले।

यदि आप ऐसा करने में विफल रहते हैं, तो सिस्टम प्रचलित मार्केट मूल्यों के अनुसार आपके ऑर्डरस को अपने आप स्क्वायर ऑफ कर देगा।

तो चलिये अब आगे  हम जेरोधा इंट्राडे शुल्क के विभिन्न सेग्मेंटस में लगने वाले  शुल्क के  बारे में विस्तार से चर्चा करते हैं।

इससे बेहतर स्पष्ट और बाक़ी इंट्राडे शुल्क के बारे में जानने के लिए, आप जेरोधा ब्रोकरेज कैलकुलेटर में देख सकते है।


जेरोधा इंट्राडे इक्विटी शुल्क

जेरोधा इक्विटी इंट्राडे ट्रेडों के प्रत्येक निष्पादित  ऑर्डर पर 0.03% या रु 20 का चार्ज  लेता है। अगर हम सरल शब्दों में कहे तो, ऊपर दिए गए दोनो मूल्यों में से जो भी कम है, आपको उस राशि का भुगतान अपने  इक्विटी सेग्मेंट में इंट्राडे फ़ीसं के रूप में करना पड़ता है।

और यहां पर आपको अपनी ब्रोकरेज और लेनदेन शुल्क पर 18% जीएसटी का भुगतान भी करना होता हैं।


इक्विटी फ्यूचर्स के लिए जेरोधा इंट्राडे शुल्क 

इनके पास विभिन्न प्रकार के जेरोधा फ्यूचर्स हैं। जेरोधा में इक्विटी फ्यूचर्स के इंट्राडे शुल्क इक्विटी इंट्राडे के समान ही है। इसलिये जेरोधा, आपके प्रत्येक निष्पादित ऑर्डर पर 0.03% या रु 20 (दोनों में से जो भी कम हो) चार्ज करता है।

इसके अलावा, आपको इस फ्यूचर ट्रेडिंग में  ब्रोकरेज और लेनदेन शुल्क पर  18% जीएसटी का भी  भुगतान करना पड़ता हैं।


इक्विटी ऑप्शन के लिए जेरोधा इंट्राडे शुल्क

Zerodha me option trading kaise kare उसके लिए आपको अलग-अलग विकल्प दिए जाते है जिसमे इक्विटी ऑप्शन में जेरोधा आपके प्रत्येक निष्पादित ऑर्डर पर फ्लैट ₹20 का चार्ज लेता है।

लेकिन इसमें  फिर से, आपको इस ऑप्शन सेग्मेंट में ब्रोकरेज और लेनदेन शुल्क  पर 18% का जीएसटी का भुगतान करना पड़ता हैं।


कमोडिटी फ़्यूचर्स के लिए जेरोधा इंट्राडे शुल्क 

जेरोधा इंट्राडे के कमोडिटी फ्यूचर्स सेगमेंट में, आपको या तो अपने प्रत्येक निष्पादित ऑर्डर पर 0.03% या फ्लैट रु20 का भुगतान करना होता है,  इसमें इन दोनों में से जो भी कम होता है, उसी का आप अपने ब्रोकरेज के रूप में भुगतान करते हैं।

इसलिए सामान्य तौर पर, जेरोधा कमोडिटी मार्जिन को सर्वोतम माना जाता है।

इसके साथ साथ आप कमोडिटी फ्यूचर्स ट्रेडिंग सेगमेंट के तहत भी ब्रोकरेज और लेनदेन पर 18% जीएसटी का भुगतान करते हैं।


कमोडिटी ऑप्शन के लिए जेरोधा इंट्राडे शुल्क 

कमोडिटी ट्रेडिंग ने भारतीय स्टॉक मार्केट  में अपनी काफ़ी अच्छी हिस्सेदारी के साथ दिखता है।

जेरोधा कमोडिटी ट्रेडिंग के ऑप्शन सेग्मेंट के इंट्राडे शुल्क इसके कमोडिटी फ्यूचर्स के समान ही  है। इसलिए, इसमें  भी आपको अपने प्रत्येक निष्पादित ऑर्डर पर 0.03% या फ्लैट ₹20 (जो भी कम हो) का भुगतान करना पड़ता है।

इसमें भी  आपकी ब्रोकरेज फ़ीस पर 18% का जीएसटी लागू होता है।

Short Selling Charges in Zerodha in Hindi

इंट्राडे में शॉर्ट सेलिंग एक ऐसी रणनीति है जहाँ उन शेयर की बिक्री की जाती है वो भी उन शेयर की जो आप डीमैट अकाउंट में नहीं रखते हैं। और जिन शेयर पर आपका कोई अधिकार नहीं होता है।

ये वो शेयर होते हैं जिन्हे एक निवेशक या ट्रेडर अपने स्टॉक ब्रोकर से उधार लेता हैं, यहाँ हम जेरोधा की बात कर रहे हैं, तो आप जेरोधा से शेयर उधार लेंगे।

आप अपने ब्रोकर से यह कहकर शेयर उधार लेते हैं कि कुछ समय बाद आप इन शेयर को ब्रोकर को वापिस लौटा देंगे।


निष्कर्ष 

 हर तरह के शुल्क के  बारे में जागरूकता हासिल करने से आपको अपने ट्रेड के बारे में सही निर्णय लेने में मदद मिलती है।

हमें आशा है,  कि जेरोधा इंट्राडे शुल्क के विस्तृत लेख ने आपकी मदद की। और याद रहे अपने फ़ायनैन्शल (वित्तीय) लक्ष्यों को पूरा करने के लिए पहले  अच्छी तरह से रीसर्च करे  और फिर उसके अनुसार ही निवेश करे।


हैप्पी ट्रेडिंग!

अब कृपया यहां अपना कुछ  बुनियादी विवरण दर्ज करें जिसके बाद हमारे द्वारा आपके लिए एक कॉलबैक की व्यवस्था कर दी  जाएगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × one =