Share Kaise Beche

ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग के बारे में और भी

स्टॉक मार्केट में आपने एक पोजीशन ली हुई है और अब एक प्रॉफिट बुक करने के बाद आप अपनी पोजीशन को क्लोज करना चाहते है या आप गिरती हुई मार्केट से प्रॉफिट कमाने के लिए शार्ट-सेलिंग करना चाहते है लेकिन आपको ये ज्ञात नहीं है की share kaise beche?

अगर आप कुछ इस तरह की स्थिति में है तो आज इस लेख के जरिये आप जान पाएंगे की स्टॉक मार्केट में शेयर को कैसे बेचा जाता है।

शेयर कैसे बेचा जाता है?

स्टॉक मार्केट में शेयर को बेचने के लिए आपको ट्रेडिंग एप की सुविधा प्रदान की जाती है जिसका इस्तेमाल करने के लिए आपको एक सही स्टॉक ब्रोकर को चुनना होता है और उसके साथ डीमैट खाता खोलना होता है।

चलिए स्टॉक को किस तरह से बेचा जा सकता है उसके लिए पूरी जानकारी प्राप्त करे।

अब जैसे की बताया गया है की आप या तो अपनी पोजीशन को लिक्विडेट करने के लिए शेयर को बेचते है या फिर शार्ट सेलिंग के लिए। अब यहाँ पर जिस भी कारण से आप शेयर बेचना चाहते है उसके लिए अपने स्टॉक ब्रोकर द्वारा प्रदान की गयी ट्रेडिंग एप में लॉगिन करें।

  • अगर आप ख़रीदे हुए स्टॉक को बेचना चाहते है तो पोजीशन या पोर्टफोलियो पर क्लिक करें।
  • जिस शेयर को बेचना चाहते है उस पर टेप करे और “SELL” पर क्लिक करें।
  • आपके सामने एक विंडो खुलेगी जिसमे आप सभी विवरण भरे (प्राइस, मात्रा, आर्डर टाइप)।
  • विवरण भरने के बाद आर्डर दर्ज़ करें।
  • आपका प्राइस मैच होते ही आपका आर्डर एक्सेक्यूट हो जाएगा।

शार्ट सेलिंग के लिए शेयर कैसे बेचे?

अब अगर शार्ट सेलिंग के उद्देश्य से स्टॉक को बेचना चाहते है तो उसके लिए सबसे ज़रूरी है की आप पहले सही निर्णय लेने के लिए मार्केट का विश्लेषण करें। शार्ट सेलिंग के लिए तकनीकी विश्लेषण करना काफी ज़रूरी होता है तो इसके लिए ट्रेंड को जाने।

  • अगर मार्केट में भारी गिरावट आयी है तो सही पोजीशन लेने के लिए सैल प्राइस का निर्णय लेना काफी ज़रूरी होता है, जिसके लिए आप इंट्राडे ट्रेडिंग इंडिकेटर का उपयोग कर सकते है।
  • इसके साथ आप चार्ट पैटर्न का विश्लेषण कर भी एक सही निर्णय ले सकते है।
  • स्टॉक को चुनने के बाद उसे अपनी वॉक्लिस्ट में डाले।
  • अब उसे सेल करने के लिए टेप करें और “SELL” बटन पर क्लिक करें।
  • आपकी स्क्रीन में सेल विंडो खुल जाएगी जिसमे आप सभी ज़रूरी विवरण भरकर अपना आर्डर दर्ज़ कर सकते है।

शेयर बेचने के नियम

जब बात प्रॉफिट बुक होने पर शेयर को बेचने की आती है तो ट्रेडिंग एप में एक क्लिक में आप मार्केट आर्डर प्लेस करके कर सकते है लेकिन किसी भी ट्रेडर को शेयर बेचने से पहले कुछ ज़रूरी बातो को ध्यान में रखना चाहिए।

1. आप शेयर क्यों और किस प्राइस पर बेचना चाहते है?

आप ज़्यादातर शेयर तब बेचते है जब आपने प्रॉफिट बुक कर लिया होता है, लेकिन अगर आप किसी अन्य कारण जैसे की मार्केट में आयी गिरावट, किसी न्यूज़ के चलते शेयर बेचने का निर्णय ले रहे है तो यहाँ पर कुछ बातो का विश्लेषण कर ही शेयर बेचे।

अब इसमें आपके सब्र का सबसे बड़ा इम्तेहान होता है। इस बात पर ज़रूर गौर करें की कही आप मार्केट में एक दम से आये बदलाव  डर कर तो शेयर नहीं बेच रहे। अगर ऐसा है तो वहां पर आपको अपनी ही रिसर्च को और गहराई से करना होगा, क्योंकि हो सकता है की वह गिरावट कुछ समय की हो और जल्द बाज़ी में शेयर बेच कर आप अपना नुक्सान कर बैठे।

इसके अलावा एक सही प्राइस पर शेयर बेचना काफी ज़रूरी होता है। उसके लिए किसी भी ट्रेडिंग एप में दो विकल्प होते है :

  • मार्केट आर्डर: इसमें आप जो प्राइस मार्केट में चल रहा होता है उसी में अपने शेयर को बेचने का अनुरोध करते है।
  • लिमिट आर्डर: अगर आप अपने मनचाहे प्राइस पर शेयर को बेचना चाहते है तो उसके लिए आप लिमिट आर्डर दर्ज़ कर सकते है। उदाहरण के लिए अगर किस शेयर का प्राइस 100 रुपये चल रहा है लेकिन आप उसे 103 रुपये के हिसाब से बेचना चाहते है तो आप इस स्थिति में लिमिट आर्डर का उपयोग कर सकते है। आपक सेल आर्डर तभी एक्सेक्यूट होगा जब शेयर का प्राइस 103 रुपये पहुंच जाएगा।

2. सेल आर्डर के प्रकार का सही उपयोग कर ही शेयर बेच

स्टॉक मार्केट आर्डर में मार्केट और लिमिट आर्डर के साथ आपको कुछ एडवांस आर्डर भी होते है जैसे की स्टॉप लॉस आर्डर,  ट्रेलिंग स्टॉप लॉस आदि। अब अगर आपने शार्ट-सेलिंग के उद्देश्य से सेल आर्डर लगाया है और आप शुरुआत से ही अपने नुकसान को सीमित करते हुए चलना चाहते है तो वहां पर आप स्टॉप लॉस बाय आर्डर का इस्तेमाल कर सकते है।

शेयर को खरीदते समय भी आप अपनी पोजीशन को सुरक्षित रखने के लिए सेल स्टॉप लॉस का उपयोग कर सकते है जिसमे अगर मार्केट आपके विपरीत जाती है तो वहां पर स्टॉप प्राइस पर आते ही आपका सेल स्टॉप लॉस आर्डर मार्केट आर्डर बन जाएगा और एक्सचेंज द्वारा आपका शेयर सही प्राइस में बेच दिया जाएगा।

स्टॉप लॉस के साथ आता है ट्रेलिंग स्टॉप लॉस जिसमे आप अपने मुनाफे को सुरक्षित रखते हुए चल सकते है। यहाँ पर अगर आपने लॉन्ग पोजीशन लेते हुए ट्रेलिंग स्टॉप लॉस लगाया है तो आपका स्टॉप लॉस प्राइस के साथ-साथ बढ़ता रहेगा जिससे आप आगे चलकर उस शेयर को एक बेहतर दाम में बेच पाएंगे।

उदाहरण के लिए अगर आपने 100 रुपये का को शेयर ख़रीदा है और 98 रुपये पर स्टॉप लॉस और 0.5% ट्रेलिंग स्टॉप लॉस लगाया है। अब अगर स्टॉक का प्राइस 101 रुपये पर पहुंचेगा तो आपका स्टोप लॉस प्राइस 98 से बढाकर 98.5 हो जाएगा।


3. अपने आर्डर से जुड़ी अन्य जानकारी और वैलिडिटी जैसे की IOC, GTT, Day, GTC का उपयोग कर शेयर बेचे

शेयर में आर्डर के प्रकार के साथ वैलिडिटी का विकल्प भी दिया जाता है जिसमे अगर आप लिमिट आर्डर का इस्तेमाल कर शेयर को बेचना चाहते है तो आपको उस आर्डर की वैलिडिटी का चयन करना होता है। अलग-अलग ट्रेडिंग एप में अलग-अलग वैलिडिटी ऑप्शन होते है, जैसे की:

  • All or None: इसका मतलब है की अगर आप अपने मनचाहे प्राइस पर शेयर को बेचना चाहते है तो जितनी मात्रा आपने दर्ज़ की है या तो वह सभी बिके या एक भी शेयर न बिके।
  • Immediate or Cancel (IOC): इस वैलिडिटी का तातपर्य है कि आपने जिस समय आर्डर दर्ज़ किया है या तो उसी समय शेयर बिक जाये या फिर दर्ज़ किया आर्डर कैंसिल हो जाये। यहाँ पर अगर आपने 100 शेयर बेचने का आर्डर दर्ज़ किया है लेकिन सिर्फ 50 शेयर्स को खरीदने के लिए मार्केट में बायर है तो 50 शेयर बिक जाएंगे और बाकी के 50 शेयर का आर्डर कैंसिल हो जाएगा।
  • Day Order: अगर आपने लिमिट आर्डर दर्ज़ किया है और साथ में day order वैलिडिटी को चुना है तो  वहां पर अगर मार्केट बंद होने से पहले कोई विक्रेता नहीं मिला तो एक्सचेंज आपका आर्डर रिजेक्ट कर देगी।
  • Good Till Cancelled (GTC):  आपके सेल आर्डर के लिए एक्सचेंज को कोई विक्रेता नहीं मिलता तो वह इस आर्डर को तब तक वैलिड रखती है जब तक आप खुद उसे कैंसिल नहीं करते है।

निष्कर्ष

स्टॉक को बेचना कोई मुश्किल काम नहीं है बस चाहिए तो एक सही ट्रेडिंग प्लेटफार्म और उससे जुड़े पहलूओं की पूरी जानकार। अलग-अलग टाइम फ्रेम के अनुसार ट्रेड कर और सही टारगेट और स्टॉप लॉस का इस्तेमाल कर आप आसानी से अपनी पोजीशन को लिक्विडेट कर सकते है।

जिस तरह से स्टॉक को खरीदते समय मार्केट की मूवमेंट,  ट्रेंड और अन्य जानकारी होना आवश्यक है ठीक उसी प्रकार शेयर को बेचते समय भी सभी बातो को ध्यान में रखें ज़रूरी होता है।

अगर आप स्टॉक मार्केट में निवेश करने के लिए एक सही विकल्प को खोज रहे है तो अभी नीचे दिए फॉर्म में अपना विवरण भरे और हम आपको एक सही स्टॉक ब्रोकर और उसके साथ डीमैट खाता खोलने में मदद प्रदान करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ten + 17 =