Share Kaise Kharide aur Beche in Hindi

ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग के बारे में और भी

जब भी कोई निवेशक शेयर मार्केट में निवेश करना चाहता है तो उसके सामने सबसे बड़ा प्रश्न आता है कि शेयर कैसे ख़रीदे और बेचे (share kaise kharide aur beche in hindi). शुरुआत में ये मुश्किल लग सकता है लेकिन एक सही समझ के साथ स्टॉक मार्केट में आप आसानी से ट्रेड कर सकते है।

आज इस लेख में हम बात करेंगे की शेयर खरीदने के लिए सबसे ज़रूरी चीज़े क्या है, कैसे इसकी शुरुआत करनी चाहिए और किस तरह से आप अलग-अलग माध्यम से स्टॉक मार्केट में शेयर को खरीद और बेच सकते है।

शेयर कैसे खरीदते है?

शुरुआत करते है की शेयर खरीदने के लिए सबसे महत्वपूर्ण क्या है, तो अगर आप एक शुरूआती ट्रेडर या निवेशक है तो सबसे पहले ये जानना ज़रूरी है की शेयर कहा से ख़रीदे?

एक रिटेल ट्रेडर और निवेशक सिर्फ रजिस्टर्ड स्टॉक ब्रोकर के माध्यम से ही किसी कंपनी के शेयर खरीद और बेच सकता है तो यहाँ पर सबसे पहले ज़रूरी है की आप अपने लिए एक स्टॉक ब्रोकर चुने और उसके साथ अपना डीमैट खाता खोले।

ये प्रक्रिया काफी आसान होती है, आप ऑनलाइन या ऑफलाइन तरीके से डीमैट खाता खोल सकते है। अकाउंट खुलने पर ब्रोकर आपको ट्रेडिंग एप को इस्तेमाल करने के लिए User ID और Password प्रदान करता है।

यहाँ तक का सफर तो काफी आसान होता है, इसके बाद सबसे चुनौतीपूर्ण चरण होता है सही स्टॉक को चुनना और उसमे ट्रेड या निवेश करना।

इसके लिए आपको ये निश्चित करना होता है कि आप स्टॉक को कितने समय के लिए खरीदना चाहते है और आपका लक्ष्य क्या है। जैसे की अगर आप एक अच्छे रिटर्न की अपेक्षा कर रहे है तो उसके लिए लॉन्ग टर्म निवेश की योजना के अनुसार आपको स्टॉक का चयन करना होता है।

लॉन्ग टर्म निवेश के लिए कंपनी और बिज़नेस की जानकारी लेना काफी आवश्यक है जिसके लिए आपको उस कंपनी के प्रॉफिट/लॉस, सेल्स, फ्यूचर प्लान आदि की जानकारी प्राप्त करना काफी आवश्यक होता है।

दूसरी तरफ अगर आप सिर्फ मार्केट और स्टॉक की वोलैटिलिटी से मुनाफा कामना चाहते है तो उसके इंट्राडे ट्रेडिंग (intraday trading in hindi), या स्विंग ट्रेडिंग जैसे विकल्प आपको प्रदान किये जाते है। इसके लिए आप टेक्निकल एनालिसिस करनी होती है जिसके लिए आप चार्ट, चार्ट पैटर्न और टेक्निकल इंडिकेटर का उपयोग कर सकते है। मार्केट में कई तरह के इंडीकेटर्स है जैसे की:

  • मूविंग एवरेज (moving average in hindi)
  • रिलेटिव स्ट्रेंथ इंडेक्स (RSI indicator in hindi)
  • एवरेज डायरेक्शन इंडेक्स (ADX indicator in hindi)

इक्विटी के साथ आप डेरिवेटिव्स मार्केट में भी शेयर को खरीद और बेच सकते है जिसमे आप अपने मनचाहे प्राइस में फ्यूचर में ट्रेड कर सकते है। शेयर के साथ-साथ अगर आप जानना चाहते है कि Nifty 50 me invest kaise kare तो उसके लिए भी ऑनलाइन ट्रेडिंग में डेरिवेटिव्स का विकल्प आपको दिया जाता है।

इसके अनुसार आप स्टॉक की एक सूची तैयार कर पाएंगे। अब शेयर खरीदने के लिए आपके पास दो विकल्प होते है:

  • ऑनलाइन ट्रेडिंग
  • ऑफलाइन ट्रेडिंग

किस तरह से आप इन दोनों विकल्पों का इश्तेआल कर शेयर खरीद सकते है उसके बारे में विस्तार में बात करेंगे।


 ऑनलाइन शेयर कैसे ख़रीदे?

जैसे ऊपर बताया गया है की डीमैट अकाउंट खोलने पर स्टॉक ब्रोकर आपको ट्रेडिंग एप प्रदान करता है, अब इस ट्रेडिंग एप का उपयोग कर किसी भी कंपनी के online shares खरीद सकते है।

  • अपने होल्डिंग अवधि के अनुसार स्टॉक को चुनने के बाद आप अपने ट्रेडिंग एप में दी हुए वॉचलिस्ट में उसे एड कर सकते है।
  • अब इस वॉचलिस्ट की मदद से आप रियल-टाइम में स्टॉक की मूवमेंट का विश्लेषण कर सकते है और सही समय पर उसे खरीद सकते है।
  • स्टॉक को ट्रेडिंग एप से खरीदने के लिए उस पर टेप करे और फिर “BUY” बटन पर क्लिक करें।

  • आपके सामने एक बाय विंडो खुल जाएगी उसमे सभी जानकारी जैसे की स्टॉक की मात्रा, प्राइस, आदि दर्ज़ करें।
  • अगर आप डिलीवरी ट्रेडिंग करना चाहते है तो “NORMAL” या “CNC” ऑप्शन को चुने।
  • इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए “MIS” या “Intraday” ऑप्शन को चुने।
  • अगर आपने लिमिट आर्डर प्लेस करना है तो उसके लिए आर्डर वैलिडिटी (Day और IOC) का चयन करें।

ये सभी जानकारी दर्ज़ करने के बाद Submit बटन पर क्लिक कर उसे कन्फर्म करें। आपकी आर्डर की सभी डिटेल एक्सचेंज में चली जाएगी जहाँ प्राइस मैच होने पर आपका आर्डर एक्सेक्यूटे हो जाएगा।


Offline Share Kaise Kharide

ऑनलाइन के साथ-साथ आपको ऑफलाइन शेयर खरीदने की सुविधा भी स्टॉक मार्केट में उपलब्ध करवाई जाती है। हालांकि ये भी आप अपने स्टॉक ब्रोकर की मदद से ही कर सकते है और इसलिए डीमैट खाता खोलना ट्रेड करने के लिए अनिवार्य होता है।

ऑफलाइन शेयर खरीदने के लिए आप ब्रोकर द्वारा प्रदान की गयी कॉल एंड ट्रेड सुविधा का उपयोग कर सकते है। अगर आपने एक फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर के साथ डीमैट खाता खोला है तो उसके लिए आप ब्रोकर की निकट ब्रांच में जाकर अपने आर्डर की जानकारी भी दे सकते है।

अब इसे करना कैसे है, उस पर चर्चा करते है।

कॉल एंड ट्रेड या ऑफलाइन शेयर खरीदने के लिए आपको अपने शेयर्स की जानकारी कॉल के माध्यम से अपने ब्रोकर को देनी होती है। ब्रोकर ट्रेडिंग टर्मिनल का इस्तेमाल कर आपकी ओर से स्टॉक को खरीदता है। अब इस ट्रेड में ज़्यादातर लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट या स्विंग और पोसिशनल ट्रेडिंग ही संभव होती है।


बिना ब्रोकर के शेयर कैसे खरीदते है?

शेयर मार्केट में आप किसी भी कंपनी के लिस्टेड शेयर खरीद सकते है जिसके लिए आपको स्टॉक ब्रोकर की आवश्यकता होती है, लेकिन अगर आप अनलिस्टेड शेयर खरीदना चाहते है तो वह आप बिना स्टॉक ब्रोकर के भी खरीद सकते है।

इसके लिए डायरेक्ट स्टॉक परचेस प्लान (DSPP) का उपयोग कर सकते है। इसमें निवेश करने के उद्देश्य से रिटेल निवेशक अपनी राशि लगता है और जो कंपनी स्टॉक मार्केट में लिस्टेड है उसी के अनलिस्टेड स्टॉक को खरीदता है। ये शेयर स्टॉक मार्केट के प्राइस से अलग होते है और ज़्यादातर कम दाम में उपलब्ध करवाए जाते है।

इसके साथ ही इस तरह से स्टॉक खरीदने के लिए एक निवेशक को सीधे कंपनी से संपर्क करना होता है और उनके द्वारा प्रदान किये गए नियमो का पालन कर शेयर को खरीदना होता है। क्योंकि इसके लिए कोई रेगुलेटरी बॉडी नहीं है तो ऐसे शेयर खरीदने में ज़्यादा जोखिम होते है।


शेयर खरीदने के नियम

उपरोक्त जानकारी के आधार पर आपको पता चल गया है कि शेयर कैसे खरीदते है, लेकिन क्या जानते हैं कि शेयर खरीदने के लिए एक निवेशक को किन किन नियमों को ध्यान में रखना चाहिए। ये नियम इस प्रकार हैं:

  • सबसे पहले अपने वित्तीय उद्देश्यों को सुनिश्चित करें। यदि संभव हो तो लॉन्ग- टर्म में निवेश करें क्योंकि लॉन्ग-टर्म में इन्वेस्ट करना ज्यादा लाभकारी हो सकता है।
  • किसी कंपनी के शेयर खरीदने से पहले उस कंपनी पर पूरी तरह से रिसर्च करें। साथ ही टेक्निकल इंडिकेटर की सहायता से स्टॉक का सही विश्लेषण करें।
  • भेड़चाल से दूर रहें और हमेशा अपने बजट के अनुसार ही शेयर खरीदे। यदि कोई शेयर आपके बजट से ऊपर है तो उसे ना खरीदे और सही समय का इंतजार करें। सही समय पर शेयर खरीदे और जब लगे कि अब शेयर से अच्छा लाभ मिल सकता है तो उसे बेच दें।
  •  जैसा कि आपको पता है कि शेयर मार्केट बहुत ही वोलेटाइल है, यहाँ स्टॉक की कीमतों में रोज़ाना उतार-चढ़ाव होता है। इसलिए एक दिन में पैसा लगाने की बजाय समय समय पर निवेश करें जिससे मुनाफा बढ़ने के अवसर अधिक है। 
  •  सेबी के नियमों के अनुसार एक सही स्टॉकब्रोकर का चयन करें, और उनके नियमों को ध्यान में रखकर ही शेयर खरीदें। 

Share Kaise Beche 

अब शेयर खरीदने की प्रक्रिया तो आपने अच्छे से समझ ली अब जानते है कि अगर हमे ख़रीदे हुए शेयर को बेचना हो या फिर शार्ट सेल्लिंग करने के लिए सेल आर्डर लगाना हो तो कैसे कर सकते है। जैसे ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से आप स्टॉक को खरीद सकते है, ठीक उसी तरह शेयर को बेचने के लिए भी आप दोनों विकल्पों का उपयोग कर सकते है।

यहाँ पर जैसे शेयर खरीदने के लिए मार्केट की जानकारी लेना काफी आवश्यक है ठीक उसी तरह कब और किस प्राइस में स्टॉक को बेचना है उसके लिए कुछ विश्लेषण करना काफी महत्वपूर्ण होता है।

लॉन्ग टर्म निवेश में हालांकि आप एक सही रिटर्न प्राप्त करने के बाद अपने शेयर को बेच सकते है, लेकिन शार्ट टर्म ट्रेड में एक सही प्राइस को निश्चित करना ज़रूरी होता है।

दूसरी तरफ अगर आप गिरती हुई मार्केट से ट्रेडिंग में मुनाफा कामना चाहते है तो आप शार्ट-सेलिंग का उपयोग कर शेयर को पहले बेच कर फिर खरीद सकते है।

  • अब यहाँ पर अगर शार्ट सेलिंग के लिए शेयर बेचने है तो उसके लिए आप उस शेयर को चुन कर वॉचलिस्ट में डाले और SELL बटन पर टेप कर अपना आर्डर प्लेस करें।
  • दूसरी तरफ अगर आप अपनी पोजीशन को क्लोज करने के लिए शेयर को बेचना चाहते है तो उसके लिए पोजीशन या आर्डर बुक में जाए (लॉन्ग टर्म निवेशक पोर्टफोलियो ऑप्शन पर क्लिक करें)।
  • वहां पर आपको अपने स्टॉक की सूची मिल जाएगी, अब आप जिस भी स्टॉक को बेचना चाहते है उसे क्लिक करे और सेल बटन को क्लिक करें।
  • SELL बटन को क्लिक करते ही आपके सामने आर्डर विंडो खुल जाएगी।
  • यहाँ पर जितनी मात्रा में आप शेयर बेचना चाहते है वह दर्ज़ करें। जैसे की मान लेते है की आपने इनफोसिस के 100 शेयर ख़रीदे थे लेकिन अभी आप सिर्फ 50 ही बेचना चाहते है तो वह मात्रा आपको दर्ज़ करनी होती है।
  • इसके अलावा आप जिस प्राइस पर शेयर को बेचना चाहते है उसके लिए आप लिमिट आर्डर का उपयोग कर वैल्यू दर्ज़ कर सकते है।
  • यहाँ पर अगर आपको करंट मार्केट प्राइस में शेयर बेचना है तो आप मार्केट आर्डर का इस्तेमाल कर सकते है।

सारी जानकारी दर्ज़ करने के बाद आप अपना आर्डर कन्फर्म करें, प्राइस मैच होते ही आपका आर्डर एक्सेक्यूटे हो जाएगा।

ये तो हुए ऑनलाइन प्रक्रिया, शेयर को ऑफलाइन बेचने के लिए आप उसी तरह से कॉल एंड ट्रेड सुविधा का उपयोग कर सकते है जैसे बाय आर्डर के लिए किया था।


न्यूनतम राशि शेयर बाजार में निवेश करने के लिए

Share kaise kharide aur beche की जानकारी के बाद ये जानना भी ज़रूरी है की एक निवेशक को कम से कम कितने पैसे से शेयर मार्केट में निवेश करना चाहिए। इसके लिए सबसे पहले एक निवेशक को अपने जोखिमों का आंकलन कर एक टारगेट यानी की वह मार्केट से  मुनाफा कमाना चाहता है इसका विश्लेषण करना चाहिए।

साथ ही निवेशक को अपने लक्ष्य के अनुसार शेयर मार्केट में पैसा लगाना चाहिए।

तो एक तरह से निवेशक अपने अनुसार शेयर मार्केट में निवेश करने की राशि का निर्णय ले सकता है। तो अगर आप सोच रहे है कि क्या 100 रुपये से निवेश किया जा सकता है तो उसका जवाब हां है। एक शुरूआती निवेशक के लिए ज़रूरी होता है कि वह कम राशि के साथ निवेश कर मार्केट की गतिविधियों को जाने।

शेयर मार्केट की जानकारी (share market knowledge in hindi) के बाद आप अपने कैपिटल को धीरे धीरे बढ़ा सकते है। एक सही और सेफ निवेश के लिए Nifty 50 की कम्पनीज को चुन सकते है।


निष्कर्ष

आज के समय में स्टॉक मार्केट में शेयर को खरीदना और बेचना काफी आसान हो गया है, बस ज़रूरी है तो सही स्टॉक को चुनना और सही प्राइस में उसे खरीदना और बेचना। सही जानकारी के साथ आप आसानी से स्टॉक मार्केट में ट्रेड कर सकते है।

यहाँ पर ऑनलाइन ट्रेडिंग करने के लिए ज़रूरी है कि आप सही स्टॉक ब्रोकर का चयन करें जो आपको एक सही और सुरक्षित एप प्रदान करें।

मार्केट में आज के समय में बहुत से विकल्प मौजूद है, अगर आप एक सही स्टॉक ब्रोकर के साथ अपने निवेश और ट्रेड के सफर को शुरू करना चाहते है तो अभी हमे संपर्क करें और हम आपका डीमैट खाता निःशुल्क खोलने में मदद करेंगे।


ऐसे ही शेयर बाजार से जुड़े अन्य सवाल के लिए नीचे दिए टेबल पर जाएँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen − 10 =