कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ 

अन्य IPO का विश्लेषण

क्या आप कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। तो हम आपको इस विषय में सारी जानकारी देंगे।

यहाँ पर आपको कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ से संबंधित रिव्यू , रेटिंग, शेयर प्राइस आदि से जुड़ी हर जानकारी उपलब्ध होगी। 

आईपीओ का फुल फॉर्म “इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग” है, जिसका अर्थ सार्वजनिक प्रस्ताव है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए IPO Full Form पर दिए लेख को पढ़ सकते हैं। 

नया आईपीओ: एंटनी वेस्ट आईपीओ

आईपीओ का मतलब किसी एक कंपनी के पहली बार जनता के लिए शेयर जारी करना होता है। कंपनियां अपने बिज़नेस को बढ़ाने के लिए पूँजी जुटाने के लिए अपने कंपनी का शेयर लोगों के करती है।

इस आईपीओ प्रक्रिया में, कंपनी सार्वजनिक हो जाती है। कंपनी सार्वजनिक निवेशकों को कंपनी में निवेश करने के लिए कहती है लेकिन इनका मकसद पैसे जमा करना होता है।

आईपीओ को स्टॉक मार्केट में विशेष दर्ज़ा प्राप्त है। कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ के बारे में अधिक जानकारी नीचे दी गई है और यदि आप इसके अलावा किसी और आईपीओ में निवेश करना चाहते हैं तो आप रेलटेल आईपीओ का विकल्प भी चुन सकते हैं।

यह भी पढ़ें: UPI के माध्यम से IPO में अप्लाई करें

इसके आलावा, एलआईसी आईपीओ के रूप में भारत में अबतक का सबसे बड़ा आईपीओ आने वाले है जो निवेशकों को मुनाफा कमाने के अवसर देगा।

2021 में आने वाला आईपीओ: आईआरएफसी आईपीओ, Indigo Paints IPO in Hindi 


कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ की समीक्षा

कल्याण ज्वेलर्स भारत का एक प्रसिद्ध ज्वेलरी ब्रांड है। भारत के अलावा गल्फ देशों में भी इसके कई आउटलेट है। कल्याण ज्वैलर्स ने 1993 में रिटेल ज्वेलरी बिज़नेस में प्रवेश किया। इनका मुख्यालय केरल के थ्रिस्सूर में है। 

कल्याण ज्वेलर्स की डिज़ाइन बनाने की कला की बहुत सराहना की जाती है, क्योंकि यह भारतीय विरासत, संस्कृति और विविधता को पेश करती है। यह गोल्ड, डायमंड्स, अन्य कीमती मेटल और स्टोन में डिज़ाइन करता है। 

                                          कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ 
जारीकर्ता  कल्याण  ज्वैलर्स
इशू टाइप  फ्रेश इक्विटी इशू- 1000* करोड़ रुपए। ऑफर फॉर सेल (ओएफएस )- 750* करोड़ रुपए
इशू पीरियड इशू जारी करने की अवधि – तिथि अभी तय नहीं है। 

इशू बंद होने की अवधि- तिथि अभी तय नहीं है। 

प्राइस ब्रांड रुपए प्रति इक्विटी शेयर
इशू साइज 1750* करोड़ रुपए
फेस वैल्यू 10 रुपए प्रति इक्विटी शेयर
बिड लॉट  इक्विटी शेयर और इसके गुणांक
अधिकतम बिड अमाउंट (रिटेल में) उपलब्ध नहीं
क्यूआईबी उपलब्ध नहीं
एनआईबी   उपलब्ध नहीं
रिटेल इंडिविजुअल बिडर उपलब्ध नहीं
कर्मचारी रिजर्वेशन  उपलब्ध नहीं
कर्मचारी को छूट उपलब्ध नहीं
लिस्टिंग 

कल्याण ज्वेलर्स की स्टेटमेंट्स का फ़ाइनेंशियल एनालिसिस नीचे दिया गया है-

एक फर्म को हर फाइनेंशियल ईयर के अंत में अपने फाइनेंस की रिपोर्ट जारी करनी होती है। नीचे कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ का फाइनेंशियल टेबल गया है।  

                                                    रकम ( रुपए लाखों में)
31 मार्च 2020  मार्च 2019  31 मार्च 2018 
कुल एसेट 82,186.80  80,599.14 85,512.31
कुल रेवेन्यू 101,810.16 98,140.29  105,801.99
कुल खर्च 99,601.29 97,931.01 103,664.08
टैक्स के बाद प्रॉफिट 1,422.75  (48.64) 1,409.97

पिछले वित्तीय वर्ष मे, कल्याण ज्वेलर्स की कुल एसेट 82,186.80 मिलियन, कुल रेवेन्यू 101,810.16 मिलियन, कुल खर्च 99,601.29 मिलियन, टैक्स के बाद लाभ 1,422.75 मिलियन दर्ज किया गया। 

इन आंकड़ों से पता चलता है कि कंपनी की वित्तीय स्थिति बहुत मजबूत है

इससे पहले कि कोई निवेशक किसी कंपनी के शेयरों में निवेश करे उससे पहले उसे प्रति इक्विटी शेयर अर्निंग करना आवश्यक है। निम्नलिखित टेबल में पिछले तीन फाइनेंशियल ईयर के बारे में डेटा है।

          रकम ( रुपए लाखों में)
मार्च-20  31 मार्च-19  31 मार्च 18 
बेसिक  1.70 (0.04) 1.70
डीलूटेड  1.49 (0.04) 1.51

कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ प्रमोटर्स

किसी भी बिज़नेस इकाई के लिए कैपिटल जुटाने में प्रमोटर्स बहुत निर्णायक भूमिका निभाते है 

इस आईपीओ के तीन प्रमोटर्स है श्री टी .एस कल्याण रमन की हिस्सेदारी 27.41% है , श्री सीताराम और श्री टी.के रमेश की हिस्सेदारी 22.17% है


कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ जारी करने की तिथि 

ताज़ा जानकारी के अनुसार, कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ को सेबी द्वारा एप्रूव्ड कर दिया है, लेकिन इसके जारी होने की तिथि अभी एलान नहीं हुई है।

    कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ की तिथि एवं मूल्य बैंड्स 
आईपीओ का खुलना उपलब्ध नहीं
आईपीओ का बंद होना उपलब्ध नहीं
आईपीओ का आकार  1750* करोड़ रुपए
फेस वैल्यू  10 रुपए प्रति इक्विटी शेयर 
प्राइस बैंड  उपलब्ध नहीं 
लिस्टिंग पर उपलब्ध नहीं 
रिटेल का भाग उपलब्ध नहीं 
इक्विटी शेयर 

कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ मार्केट लॉट

एक निवेशक के लिए आईपीओ के बारे में विभिन्न डिटेल्स को जानना आवश्यक हैं। लेकिन उनमें से दो आईपीओ, मिनिमम ऑर्डर क्वांटिटी और मार्केट लॉट हैं।

जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि मिनिमम ऑर्डर क्वांटिटी से अभिप्राय इन्वेस्टर को आईपीओ में इन्वेस्ट करने से पहले एक निश्चित मात्रा में शेयर खरीदने पड़ेंगे।

यदि कोई ट्रेडर इस संख्या से अधिक शेयरों में निवेश करने का फैसला करता है, तो वह न्यूनतम ऑर्डर क्वांटिटी के गुणकों में निवेश करके ऐसा कर सकता है ।

मिनिमम ऑर्डर क्वांटिटी या कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ की जानकारी नीचे टेबल में दी गई है:

              कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ 
लॉट साइज न्यूनतम शेयर – उपलब्ध नहीं

अधिकतम शेयर- उपलब्ध नहीं

न्यूनतम मूल्य जानकारी उपलब्ध नहीं
अधिकतम मूल्य जानकारी उपलब्ध नहीं

कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ अलॉटमेंट एवं लिस्टिंग 

आईपीओ का रजिस्ट्रार एक डॉक्यूमेंट पब्लिश करता है, वो है- आईपीओ बेसिस ऑफ़ अलॉटमेंट। शेयर एलोकेशन के विवरण को अंतिम रूप दिए जाने के बाद डॉक्यूमेंट को पब्लिश किया जाता है ।

निवेशक पहले से निर्णय ले सकें, इसलिए इन सूचनाओं को सार्वजानिक किया जाता है।

कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ आवंटन और लिस्टिंग के बारे में जानकारी निम्नलिखित टेबल में सूचीबद्ध है:

    कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ एलोकेशन और लिस्टिंग 
अलॉटमेंट का बेस उपलब्ध नहीं
रिफंड उपलब्ध नहीं
डीमैट अकाउंट का क्रेडिट उपलब्ध नहीं
लिस्टिंग की तिथि उपलब्ध नहीं

कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ ग्रे मार्किट प्रीमियम

ग्रे मार्किट प्रीमियम (जीएमपी) कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ का मूल्य- उपलब्ध नहीं, सब्जेक्ट टू डील-उपलब्ध नहीं, और कोस्टक- उपलब्ध नहीं।


कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ- कैसे आवेदन करें ?

सभी निवेशक जिनके पास डीमैट खाता है, वे दो तरीकों जैसे कि बैंकों के साथ आस्बा के माध्यम से और संबंधित ब्रोकर के ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से उपयोग करके आईपीओ खरीद सकते हैं।

आइए ,आईपीओ द्वारा शेयर खरीदने की प्रक्रिया को समझने की कोशिश करते हैं


कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ का आस्बा द्वारा आवेदन करना 

सबसे पहले आपको आस्बा के बारे में ज़रूर जानकारी होनी चाहिए। आस्बा का मतलब अवरुद्ध राशि द्वारा समर्थित एप्लीकेशन है। यह एक आईपीओ आवेदन करने के लिए एक वैकल्पिक तरीका है जिसे बैंक द्वारा प्रदान किया गया है।

आप बैंक के जरिए से आस्बा के माध्यम से आईपीओ में आवेदन करते हैं, क्योंकि शुरू में बैंक आईपीओ खरीदने के सारे खर्चे कवर करता है।

यह अमाउंट आपके खाते से तभी डेबिट होती है, जब आप आईपीओ अलॉटमेंट का शेयर आपके डीमैट अकाउंट में प्राप्त होता है

देश के सभी महत्वपूर्ण बैंक आस्बा की इस सुविधा का विस्तार करते हैं। लगभग 30 बैंक इस सूची में हैं, और उनमें से कुछ हैं – आईडीबीआई बैंक लिमिटेड, सिटी बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, आदि हैं।

ऐसा करने के लिए अधिकृत होने के बाद एक बार यह सर्विस आगे बढ़ाई जा सकती है। ये बैंक आईपीओ आवंटन की प्रक्रिया समाप्त होने तक संबंधित राशि को रोकते हैं।

अब आप में से कई ये सोच रहेंगे होंगे कि कल्याण ज्वेलर्स के आईपीओ का आस्बा द्वारा कैसे आवेदन करें। आप इस प्रक्रिया को अपनी सुविधानुसार ऑनलाइन या ऑफलाइन पूरा कर सकते हैं। 

इसके अलावा, आप अपने स्टॉकब्रोकर (जैसे ज़ेरोधा, एडलवाइस, मोतीलाल ओसवाल आदि) के ऑनलाइन पोर्टल का उपयोग करके भी आईपीओ के लिए बोली लगा सकते हैं। 


Kalyan Jewellers IPO Information in Hindi

कल्याण ज्वेलर्स भारत के सबसे पुराने फैमिली बिज़नेस में से एक है, जिन्होंने अपने बिज़नेस की शुरुआत 1908 में की। उनको इस बिज़नेस में 100 वर्ष से ऊपर हो चुके हैं और यह भारत का एक जानामाना परिवार है । 

इस ग्रुप की नींव नैतिकता, ईमानदारी और सभी बिज़नेस प्रैक्टिस के मूल के साथ रखी गई है। एक स्वतंत्र भारत में आत्म-निर्वाह और राष्ट्र-निर्माण के साथ इसकी जर्नी शुरू हुई।

कल्याण ज्वेलर्स की स्थापना 1993 में की गई थी। कल्याण ज्वैलर्स के 30 जून 1993 तक भारत तथा विदेशों में 137 आउटलेट्स है (गल्फ कोऑपरेशन कौंसिल-जी सी सी)। 

कल्याण ज्वैलर्स, इंडियन ज्वेलरी इंडस्ट्री में एक जाना-माना नाम है। यह ब्रांड ट्रेडिशनल ज्वेलरी के लिए पहचाना जाता है।

कल्याण ज्वेलर्स की बहुत अधिक प्रसिद्धि के कारण इन्होनें अपने ऑउटलेस को विदेशो में भी खोला है-जिनमें मलेशिया, सिंगापुर, यू.एस.ए, श्रीलंका आदि देश शामिल हैं।

कल्याण ज्वेलर्स ग्राहकों की सभी विशिष्ट प्राथमिकताओं को पूरा करता है। कल्याण ज्वैलर्स अपनी ज्वेलरी का निर्माण भारत की भगौलिक स्थिति को ध्यान में रखकर करता है। यह अपनी मार्केटिंग क्षेत्र-विशिष्ट विपणन रणनीति पर आधारित करता है ताकि स्थानीय लोगों की अपेक्षाओं को पूरा किया जा सके।

इसके अलावा, एक रिपोर्ट के अनुसार कल्याण ज्वैलर्स उन कुछ ज्वेलरी कंपनियों में से थी, जिन्होंने अपनी मर्ज़ी से अपने सभी गहने बीआईएस हॉलमार्क करवाए हुए है ।

कल्याण ज्वेलर्स ने प्राइस टैग भी लगाकर रखा है ताकि ग्राहकों के लिए पारदर्शिता बनाकर रखी जा सके।  

माय कल्याण कस्टमर सेवा ने अपने ग्राहकों में विश्वास बढ़ाने में बहुत मदद की है। माय कल्याण सेंटर के समर्पित कर्मचारी डोर टू डोर  मार्केटिंग करके और अपने ब्रांड का अधिक से अधिक प्रदर्शन करके  प्रोडक्ट को बढ़ावा देते हैं।   

कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ में इन्वेस्ट करने से पहले यह जानना आवश्यक है कि, यह इन्वेस्टर के लिए कितना फ़ायदेमंद और इसका कितना नुकसान है।   

चलिए इसके बारे में चर्चा करते है।  


क्या कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ निवेशकों के लिए प्रॉफिटेबल होगा ?

कल्याण ज्वेलर्स कंपनी की स्थापना 27 वर्ष पहले की गई थी, और इस ग्रुप की स्थापना 100 वर्ष पहले की गई थी। यह लोगो की पसंदीदा कंपनी है।

आइए मार्केट में इसकी मजबूती के कारणों को देखते हैं।  

  • यह एक स्थापित ब्रांड है जो विश्वास और पारदर्शिता जैसे प्रमुख मूल्य पर आधारित हैं।
  • ‘माय कल्याण’ नेटवर्क की अपने कस्टमर पर मजबूत पकड़ है।
  • हाइपरलोकल रणनीति उन्हें विभिन्न क्षेत्रों और भौगोलिक क्षेत्रों में ग्राहकों के व्यापक आधार को पूरा करने में सक्षम बनाती है।
  • यह भारत की सबसे बड़ी ऑफलाइन जेवेलरी कंपनी है
  • कल्याण ज्वेलर्स के पास अपने प्रोडक्ट की विस्तृत श्रृंखला है , जो अपने कस्टमर्स के लक्ष्यों को पूरा करती है
  • कल्याण ज्वेलर्स की दूर तक देखने की सोच और अनुभवी नेतृत्व इसके मुख्य गुण है। इसके अलावा, वरिष्ठ प्रबंधन दल और निदेशक मंडल अपने क्षेत्रों में अत्यधिक निपुण और अनुभवी लोग इससे विशेष बनाते हैं।
  • कल्याण ज्वैलर्स के मजबूत , प्रभावी, और कुशल आंतरिक कंट्रोल उसके लगातार आगे बढ़ने का मुख्य कारण है। यह विश्वस्तर पर शोरूम नेटवर्क पैन इंडिया के विस्तार में भी योगदान देता है।

कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ में निवेश करने का निर्णय लेने से पहले एक बात का ध्यान रखें कि वर्तमान में, बीएसई और एनएसई में कोई शेयर सूचीबद्ध नहीं हैं, जिसकी लंबे समय में मूल्य मूवमेंट की भविष्यवाणी नहीं की जा सकती है। 

लेकिन, अगर हम आईपीओ जारी करने के कारण को देखते हैं, तो इसे वर्किंग कैपिटल की आवश्यकताओं और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों से ध्यान हटाने के लिए दिया जाएगा। चूंकि पूंजी ऋण को मंजूरी देने के लिए नहीं जुटाई जा रही है, इसलिए लंबे समय में मुनाफे की उम्मीद की जा सकती है।

इससे पता चलता है कि कंपनी अपने बिज़नेस को बढ़ाने के लिए योजना बना रही हैइसलिए अगर आप नए निवेशक हैं और आईपीओ के द्वारा सुरक्षित इन्वेस्टमेंट करना चाहते है तो आप इस पर विचार कर सकते हैं। 


कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ के बारे में सामान्य प्रश्न

प्रश्न : कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ क्या है?

उत्तर: सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों और कार्यकारी आवश्यकताओं के लिए कैपिटल जुटाने के लिए, कल्याण ज्वैलर्स अपना आईपीओ जारी कर रहा है।

प्रश्न: कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ कब खुलेगा?

उत्तर: आईपीओ खुलने की तिथियों का अभी कोई घोषणा नहीं हुई है। जैसे ही यह अपडेट होंगी इसके बारे में बता दिया जाएगा ।

प्रश्न: किस श्रेणी के अंतर्गत, योग्य उम्मीदवार कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ की बोली लगा सकता है?

उत्तर: इन्वेस्टर कीकैटेगरी की जल्द ही घोषणा की जाएगी ।

प्रश्न: मैं कल्याण ज्वेलर्स आईपीओ कैसे अप्लाई कर सकता हूँ?

उत्तर: आप निम्नलिखित तरीकों से अप्लाई कर सकते हैं ।

  • बैंकों के द्वारा  एएसबीए से (सिटी बैंक, कॉर्पोरेट बैंक आदि )आप अप्लाई कर सकते हैं।
  • विभिन्न ब्रोकर्स के ऑनलाइन पोर्टल द्वारा (ज़ेरोधा, मोतीलाल ओसवाल, आईआईएफएल आदि ) अप्लाई कर सकते हैं।

 प्रश्न: कल्याण ज्वेलर्स के आईपीओ की जारी होने की तिथि क्या है?

उत्तर: कल्याण ज्वेलर्स के आईपीओ के जारी होने की अभी तक कोई जानकारी नहीं है।   


यदि आप आईपीओ में निवेश करना चाहते हैं, तो आपको निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा:

आप नीचे प्रदर्शित फार्म में भरकर भी शुरुआत कर सकते हैं और आपको शीघ्र ही एक कॉलबैक प्राप्त होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty − 19 =