आईआरएफसी आईपीओ

अन्य IPO का विश्लेषण

वर्ष 2020 में लोगों ने बहुत सी मुश्किलों का सामना किया जिसमें कुछ कोरोना से लड़े, तो कुछ आर्थिक समस्या से। लेकिन अब साल 2021 एक नई शुरुआत के लिए तैयार है और सबसे ज़्यादा अच्छी खबर शेयर मार्केट के लिए है क्योंकि यह आईआरएफसी आईपीओ के साथ बम्पर ओपनिंग करने जा रहा है।

4600 करोड़ रुपये का इंडियन रेलवे फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड आईपीओ उन निवेशकों के लिए एक वंडरलैंड की तरह है जिसे देखने के लिए लोगों को इंतज़ार करना पड़ता है। 

कोरोना महामारी के बाद फ़ार्मास्यूटिकल, एफएमसीजी, टेलीकॉम इंडस्ट्री जैसी कुछ इंडस्ट्री को छोड़कर मार्केट किसी न किसी बुरे दौर से गुज़र रहे थे।

लेकिन लॉकडाउन के खत्म होने के बाद सारी स्थिति बदल गई और मार्केट वापिस पटरी पर लौट आई।

एशियन डेवलपमेन्ट बैंक ने कहा कि भारतीय इकोनॉमी ने उम्मीद से बेहतर रिकवरी की थी। 

निवेशकों के बीच आईपीओ की उत्सुकता को देखते हुए पिछले साल कई कंपनियों ने अपने आईपीओ को पिछली 2 तिमाहियों में उतारा और अच्छा प्रदर्शन किया।

इस महीने में इंडिगो पेंट्स आईपीओ, रेलटेल आईपीओ, लक्ष्मी ऑर्गेनिक्स आईपीओ आएंगें और इसी तरह, आईआरएफसी भी अधिक से अधिक फायदे की उम्मीद चाहता है क्योंकि वह पब्लिक को 140.7 करोड़ इक्विटी शेयर जारी करना चाहता है। 

आईआरएफसी आईपीओ किसी भी पब्लिक सेक्टर एनबीएफसी द्वारा माँगा गया पहला IPO होगा।

इस नए आईपीओ के बारे में अधिक जानने के लिए इस आर्टिकल को विस्तार से पढ़ें।

यह भी पढ़ें: Upcoming ipo in Hindi 


IRFC IPO Details in Hindi  

आईआरएफसी कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड (IRFC Corporation of India Ltd) की स्थापना वर्ष 1986 हुई और यह भारतीय रेलवे की एक फाइनेंशियल ब्रांच है जो डॉमेस्टिक और ग्लोबल कैपिटल मार्केट से फंड जुटाने का काम करती है।

यह कंपनी मुख्य रूप से रेलटेल, रेल विकास निगम लिमिटेड (आरवीएनएल), कोंकण रेलवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड (केआरसीएल), पिपावाव रेलवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड (पीआरसीएल) आदि जैसे विभिन्न रेलवे सेक्टर की कंपनियों को लीज़ देने, उधार देने, उधार लेने और फाइनेंशियल रिसोर्स के लिए जिम्मेदार है।

आईआरएफसी पर कई महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट को सँभालने की जिम्मेदारी के साथ भरोसा किया गया है और इसने रेलवे सेक्टर की सर्विसेज में मजबूती और सुधार करने में अपना योगदान दिया है। 

16 जनवरी 2020 में सेबी के साथ भरे गए डीआरएचपी (ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस) में आईआरएफसी ने आईपीओ के उद्देश्यों को निम्नलिखित प्रकार से बताया है:

  • हमारे बिज़नेस में ग्रोथ से बढ़ने वाली कैपिटल आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए उनकी इक्विटी पूंजी आधार बढ़ाएं।
  • सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्य 
  • स्टॉक एक्सचेंज में कंपनी के इक्विटी शेयर को सूचीबद्ध करने से प्राप्त लाभ। 
  • कंपनी की विज़िबिलिटी और ब्रांड नाम बढ़ाने के लिए। 
  • इक्विटी शेयरों के लिए एक पब्लिक मार्केट प्रदान करें। 

आईआरएफसी आईपीओ में फ्रेश इश्यू के  1,188,046,000 इक्विटी शेयर और 594,023,000 इक्विटी शेयर हैं, जिसमें कुल 1,782,069,000 इक्विटी शेयर हैं।

इक्विटी शेयरों की संख्या के साथ आईपीओ निवेशकों के लिए पर्याप्त अवसर प्रदान करता है।

सभी आईआरएफसी आईपीओ की डिटेल्स के लिए नीचे एक टेबल दिया गया है: 

आईआरएफसी आईपीओ रिव्यु

जारीकर्ता आईआरएफसी इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड
इश्यू टाइप 100% बुक बिल्ट इश्यू आईपीओ
इश्यू पीरियड इश्यू की ओपनिंग डेट: जनवरी 2021

इश्यू की क्लोजिंग डेट: जनवरी 2021

प्राइस बैंड ₹25- ₹26 प्रति इक्विटी शेयर
इश्यू साइज़ 4633.38 करोड़ 
फ्रेश इश्यू 1,188,046,000 इक्विटी शेयर तक, कुल ₹3,088.91 करोड़ तक
सेल के लिए ऑफर 594,023,000 इक्विटी शेयर तक, कुल ₹1544.44 करोड़ तक
फेस वैल्यू ₹10 प्रति इक्विटी शेयर
बिट लॉट 575 इक्विटी शेयर और इसके कई
अधिकतम बिड अमाउंट (रिटेल के लिए) ₹14,375-₹14,950
क्यूआईबी (क्वॉलिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर) इश्यू साइज़ के 50% से अधिक नहीं
एनआईबी (नॉन इंस्टीट्यूशनल बिडर्स ) इश्यू साइज़ के 15% से अधिक नहीं
आरआईबी (रिटेल इंडिविजुअल बिडर्स) इश्यू साइज़ के 35% से अधिक नहीं
लिस्टिंग एनएसई और बीएसई

आने वाले आईपीओ में ₹10 प्रति इक्विटी शेयर के साथ 1,782,069,000  इक्विटी शेयर उपलब्ध हैं।

आईडीएफसी सिक्योरिटीज, एचएसबीसी सिक्योरिटीज, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, और एसबीआई कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड को आईपीओ के दौरान शेयरों को जारी करने के लिए लीड मैनेजर के रूप में देखा गया है।

आईआरएफसी के हाल ही के वर्षों के फाइनेंशियल परफॉरमेंस को समझने के लिए निवेशकों के लिए एक टेबल दिया गया है: 

आईआरएफसी फाइनेंशियल परफॉरमेंस

छ: महीने ई रिपोर्ट, 30 सितंबर  वार्षिक रिपोर्ट, 31 मार्च 2019  वार्षिक रिपोर्ट, 31 मार्च 2018  वार्षिक रिपोर्ट, 31 मार्च 2017 
रेवेन्यू  66,612.93  1,11,335.94 92,683.81  80,137.90
खर्च  49,464.97  82,320.10 66,758.90 59,002.90
प्रॉफिट  17,147.96  29,015.84 25,924.91  21,135.00

आईआरएफसी आईपीओ प्रोमोटर

आईएआरएफसी आईपीओ के प्रोमोटर, रेल मंत्रालय के माध्यम से कार्य करने वाले भारत के राष्ट्रपति हैं। भारत के राष्ट्रपति कंपनी के प्री-इश्यू पेड इक्विटी शेयर को होल्ड करके रखते हैं। 


आईआरएफसी आईपीओ की इश्यू डेट

आईएआरएफसी के कुछ दिनों पहले यह बताया था कि आईपीओ जारी करने की तारीख अभी तक फाइनल नहीं हुई है। लेकिन रिपोर्ट से पता चलता है कि आईपीओ जनवरी 2021 के बीच किसी भी समय आ सकता है।

आईआरएफसी आईपीओ जारी करने की तारीख

आईपीओ खुलने की तारीख  18 जनवरी 2021
आईपीओ बंद होने की तारीख  20 जनवरी 2021

आईआरएफसी आईपीओ मार्केट लॉट

आईआरएफसी आईपीओ मार्केट के बारे में कोई भी जानकारी फिलहाल उपलब्ध नहीं है।

आईआरएफसी आईपीओ मार्केट लॉट

लॉट साइज़ अधिकतम शेयर – 575
न्यूनतम शेयर – 575 के कई
न्यूनतम राशि ₹14,375-₹14,950

आईआरएफसी आईपीओ जीएमपी 

IRFC IPO GMP (ग्रे मार्केट प्रीमियम) [•] है। 

ग्रे मार्केट प्रीमियम (GMP) वह राशि है जिस पर किसी कंपनी के इक्विटी शेयर का ग्रे मार्केट में कारोबार होता है, यानी शेयर बाजार के बाहर ट्रेड होता है।

जीएमपी यह अनुमान लगाने के लिए एक बढ़िया पैरामीटर है कि आईपीओ कितना अच्छा या खराब होगा। जीएमपी पूरी तरह से आईपीओ शेयर की डिमांड और सप्लाई से तय होता है।


आईआरएफसी आईपीओ के लिए आवेदन कैसे करें?

आईआरएफसी आईपीओ के लिए आवेदन करने के कई तरीके हैं, लेकिन कुछ बुनियादी आवश्यकताएं हैं जिन्हें एक निवेशक को पूरा करना चाहिए।

आईपीओ के लिए आवेदन करने के कई तरीकों में से सबसे सुविधाजनक आस्बा है। हालांकि, इसके लिए ट्रेडर का डीमैट खाता होना चाहिए।

आइए, यदि आपको डीमैट खाता खोलना है तो हम आपकी सहायता करते हैं, इसके लिए बस नीचे दिए गए फॉर्म में अपना नाम और फोन नंबर भरें। 

ब्लॉक हुए खाते द्वारा आवेदन के लिए आस्बा एक ऐसी प्रक्रिया है, जो ट्रेडर्स को आईपीओ में ट्रेड करने में मदद करती है।

इस प्रक्रिया के तहत, आईपीओ आवेदन धन, तब तक निवेशक के पास रहता है जब तक कि खरीदे गए शेयर निवेशक के खाते में आवंटित नहीं किए जाते हैं।

दूसरी बात यह कि निवेशक के पास सेल्फ सर्टिफाइड बैंक (SCSBs) में एक बैंक खाता होना चाहिए। ये कुछ ऐसे बैंक हैं जो सेबी के नियमों का पालन करते हैं।

हम सलाह देते हैं कि निवेशक SCSBs की लिस्ट पर भी नज़र डालें।


आस्बा के माध्यम से आईआरएफसी आईपीओ के लिए आवेदन करें

यहाँ आपको दो तरीके दिए गए हैं जो एक निवेशक आस्बा के माध्यम से आईआरएफसी आईपीओ के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। निवेशक अपनी सहूलियत के अनुसार किसी भी तरीके का विकल्प चुन सकते हैं।

हम दोनों तरीकों के लिए नीचे विस्तार से चर्चा करेंगें। 

ऑनलाइन प्रक्रिया 

  1. निवेशक एनएसई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर एएसबीए फॉर्म जनरेट कर सकता है।
  2. आस्बा फॉर्म में निम्नलिखित विवरण शामिल हैं –
  • आवेदक का नाम
  • पैन नंबर
  • डीमैट खाता संख्या
  • बिड क्वांटिटी 
  • बिड प्राइस, आदि

आस्बा फॉर्म, बैंक को आईपीओ में शेयर खरीदने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली अमाउंट को ब्लॉक करने का निर्देश देता है, जब तक कि शेयर किसी व्यक्ति के डीमैट खाते में जमा न हो जाएं।

3.एनएसई आस्बा सिस्टम पर बिड अपलोड करने से पहले, फॉर्म का विवरण एससीएसबी द्वारा वेरिफाई किया जाता है।

ऑफलाइन प्रक्रिया 

आईआरएफसी आईपीओ के लिए ऑफलाइन आवेदन करने के लिए ट्रेडर्स को अपने एससीएसबी पर जाकर आस्बा फॉर्म भरना होगा।


आईआरएफसी की जानकारी

आईआरएफसी कॉर्पोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड एक पब्लिक सेक्टर का अन्डरटेकिंग है जो ब्रॉडबैंड और भारतीय ग्राहकों को वीपीएन सर्विसेज को सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार है।

आईआरएफसी के चेयरमैन और प्रबंधन निदेशक श्री अमिताभ बैनर्जी हैं और इस कंपनी भारत में सबसे बड़ी न्यूट्रल टेलीकॉम इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोवाइडर में से एक है।

अमिताभ बैनर्जी (चेयरमैन और प्रबंधन निदेशक)

इस कंपनी को वर्ष 2000 में स्थापित किया गया था। इसका मुख्य उद्देश्य टेलीकॉम सेक्टर और सर्विसेज को अधिक बेहतर बनाना था। इस टेलीकॉम कंपनी को भारत के “मिनीरत्न” के रूप में बाँटा गया है।

इस कंपनी को देश में “Google स्टेशन” वाई-फाई और वाईमैक्स प्रोजेक्ट को लागू करने की जिम्मेदारी दी गई है। इसके साथ ही इस कंपनी ने पूरे भारत में 5,848 रेलवे स्टेशनों के साथ रेलवे ट्रैक पर ऑप्टिकल फाइबर केबल लगाई है।

सेबी के साथ दायर डीआरएचपी (DRHP) में कंपनी ने अपने शेयरों को सूचीबद्ध करने के लिए निम्नलिखित कारण बताए हैं-

  • हमारे बिज़नेस में ग्रोथ से बढ़ने वाली कैपिटल आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए उनकी इक्विटी पूंजी आधार बढ़ाएं।
  • सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्य 
  • स्टॉक एक्सचेंज में कंपनी के इक्विटी शेयर को सूचीबद्ध करने से प्राप्त लाभ। 
  • कंपनी की विज़िबिलिटी और ब्रांड नाम बढ़ाने के लिए। 
  • इक्विटी शेयरों के लिए एक पब्लिक मार्केट प्रदान करें। 

निष्कर्ष 

यदि आप आईपीओ में निवेश करना चाहते हैं तो आईपीओ, निवेशकों के लिए शेयर मार्केट में आने का सबसे अच्छा मौका है। इस साल कई आईपीओ आने वाले हैं जो कतार में हैं। लेकिन, आईआरएफसी आईपीओ सबसे महत्वपूर्ण आईपीओ में से एक है।

सूचीबद्ध शेयर को खरीदने के लिए निवेशकों को बहुत अधिक पैसे का भुगतान करना होगा क्योंकि सेकेंडरी मार्केट में शामिल मध्यस्थ हैं। हालांकि, ट्रेडर्स आईपीओ के माध्यम से सीधे कंपनी से शेयर खरीदकर बहुत पैसा बचाते हैं।

आईआरएफसी, पब्लिक के लिए 140.7 करोड़ इक्विटी शेयर जारी करना चाहता है जो निवेशकों के लिए शेयर खरीदने के लिए बहुत फायदेमंद है 

अगर निवेशक सुरक्षा को लेकर परेशान है, तो आईआरएफसी आईपीओ पूरी तरह से  सुरक्षित है। चूंकि यह कंपनी एक सरकारी संस्था है, इसलिए निवेशक आँख बंद करके इस पर भरोसा कर सकते हैं।

यदि आप जानना चाहते हैं कि आईआरएफसी आईपीओ के लिए आवेदन कैसे करें? तो, निवेशक एएसबीए प्रक्रिया द्वारा आईपीओ में भाग ले सकते हैं। हालांकि, एससीएसबी के साथ निवेशकों को एक डीमैट खाते और एक सेविंग अकाउंट की आवश्यकता होगी।


2021 में आने वाले नए आईपीओ के लिए नीचे दिए गए टेबल पर जाएं।


आईआरएफसी आईपीओ के बारे में अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न 

प्रश्न: आईआरएफसी आईपीओ क्या है ?

उत्तर: IRFC IPO ,₹4633.38 करोड़ तक के कुल ₹10 फेस वैल्यू के 1,782,069,000 इक्विटी शेयरों का एक मुख्य-बोर्ड आईपीओ है। इस इश्यू की कीमत ₹25 से ₹26 प्रति इक्विटी शेयर है। इसकी न्यूनतम ऑर्डर मात्रा 575 शेयर है।

आईआरएफसी आईपीओ 18 जनवरी, 2021 को खुलेगा और 20 जनवरी 2021 को बंद होगा। 

KFintech Private Limited, इस IPO के रजिस्ट्रार है। इनके शेयर को बीएसई, एनएसई पर सूचीबद्ध करने का प्रस्ताव है।


प्रश्न: आईआरएफसी आईपीओ की तारीख क्या है ? 

उत्तर: आईआरएफसी आईपीओ 18 जनवरी, 2021 को खुलेगा और 20 जनवरी 2021 को बंद होगा।


प्रश्न: आईआरएफसी आईपीओ का लॉट साइज़ क्या है ?

उत्तर: आईआरएफसी आईपीओ का लॉट साइज 575 शेयर और न्यूनतम ऑर्डर मात्रा 575 शेयर है।


प्रश्न: आईआरएफसी आईपीओ के लिए आवेदन कैसे करें?

उत्तर: आप भुगतान विधि के रूप में यूपीआई या आस्बा का उपयोग करके ऑनलाइन आईआरएफसी आईपीओ में आवेदन कर सकते हैं। आस्बा एप्लीकेशन आपके बैंक खाते के नेट बैंकिंग में उपलब्ध है। यूपीआई  एप्लिकेशन उन ब्रोकर्स द्वारा पेश किया जाता है जो बैंकिंग सेवाएं प्रदान नहीं करते हैं।

प्रश्न: आईआरएफसी आईपीओ के प्रोमोटर कौन हैं ?

उत्तर: आईएआरएफसी आईपीओ के प्रोमोटर, रेल मंत्रालय के माध्यम से कार्य करने वाले भारत के राष्ट्रपति हैं।

प्रश्न: आईआरएफसी आईपीओ की लिस्टिंग की तारीख कब है?

उत्तर: आईआरएफसी आईपीओ लिस्टिंग की तारीख अभी घोषित नहीं की गई है। आईआरएफसी आईपीओ लिस्टिंग की अस्थाई तारीख 29 जनवरी, 2021 है।


यदि आप आईपीओ के माध्यम से निवेश करना चाहते हैं, तो आपको निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा:

आप नीचे प्रदर्शित फार्म में भरकर भी शुरुआत कर सकते हैं और आपको शीघ्र ही एक कॉलबैक प्राप्त होगी।


आईपीओ के बारे में अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए टेबल पर जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × two =