एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ

अन्य IPO का विश्लेषण

एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ (Angel Broking IPO Hindi) जल्द ही बाजार में दस्तक देने वाला है।

अगर आप भी इस आईपीओ के इंतज़ार में है तो यहाँ आपको एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारियां साझा की गयी है जो आपको सही निर्णय लेने में सहायक होगी।

एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ से पहले एंजेल ब्रोकिंग की बात करते हैं।

एंजेल ब्रोकिंग भारत के प्रमुख ब्रोकिंग हाउस (Broking House) में से एक है और वर्ष 1996 से ग्राहकों को अपनी सेवाएं पेश कर रहा है। यह फर्म एक रिटेल स्टॉक एक्सचेंजिंग मॉडल (Retail Stock Exchanging Model) के लिए प्रतिबद्ध रहा है।

आपको बता दे की एंजेल ब्रोकिंग बीएसई, एनएसई, एमएसईआई, एमसीएक्स और एनसीडीईएक्स का सदस्य है।

इस तरह, यह फर्म आपको इक्विटी, कमोडिटी, पीएमएस, म्यूचुअल फंड, आईपीओ, डिपॉजिटरी सर्विसेज जैसे कई उत्पादों में ट्रेडिंग के अवसर प्रदान करता है।

एक प्रमुख ब्रोकरेज फर्म होने के नाते, यह आधुनिक और वैल्युएबल एक्सचेंजिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करता है।

इसके साथ ही अपने ग्राहकों को ARQ द्वारा संचालित एंजेल ब्रोकिंग और एंजेल बी जैसे ब्रांड के माध्यम से विशेषज्ञ सलाहकार सेवाएं (Expert Advisory Services) भी प्रदान करता है।

इस प्रकार, अगर आप एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ (Angel Broking IPO Hindi) में निवेश करना चाहते है तो उपरोक्त बिंदुओं को जरूर ध्यान में रखे।

ये भी पढ़े: एलआईसी आईपीओ

Angel Broking IPO


एंजेल ब्रोकिंग एक्टिव कस्टमर (Active Customer) की संख्या के मामले में खुदरा ब्रोकिंग हाउस (Retail Broking House) की चौथी रैंक पर है। अगर बाजार हिस्सेदारी की बात करे तो यह जून 2020 तक एनएसई पर  6.3% का मार्केट शेयर है और 2.15 मिलियन ऑपरेशनल ब्रोकिंग अकाउंट्स है।


यह फर्म 30 जून, 2020 तक लगभग 79.55 मिलियन लोगों को अपने साथ जोड़कर नए ग्राहकों को निरंतर आकर्षित करने में प्रतिबद्ध है। इसका दैनिक कारोबार औसतन ₹253,176 मिलियन से बढ़कर ₹618,945 मिलियन पहुँच गया है।


Angel Broking IPO Review Hindi (एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ की समीक्षा)

अब एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ पर आते है, तो यहां आपको इसके प्रोडक्ट और सर्विसेज की जानकारी दी गयी है।

एंजेल ब्रोकिंग अपने ग्राहकों को कुछ आवश्यक उत्पाद और सेवाएं प्रदान करता है।

  • ब्रोकिंग और सलाहकार (Broking and Advisory)
  • मार्जिन ट्रेडिंग सुविधा (Margin Trading)
  • निवेशक शिक्षा (Investor Education)
  • शेयरों के खिलाफ ऋण (Loan Against Shares)

यह वित्तीय सेवा कंपनी स्टॉकब्रकिंग, स्टॉक मार्केट एडवाइजिंग, मार्जिन फंडिंग, शेयरों के खिलाफ ऋण और वित्तीय उत्पादों के वितरण जैसी कई सेवाएँ प्रदान करती है।

ब्रोकिंग और एडवाइजरी: एंजेल ब्रोकिंग दायित्व वस्तुओं (Obligation Items) के साथ वैल्यू कैश डिलीवरी, इंट्राडे, फ्यूचर, ऑप्शन, फॉरेक्स और कमोडिटी सेगमेंट में ब्रोकिंग सेवाएं प्रदान करता है।

एंजेल ब्रोकिंग द्वारा प्रस्तावित ब्रोकिंग और सलाहकार की भूमिका के रूप में, वे अपने ग्राहकों को डीमैट खाते खोलने की सुविधा भी देते हैं।

Angel Broking IPO

मार्जिन ट्रेडिंग सुविधा: एंजेल ब्रोकिंग अपने ग्राहकों के ट्रेडिंग अकाउंट से अन्य ग्राहकों को मार्जिन ट्रेडिंग की सुविधा मुहैया करवाता है।

शेयरों के खिलाफ ऋण: एंजेल ब्रोकिंग की सब्सिडियरी फर्म AFPL, जिसे एनबीएफसी (NBFC) के रूप में नामांकित किया गया है, जिसके माध्यम से यह अपने खुदरा ग्राहक को शेयरों के खिलाफ ऋण देता है।

निवेशक को शिक्षित करना: यह फर्म अपने ग्राहकों को शिक्षित करने का दायित्व भी पूरी करती है। अपने फाइनेंशियल एक्सपर्ट के जरिये, यह एक्सचेंज और इन्वेस्टमेंट आइटम्स के बारे में ग्राहकों को जागरूक करता है।

इसके अलावा, वे अपने प्रोडक्ट रिसर्च और मार्केट ट्रेंडिंग के संबंध में अपने ग्राहक की जानकारी को बेहतर बनाने के लिए नियमित रूप से डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से सेमिनार आयोजित करते हैं।

आप इस ब्रोकर के साथ किसी भी तरह के ब्रोकरेज की गणना करने के लिए एंजेल ब्रोकरेज कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं।

अब आपको इस ब्रोकर का आईडिया जरूर हो गया होगा, तो अब वापस इसके मूल विषय पर आते हैं।

आपको बता दे की जब एक फर्म अपने कॉमन स्टॉक को पहली बार जनता के लिए सार्वजनिक करती है तो उसे आईपीओ (सार्वजनिक प्रस्ताव) के रूप में जानते है।

आईपीओ का मुख्य उद्देश्य कंपनी के लिए अतिरिक्त पूँजी जुटाना है।

यहां हम एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ विवरण पर चर्चा करेंगे:

आईपीओ की बेसिक जानकारी  

आईपीओ  एंजेल ब्रोकिंग 
आईपीओ साइज  ₹600 करोड़ 
इशू टाइप  बुक बिल्ट ऑफर 
आईपीओ खुलने की तिथि सितम्बर 22, 2020 
फेस वैल्यू  ₹10 प्रति इक्विटी शेयर 
आईपीओ प्राइस बैंड  ₹305-₹306
बिड लॉट  ₹10 प्रति इक्विटी शेयर 
बिडिंग अमाउंट  ₹14,945
एक्सचेंज  बीएसई, एनएसई

 

एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ कुछ ही दिनों में बाजार में दस्तक देगा, इसका मुख्य उद्देश्य बिज़नेस के लिए अतिरिक्त पूँजी जुटाना है।

Angel Broking IPO in Hindi का विस्तृत विश्लेषण आपको कंपनी की वित्तीय हालत (Financial Situation), आईपीओ डाटा इत्यादि सभी जानकारी साझा करेगी, जिसकी मदद से आप सही फैसला ले सकते है।


एंजेल ब्रोकिंग की प्रबंधन सूचना 

वर्तमान समय में, कंपनी के बोर्ड में 6 निदेशक हैं। जो निम्नलिखित हैं:

  • दिनेश डी ठक्कर (अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक)
  • विनय अग्रवाल (निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी) 
  • उदय शंकर रॉय (इंडिपेंडेंट डायरेक्टर)
  • कमलजी सहाय (इंडिपेंडेंट डायरेक्टर)
  • अनिशा मोटवानी (इंडिपेंडेंट डायरेक्टर) 
  • केतन शाह (एंजेल ब्रोकिंग लिमिटेड के नॉन-एग्जीक्यूटिव निदेशक)

दिनेश डी ठक्कर, चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर 

इन्होने महाराष्ट्र राज्य माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से उच्च माध्यमिक प्रमाणपत्र परीक्षा पास की।

वह प्रमोटरों में से एक है और उन्हें  ब्रोकिंग इंडस्ट्री में 18 से अधिक वर्षों का ब्रोकिंग का अनुभव है।


एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ डेटा 

इस सेगमेंट में, आपको एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ से सम्बंधित सभी आकड़े बतायंगे। यहां आईपीओ खुलने की तिथि और बंद होने  की तिथि को जानना बहुत महत्वपूर्ण है।

एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ 22 सितम्बर को खुलेगा और 24 सितम्बर तक सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं। 

एंजेल ब्रोकिंग का फेस वैल्यू ₹10 प्रति इक्विटी शेयर्स होगा। प्रत्येक ऑफर के लिए प्राइस बैंड ₹305– ₹306 रुपये तक फिक्स्ड किया गया है। जबकि ऐसे शेयर जो लिस्टेड नहीं है, उनका ग्रे मार्केट प्रीमियम ₹55-₹75 के बराबर होगा। 

इस कंपनी द्वारा ₹300 करोड़ इक्विटी शेयरों का इश्यू साइज (Issue Size) ऑफर फॉर सेल (Offer For Sale) ₹300.00 करोड़ रूपये का होगा, जो कुल मिलाकर इस आईपीओ की टोटल वैल्यू ₹600 करोड़ के पास पहुंच जाती है।

आईपीओ में 49 शेयर्स का एक “फ्रेश इश्यु” शामिल होंगे, जो कुल मिलकर 300 करोड़ तक होगा। इसके अलावा, इसमें OFS (Offer For Sale) शामिल है जिसके माध्यम से संगठन के विज्ञापनकर्ता अपने वर्तमान शेयरों को ऑफलोड (Offload) करेंगे। 

इस OFS कोर्स के अंतर्गत, इस आईपीओ में लगभग 49 इक्विटी शेयर बेचे जाएंगे। यह कुल मिलाकर लगभग 300 के आसपास के मूल्य का होगा।   

इस ऑफर में बिक्री के लिए अशोक डी.ठक्कर द्वारा 208.35 करोड़ तक के कुल (अघोषित) लाख शेयर, और सुनीता ए.मगनानी द्वारा 31.25 करोड़ तक के कुल (अघोषित) लाख शेयर शामिल होंगे। 

IFC के द्वारा 1,200.02 करोड़ तक और (अघोषित) लाख शेयरों को अलग-अलग शेयरधारकों द्वारा 1560.38 करोड़ शामिल किया है।

प्राइस  बैंड की सीमा ₹(अघोषित) से लेकर ₹(अघोषित) तक प्रति शेयर पर निर्धारित की गई है। IPO का साइज ₹(अघोषित) तक होने की उम्मीद है।

मार्केट साइज (अघोषित) इक्विटी शेयरों का है और इन शेयरों को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में सूचीबद्ध किया जाएगा।

11 जुलाई, 2018 और 14 अगस्त, 2018 को पास किये गए एक ऑफर के लिए इस ऑफर को निदेशक मंडल द्वारा अधिकृत किया गया है और 17 जुलाई, 2018 को पारित शेयरधारकों के एक विशेष संकल्प के अनुसार इन इक्विटी शेयरों के “फ्रेश इश्यु” को उनके द्वारा स्वीकार किया गया है।

एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ डेटा  

आईपीओ खुलने की तिथि  22 सितम्बर, 2020 
आईपीओ साइज  24 सितम्बर, 2020  
इश्यु टाइप  बुक बिल्ट इश्यु आईपीओ  
इश्यु साइज  ₹600 करोड़ 
फ्रेश इश्यु  49 इक्विटी शेयर प्रति ₹10 रूपये  
ऑफर फॉर सेल (OFS) ऑफर फॉर सेल (कुल मिलाकर ₹300 करोड़ तक)
फेस वैल्यू  ₹10 प्रति इक्विटी शेयर 
आईपीओ प्राइस  ₹305 – ₹306 प्रति इक्विटी शेयर  
न्यूनतम ऑर्डर संख्या (Min Order Quantity) 49 इक्विटी शेयर्स 
लिस्टिंग   बीएसई, एनएसई 

एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ मार्केट लॉट

फाइनेंशियल एक्सचेंज में, आपके द्वारा एक एक्सचेंज में खरीदे गए शेयरों की संख्या को लॉट साइज के रूप में जानते है। ऑप्शन एक्सचेंजिंग में, लॉट साइज एक सबऑर्डिनेट सिक्योरिटी में शामिल कुल एग्रीमेंट की संख्या को बताता हैं।

यहाँ एक निवेशक को मार्केट लॉट साइज़ और मार्केट ऑर्डर क्वांटिटी के बारे में ध्यान रखना चाहिए।

एंजेल ब्रोकिंग मार्केट लॉट 
लॉट साइज न्यूनतम- 1 लॉट और अधिकतम –  13 लॉट 
शेयर्स न्यूनतम- 49 और अधिकतम- 637  
न्यूनतम राशि  ₹14,994  
अधिकतम राशि ₹194,992 

एंजेल ब्रोकिंग का वित्तीय प्रदर्शन 

अगर आप एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ में निवेश करने के लिए गंभीर है तो आपको एंजेल ब्रोकिंग के पिछले वित्तीय प्रदर्शन को भी आकलन करना होगा।

कंपनी की रेवेन्यू 2017-2018 वित्तीय वर्ष में लगभग 42.02 प्रतिशत की वृद्धि देखी गयी। यह ग्रोथ कंपनी की रेवेन्यू ₹5523.17 से ₹7843.89 करोड़ तक पहुँच जाती है। यह सभी रेवेन्यू ब्रोकरेज, क्लाइंट फंडिंग से इनकम, डिपॉजिटरी सेवाओं के द्वारा प्राप्त हुई है।

हालाँकि, वित्त वर्ष 2017 में ₹310.14 करोड़ से वित्तीय वर्ष 2018 में ₹1079.28 करोड़ के बाद प्रॉफिट ऑफ्टर टैक्स (Profit After Tax) में बड़ी वृद्धि हुई है।

यह देखना अभी बाकी है कि क्या कंपनी इतने अधिक हाई ग्रोथ रेट्स को बनाए रखने में सक्षम है। इसी तरह, ईपीएस ने भी 2017 से 2018 तक ₹2.88 से ₹14.18 तक काफी वृद्धि की है। 

कंपनी की हाल की सयुंक्त वित्तीय जानकारी के अनुसार, 31 मार्च, 2016, 2017 और 2018 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष के लिए कंपनी के नेट वर्थ पर रिटर्न क्रमशः 8.59%, 7.96% और 22.72% था।


एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ का उद्देश्य 

सेल करने वाले शेयरधारकों को (अघोषित) लाख तक के इक्विटी शेयरों की सेल से प्राप्त होने वाली इनकम दी जाएगी। ऑफर फॉर सेल में कोई भी प्रक्रिया कंपनी द्वारा संचालित नहीं की जाएगी।

एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ का मुख्य उद्देश्य कंपनी की वर्किंग कैपिटल की आवश्यकताओं के वित्तपोषण और सामान्य कॉर्पोरेट संचालन से संबंधित खर्चों को पूरा करने के लिए है।

उपर्युक्त उद्देश्यों के अलावा, एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ के माध्यम से बढ़ी हुई कॉर्पोरेट छवि, ब्रांड नाम और विज़िबिलिटी में वृद्धि के मामले में भी कंपनी को लाभ मिलेगा।


एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ के इवेंट्स 

एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ ने बुक बिल्डिंग आईपीओ के लिए 3 सितंबर, 2018 को भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) के साथ ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) दर्ज किया है।

यह ऑफर (अघोषित) तारीख पर खुलेगा और (अघोषित) तारीख पर बंद होगा। आवंटन के आधार का अंतिम रूपकरण (अघोषित) पर  होने की संभावना है और रिफंड की शुरुआत (अघोषित) तारीख  से शुरू होने की उम्मीद है।

डीमैट खातों में शेयरों का हस्तांतरण शुरू होने की उम्मीद है (अघोषित) और एक्सपेक्टेड लिस्टिंग की तारीख (अघोषित) होगी। 


एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ से सम्बंधित सुझाव

एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ में निवेश करना है या नहीं, यह तय करने से पहले इसके बिज़नेस से जुड़ी कुछ प्रमुख खूबियों और कमियों के बारे में चर्चा करते है।

एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ को सब्सक्राइब क्यों करे?

एंजेल ब्रोकिंग पिछले 20 वर्षों से अधिक से भी ब्रोकिंग और सिक्योरिटीज एक्सचेंज में सक्रिय रूप से सेवाएं दे रहा है और अपनी ब्रांड वैल्यू को बढ़ाया है।

एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ की सब्सक्राइब करने के कुछ अन्य कारण हैं:

एंजेल ब्रोकिंग भारत का चौथा सबसे बड़ा रिटेल ब्रोकिंग हाउस है

एंजेल ब्रोकिंग की 6.3% की बाजार हिस्सेदारी है और एक अच्छा ग्राहक आधार है जो इसे चौथा सबसे बड़ा रिटेल ब्रोकिंग हाउस बनाता है।

अगर पिछले एक साल में ग्राहक आधार की तरफ नजर  दौड़ाये तो आपको यह जानकार हैरानी होगी की एक तरफ वित्तीय वर्ष 2020 में कंपनी ने कुल 46,676 ग्राहकों को अपने साथ जोड़ा है।

वही दूसरी तरफ वित्तीय वर्ष 2021 के पहले तिमाही में ही लगभग 115,565 ग्राहकों को आकर्षित करने में सफल रहा है।

ये आकड़े किसी भी नए निवेशक को आकर्षित कर सकते हैं। आप देख पाएंगे की कंपनी ने लगभग 147.59% प्रतिशत विकास किया है।


शानदार ब्रांड इक्विटी

स्टॉकब्रोकिंग इंडस्ट्री में लगभग 20 वर्षो से भी अधिक अनुभव के साथ, यह एक लोकप्रिय और विश्वसनीय ब्रांड के रूप में सामने निकल कर आया हैं।

अब तक की अपनी यात्रा में, ब्रोकर ने कई शानदार फीचर्स वाले वेब और ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म लॉन्च किये है जो ग्राहकों को बेहतर ट्रेडिंग अनुभव प्राप्त करने में मदद करता है।

यह रिटेल ब्रोकिंग उद्योग में एंजेल BEE, ARQ जैसे सबसे अच्छे ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करता है। एक तरफ, जहां Angel Bee म्यूचुअल फंड ऐप है, वहीं ARQ आपको व्यक्तिगत सिफारिशें प्रदान करता है जो आपके निवेश निर्णय लेने में आपकी सहायता करता है।

पिछले कुछ वर्षों में स्थिर विकास

पिछले कुछ वर्षों में, फर्म सभी मोर्चों पर अच्छा विकास कर रही है। ग्रॉस कस्टमर वेतन वृद्धि के रूप में, ऑर्गनिज़शन ने वित्त वर्ष 18 में लगभग 0.22 मिलियन, वित्त वर्ष 19 में 0.26 मिलियन, वित्त वर्ष 2015 में 0.56 मिलियन, वित्त वर्ष 2015 में 0.35 मिलियन से विश्वसनीय विकास देखा है।

वित्त वर्ष 18 से वित्त वर्ष 20 तक 59.54% के सीएजीआर के माध्यम से इसकी वृद्धि और प्रगति को पूरी तरह से दर्शाया गया है।

इसके अलावा, सक्रिय ग्राहक मार्च 2018 में 0.36 मिलियन से मार्च 2019 में 0.41 मिलियन और मार्च 2020 में 0.58 मिलियन और जून 2020 में 0.77 मिलियन तक बढ़ जाता है।

इसके अलावा, इसका विविध उत्पाद पोर्टफोलियो ग्राहकों की अधिकतम जरूरतों को पूरा करता है।

ब्रोकरेज के अलावा, फर्म निवेश सलाहकार, निवेशक शिक्षा, वित्त पोषण, ऋण जैसी अतिरिक्त सेवाएं प्रदान करता है जो ग्राहकों को उनकी वित्तीय जरूरतों को पूरा करने में मदद करते हैं।

बड़ी सफलता की दिशा में संभावित विकास
टेक्नोलॉजी के बढ़ते आगमन और मोबाइल फोन के प्रमुख उपयोग के साथ, बहुत से लोग वित्तीय विनिमय की ओर अग्रसर हैं।

दरअसल, 450 मिलियन से अधिक नए निवेशकों का आगमन टियर -2 और टियर -3 भारतीय शहरी क्षेत्रों से हुई है। यह संख्या संभवत: आने वाले वर्षों में और अधिक बढ़ जाएगी।


एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ से जुड़े जोखिम

आइये अब, एंजेल ब्रोकिंग के बिज़नेस से संबंधित विभिन्न जोखिमों पर चर्चा करते हैं।

सबसे बड़े कारकों में से एक यह है कि देश में आर्थिक और राजनीतिक परिस्थितियों के कारण ज्यादा जोखिम का प्रदर्शन है।

वैश्विक आर्थिक स्थितियों और राजनीतिक विवरण के परिणामस्वरूप नकारात्मक निवेशक भावना हो सकती है जो पहले भी हुई हो, इसका परिणाम बिज़नेस में लाभदायक हो सकता है।

यह बिज़नेस कई विनियामक और वैधानिक आवश्यकताओं के अधीन जैसे कि सेबी, IRDAI, RBI, स्टॉक एक्सचेंज आदि द्वारा लगाए गए हैं।

उनकी सूचना टेक्नोलॉजी प्रणाली में कोई विफलता या रुकावट बिज़नेस को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है।

उनकी ब्रोकिंग संबंधित सेवाओं का कंपनी के रेवेन्यू में एक महत्वपूर्ण योगदान है। उनके ब्रोकरेज शुल्क में किसी भी तरह की कमी से कंपनी के बिज़नेस और वित्तीय स्थिति पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।

कंपनी, उसके सहायक, प्रमोटर, निदेशक आदि कुछ कानूनी प्रक्रियाओं में शामिल हैं और उनमें से कोई भी विपरीत निर्णय कंपनी के सारे लाभ के लिए जोखिम उत्पन्न कर सकता है।

बिज़नेस भी मनुष्यों और सिस्टम की कमियों , कम टेक्नोलॉजी इंफ्रास्ट्रक्चर, देरी जैसे परिचालन जोखिमों के अधीन है।

डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट कागज़ों  को समय पर ट्रांसफर, गिरवी या अनप्लैज करने में विफलता प्राप्त होती है। 

इसके अलावा, कंपनी को अपने साथियों से गंभीर प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ता है जिसके परिणामस्वरूप बिज़नेस की वृद्धि में बाधा उत्पन्न हो जाती है। 

इस बिज़नेस में कई सूचीबद्ध प्रतिस्पर्धी जैसे आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, कोटक सिक्योरिटीज, मोतीलाल ओसवाल, इंडिया इंफोलाइन, एचडीएफसी सिक्योरिटीज, एडलवाइस ब्रोकिंग आदि हैं।

बिज़नेस को चलाने में मनी लॉन्ड्रिंग या अवैध गतिविधियों का पता लगाने में विफल होने पर कंपनी के लिए जोखिम हो सकता है। 


निष्कर्ष

दोनों पक्षों के विश्लेषण के बाद, यह कहा जा सकता है कि निवेशक बेहतर लाभ के लिए लम्बे समय के लिए एंजेल ब्रोकिंग आईपीओ की सदस्यता ले सकता है।

यदि आप सामान्य रूप से इस आईपीओ या स्टॉक मार्केट निवेश के लिए आवेदन करना चाहते हैं, तो हम आगे बढ़ने में आपकी सहायता करते हैं:

यहां अपनी जानकारी दर्ज करें और आपके लिए एक कॉलबैक की व्यवस्था की जाएगी!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − ten =