शॉर्ट बॉक्स

बाकी ऑप्शन स्ट्रेटेजी भी पढ़ें

शॉर्ट बॉक्स, आर्बिट्राज ऑप्‍शन ट्रेडिंग रणनीतियों में से एक है। इसमें एक बुल कॉल स्प्रेड और बियर पुट स्प्रेड, दोनों को एक ही स्ट्राइक प्राइज पर एक ही बेचना शामिल है। ताकि दोनों स्प्रेड एक दूसरे को संतुलित करें और एक आर्बिट्राज बनाएं।

इस स्ट्रैटेजी में आर्बिट्राज की स्थिति स्ट्रैटेजी को लगभग नुकसान से मुक्त कर देती है और ऑप्‍शंंस में मूल्य विसंगतियों के कारण सीमित मुनाफा कमाने में मदद करती है।

Short Box

शॉर्ट बॉक्स, बॉक्स स्प्रेड के एकदम विपरीत है। बॉक्सस्प्रेड में, स्प्रेड्स खरीदे जाते हैं, जबकि शॉर्ट बॉक्स में स्प्रेड्स बेचे जाते हैं। इस ऑप्‍शन स्ट्रैटेजी का उपयोग करने के लिए सही स्थिति यह है कि सभी स्प्रेड्स उनकी संयुक्त मूल्य की तुलना में अधिक प्राइज वाले हो जाते है। 

शॉर्ट बाक्स स्ट्रैटेजी का निर्माण चार ऑप्‍शंंस को मिलाकर किया जाता है। 

इसे बनाने के लिए एक इनमनी कॉल को बेचना, एक आउटआफमनी कॉल को खरीदना, एक इनमनी पुट को बेचना और एक आउटआफमनी पुट को खरीदना शामिल है। सभी कॉल और पुट ऑप्‍शन एक ही स्ट्राइक प्राइस और एक ही एक्सपायरी के होने जरूरी होते हैं। इसमें चार पैरों या फोल लैग्स का उपयोग करने का फायदा यह है कि यहां एक ऑप्‍शनमें मूवमेंट दूसरे के मूवमेंट को संतुलित करता है, और शुध्द परिणाम नुकसान से बच जाते है। 

मुनाफा तब प्राप्त होता है जब एक ऑप्‍शनमें मूवमेंट दूसरे ऑप्‍शनकी तुलना में सही दिशा में अधिक होता है।

शॉर्ट बाक्स एक नेट क्रेडिट स्ट्रैटेजी है। जब स्ट्रैटेजी निर्धारित की जाती है तो प्रीमियम प्राप्त किया जाता है। इसके अलावा, बॉक्स स्प्रेड डायरेक्शन न्यूट्रल होता है।  मुनाफा उस दिशा पर निर्भर नहीं करता है जिसमें स्टॉक की कीमत लगातार चलती रहती है। 


शॉर्ट बॉक्स स्ट्रैटेजी टाइमिंग

शॉर्ट बॉक्स स्ट्रैटेजी का उपयोग करने के लिए सबसे उपयुक्त समय वह है जब एक्सपायरी के समय ऑप्‍शंंस को उनके मूल्य की तुलना में अधिक माना जाता है। सही स्थिति तब बनती हैऑप्‍शन के प्राइज जल्द ही कम हो जाते हैं।

हालांकि, बॉक्स स्प्रेड एक जटिल स्ट्रैटेजी है और इसका उपयोग सिर्फ तभी किया जाना चाहिए जब ट्रेडर निश्चित हो कि स्ट्रैटेजी से मिलने वाला मुनाफा कमीशन और ब्रोकरेज के भुगतान के लिए पर्याप्त होगा।

इस ऑप्‍शन स्ट्रैटेजी को बनाने के लिए, चार ऑप्‍शन पोजीशन को लिया जाता है। 

इसमें दो कॉल, एक इनमनी और एक आउटआफमनी शामिल हैं, और दो पुट, एकइनमनी और एक आउटआफमनी शामिल हैं। सही स्ट्राइक प्राइजों को चुनना महत्वपूर्ण है, क्योंकि मुनाफा अलगअलग स्ट्राइक कीमतों के साथ अलगअलग होता है।

इस प्रकार, पूरक या कॉम्प्लीमेंट्री ऑप्‍शंंस की उपस्थिति के कारण, यदि स्टॉक या अंडरलेइंग की चाल और स्प्रेड में से एक की कीमत निश्चित रूप से मुनाफा कमाने में सक्षम होगी, जिससे स्ट्रैटेजी नुकसान से मुक्त हो जाएगी। 

शॉर्ट बॉक्स का उपयोग तब किया जाता है जब ऑप्‍शनके प्राइज में मामूली मूल्य विसंगतियां होती हैं।

छोटी अवधी के लिए ली गई इन पोजीशन में पुटकॉल समानता परेशान करने वाली होती है, हालांकि अंतसंतुलन से मुनाफा आसानी से मिलता है। ट्रेडर को इस अवसर को जल्द से जल्द पहचानने और मूवमेंट को पकड़ने के साथ ही पोजीशन लेने की आवश्यकता होती है। 

शॉर्ट बाक्स एक सीमित मुनाफे की रणनीति है।

यदि बीच में ट्रेड आफ कर दिया जाता है, तो मुनाफे की मात्रा बहुत कम हो जाती है। बॉक्स की एक्सपायरी प्राइज उच्च स्ट्राइक प्राइज और कम स्ट्राइक प्राइज के बीच अंतर के बराबर है।

इस स्थिति में मिलने वाला शुध्द मुनाफा ऑप्‍शन से प्राप्त शुध्द प्रीमियम और बॉक्स की एक्सपायरी प्राइज के बीच के अंतर के बराबर है। 

नुकसान प्रोफाइल के संबंध में शॉर्ट बॉक्स एक नुकसानमुक्त स्ट्रैटेजी है।  यह एक आर्बिट्राज की स्ट्रैटेजी है, इसलिए एक दिशा में मूवमेंट दूसरी दिशा के मूवमेंट द्वारा संतुलित होता है। यह इस ऑप्‍शन स्ट्रैटेजी को एक डेल्टान्यूट्रल स्ट्रैटेजी बनाता है।


शॉर्ट बॉक्स के उदाहरण

आईए शॉर्ट बाक्स के उदाहरण को विस्तार इस स्टॉक पर समझने का प्रयास करे:

यह स्टॉक मई 2018 में 55 रु. पर कारोबार कर रहा है। एक शॉर्ट बॉक्स बनाने के लिए, हम पहले एक बुल कॉल स्प्रेड बेचेंगे।

यह जून की आईटीएम कॉल को 50 पर बेचकर और जून ओटीएम कॉल को 60 पर खरीदकर किया जाता है। 50 की कॉल को बेचकर 7 रु. की प्रीमियम और 60 की कॉल को खरीदकर 1.50 की प्रीमियम का भुगतान किया जाता है। 

इसी तरह, हम अब एक बुल पुट स्प्रेड को बेचने के लिए जून ओटीएम पुट को 60 पर बेचेगे और आईटीएम पुट को 50 पर खरीदेंगे। 60 के पुट को बेचने पर 7 रु. की प्रीमियम प्राप्त हुई और 50 के पुट को खरीदने के लिए 2 रु. की प्रीमियम का भुगतान किया गया। 

अब हम कैल्कुलेशन कर सकते है। 

बुल कॉल स्प्रेड को बेचने की लागत (7-1.5) = 5.5 है और बियर पुट स्प्रेड को बेचने की लागत (7-2) = 5 रु. है।

इसलिए, इस स्प्रेड्स की कुल लागत (5.5 + 5) = 10.5 रु. है।

बॉक्स की एक्सपायरी पर प्राइज स्ट्राइक की कीमतों में अंतर है। इसलिए, यह (60-50) = 10 रु. का है।

इस प्रकार, मुनाफा (10.5-10) = 0.50 रु. के बराबर है, और शुद्ध मुनाफे की कैल्कुलेशन ब्रोकरेज को घटाकर और टैक्स द्वारा की जाएगी।

आर्बिट्राज और नुकसान मुक्त तत्व की प्रक्रिया को समझने के लिए, आइए हम कुछ परिदृश्यों के माध्यम से समझते है:

1. परिदृश्य-1

यदि स्टॉक की कीमत 60, जून 50 पुट, जून 60 कॉल और जून 60 के पुट तक चलती या मूव करती है, तो यह एक्सपायर हो जाएगा और सिर्फ   जून 50 कॉल का प्रयोग किया जाएगा।

यह एक्सपायरी पर (60-50) = 10 रु. के रूप में बॉक्स का प्राइज बनाता है।

मुनाफा (10-5-10) = 0.5 रु. के समान रहता है।

2. परिदृश्य-2

यदि प्राइज नीचे की ओर 50, जून 50 पुट, जून 60 कॉल और जून 50 कॉल के लिए कम हो जाती है, तो एक्सपायर हो जाएगा और सिर्फ 60 के जून पुट का उपयोग किया जाएगा।

बॉक्स का प्राइज (60-50) = 10 का होगा और मुनाफा अभी भी (10.5-10) =0.5 रु. होगा।

3. परिदृश्य-3

 यदि स्टॉक के प्राइज अभी 55 पर रहती है, तो 50 जून पुट और 60 जून की एक्सपायर हो जाएगी।

दोनों 50 जून कॉल और 60 जून के पुट का प्रयोग किया जाएगा और बॉक्स का प्राइज (55-50) + (60-55) = 5 + 5 =10 रु. का होगा।

इसमें (10.5-10) = 0.5 का मुनाफा होगा।

इस प्रकार, हम यह देख सकते हैं कि जब प्राइज स्थिर रहता है या ऊपर या नीचे जाता है, तब भी शॉर्ट बॉक्स का प्राइज समान रहता है।

पूरी स्ट्रैटेजी का मुनाफा भी समान रहता है और यह किसी भी नुकसान  से मुक्त रहती है।


शॉर्ट बॉक्स के फायदें

इस ऑप्‍शनस्ट्रैटेजी के उपयोग की कुछ सकारात्मक बातें को समझए:

  • यह एक नेट क्रेडिट स्ट्रैटेजी है, इसलिए इसे प्रारंभिक पूंजी निवेश की आवश्यकता नहीं है।
  • शॉर्ट बॉक्स स्ट्रैटेजी का नुकसान प्रोफाइल लगभग हमेशा शून्य होता है। 

शार्ट बाक्स के नुकसान                

आपको अपने ट्रेडों में इस रणनीति का उपयोग करना है, तो इसके कुछ नुकसानों के बारे में पता होना चाहिए:

  • एक्सपायरी होने तक पोजीशन पर बने रहने की आवश्यकता है और इसे पहले खत्म नहीं किया जा सकता है।
  • स्ट्रैटेजी में मुनाफे की क्षमता बहुत कम है।
  • यह एक जटिल रणनीति है और इसका उपयोग सिर्फ अनुभवी ट्रेडर्स द्वारा ही किया जाना चाहिए।
  • ब्रोकरेज और कमीशन पूरी तरह से मुनाफे को नकार सकते हैं।

शॉर्ट बाक्स स्ट्रैटेजी संक्षेप में

एक बाटम लाइन के रूप में, शॉर्ट बॉक्स सिर्फ एक उपयुक्त रणनीति है जिसका उपयोग तब किया जाता है, जब ट्रेडर यह निश्चित कर सकता है कि कमीशन और ब्रोकरेज मुनाफे को खत्म नहीं करेंगे।

Short Box

स्ट्रैटेजी में कोई नुकसान नहीं है, फिर भी मुनाफा बहुत कम है।

यदि आप सामान्य रूप से ऑप्‍शनट्रेडिंग या शेयर बाजार निवेश के साथ शुरूआत करना चाहते हैं, तो बस नीचे दिए गए फॉर्म में कुछ बुनियादी विवरण भरें। यहां बुनियादी विवरण दर्ज करें और आपके लिए एक कॉलबैक की व्यवस्था की जाएगी:


   

Summary
Review Date
Reviewed Item
शॉर्ट बॉक्स
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − 13 =